Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिअब कॉन्ग्रेस का 'बूट' हुआ मजबूत, कॉन्ग्रेस समर्थकों में 10 मिनट तक चली ताबड़तोड़...

अब कॉन्ग्रेस का ‘बूट’ हुआ मजबूत, कॉन्ग्रेस समर्थकों में 10 मिनट तक चली ताबड़तोड़ सुताई और कुटाई

संजय पालीवाल के समर्थकों ने कहा, "हरीश रावत मुर्दाबाद बोलो, जिंदाबाद नहीं।" इतना सुनते ही राज्य के पूर्व CM हरीश रावत के समर्थक भड़क गए और दोनों पक्षों में नोक-झोंक होने लगी।

अभी भाजपा के सांसद और MLA के बीच हुई कुटाई को एक दिन भी नहीं हुआ था कि कॉन्ग्रेस ने भी आज ‘शक्ति प्रदर्शन’ कर डाला और भाजपा को कुटाई के मामले में पीछे छोड़ दिया। कल ही यूपी के संत कबीर नगर में बीजेपी सांसद और विधायक के बीच जूतम-पैजार के बाद उत्तराखंड में रुड़की से कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच दे-दनादन मार-कुटाई की खबर आई हैं। यहाँ कॉन्ग्रेसी आपस में भिड़ गए जिसमें उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत और संजय पालीवाल के समर्थक दस मिनट तक एक दूसरे पर ताबड़तोड़ दनादन लात, घूँसे और थप्पड़ बजाते रहे।

कॉन्ग्रेस लोकसभा चुनाव के टिकट के लिए उत्तराखंड के राज्य भर में कार्यकर्ताओं से राय ले रही है। हरिद्वार लोकसभा की जिम्मेदारी पूर्व सांसद महेंद्र पाल को सौंपी गई है जो रुड़की कार्यकर्ताओं की राय जानने के लिए पहुँचे थे। उन्होंने बन्द कमरे में 5 से 10 कार्यकर्ताओं को बुलाकर बात की। उन्होंने कुल 100 कार्यकर्ताओं से बात की।

रिपोर्ट्स के अनुसार, इसी बीच कमरे के बाहर कुछ कॉन्ग्रेसी कार्यकर्ता नारेबाज़ी करने लगे। कुछ कार्यकर्त्ता उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के पक्ष में थे तो कुछ पूर्व राज्य मंत्री संजय पालीवाल के नेतृत्व में नारेबाजी कर रहे थे। अचानक संजय पालीवाल के समर्थकों ने कहा, “हरीश रावत मुर्दाबाद बोलो, जिंदाबाद नहीं।” इतना सुनते ही राज्य के पूर्व CM हरीश रावत के समर्थक भड़क गए और दोनों पक्षों में नोक-झोंक होने लगी।

नोक-झोंक तुरंत मारपीट में बदल गई। अंदाजा लगा पाना मुश्किल है कि कल भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई मार-पिटाई ज्यादा खतरनाक थी, या फिर आज रूड़की में कॉन्ग्रेसी कार्यकर्ताओं के बीच की मारपीट।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच चली ये मारपीट इतनी गंभीर थी कि 10 मिनट तक दोनों पक्षों के लोग जमकर एक दूसरे पर घूँसे, लात और थप्पड़ बजाते रहे। बाद में कुछ वरिष्ठ पदाधिकारियों ने बीच बचाव किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

‘5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष’: PM मोदी ने हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन और 370 हटाने का किया जिक्र

हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन, आर्टिकल 370 हटाने का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने 5 अगस्त को बेहद खास बताया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,121FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe