Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीतिदिल्ली पुलिस के पास पहुँचा महाराष्ट्र का झगड़ा: नवनीत राणा ने लिखी चिट्ठी, कहा-...

दिल्ली पुलिस के पास पहुँचा महाराष्ट्र का झगड़ा: नवनीत राणा ने लिखी चिट्ठी, कहा- जाति के कारण टारगेट कर रहे संजय राउत

"संजय राउत उनको व्यक्तिगत तौर पर परेशान कर रहे हैं। क्योंकि मैं पिछड़े वर्ग से हूँ और चांभार जाति से आती हूँ, इसलिए वह ट्रॉर्चर कर रहे हैं।"

हनुमान चालीसा विवाद में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में चल रहीं अमरावती की सांसद नवनीत राणा ने बुधवार, (27 अप्रैल, 2022) दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने शिवसेना नेता संजय राउत के खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है। नवनीत राणा ने आरोप लगाया है कि बीते दिनों संजय राउत ने उनके खिलाफ जातिगत टिप्पणी करते हुए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया।

नवनीत राणा ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को कार्रवाई के लिए पत्र लिखे हैं, उसमें उन्होंने शिवसेना सांसद संजय राउत पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नवनीत राणा द्वारा लिखी गई चिट्ठी में लिखा है, “संजय राउत उनको व्यक्तिगत तौर पर परेशान कर रहे हैं। क्योंकि मैं पिछड़े वर्ग से हूँ और चांभार जाति से आती हूँ, इसलिए वह ट्रॉर्चर कर रहे हैं। वह रोजाना न्यूज चैनलों पर मेरे खिलाफ बोलकर मुझे परेशान कर रहे हैं। पिछले दिनों दिए इंटरव्यू में राउत ने मुझे और मेरे पति को बंटी और बबली कहा था। यह नाम लेकर वह मेरी जाति को बदनाम कर रहे हैं।”

उन्होंने आगे लिखा, “मैंने पहली बार 2014 में शिवसेना के एक उम्मीदवार के खिलाफ चुनाव लड़ा था। इसके बाद से शिवसेना मेरे खिलाफ कुछ ना कुछ कर रही है। वह मेरी जाति के बारे में कई तरह के आरोप लगाते हैं। मैं चंभार जाति से हूँ, इसलिए वो मुझे प्रताड़ित करते हैं। जब मैंने 2019 के लोकसभा चुनाव में भी मैंने शिवसेना उम्मीदवार को हरा दिया तो इसके बाद से ज्यादा परेशान करने लगे। मुझे और मेरे पति को वो 420 कहते हैं।”

बता दें कि सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा का पुलिस हिरासत में चाय पीने वाले विडियो (सीसीटीवी फुटेज) पर नया विवाद खड़ा हो गया। इस फुटेज को मुंबई पुलिस आयुक्त संजय पांडेय ने मंगलवार को ट्वीट किया था। इसमें राणा दंपती चाय पीते दिख रहे हैं, जबकि उनके सामने टेबल पर पानी की बोतलें रखी हैं। 12 सेकंड के इस विडियो को ट्वीट कर पांडेय ने लिखा था, “क्या हम कुछ और कहते हैं।”

वहीं इस विडियो को ट्वीट किए जाने के कुछ घंटों बाद मंगलवार (26 अप्रैल, 2022) को ही राणा दंपती ने अपने वकील रिजवान मर्चेंट के माध्यम से एक स्पष्टीकरण जारी किया और दावा किया कि शनिवार को उनकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस द्वारा उन्हें सांताक्रुज पुलिस स्टेशन के लॉकअप में रखा गया था, जहाँ उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया था। वह लॉकअप सांताक्रुज पुलिस स्टेशन में है, न कि खार पुलिस स्टेशन में, जबकि आयुक्त ने खार पुलिस स्टेशन का सीसीटीवी फुटेज जारी किया है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की घोषणा करने की वजह से नवनीत और रवि फिलहाल जेल में हैं। उनके खिलाफ कानून व्यवस्था बिगाड़ने और राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है और आज जेल में उनका चौथा दिन है। अभी उनको कोर्ट की तरफ से कोई राहत नहीं है। वही महाराष्ट्र की सत्ताधारी पार्टी के नेता उनपर कई तरह के गंभीर आरोप लगाकर उनकी मुश्किलें और बढ़ा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गिरफ्तारी से आजादी’ अपने घोषणापत्र में लिखने वाली कॉन्ग्रेस ने गिरफ्तार करवाया एक आम नागरिक को… ‘न्याय’ सिर्फ एक परिवार तक सीमित होगा?

भिकू म्हात्रे ने 'कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम शब्द के इस्तेमाल' की बात जोर देकर कही, जिसे खुद कॉन्ग्रेस समर्थक नकार रहे थे।

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -