Thursday, May 30, 2024
Homeराजनीतिअसम में 13 मंत्रियों संग हिमंत बिस्वा सरमा ने ली CM पद की शपथ,...

असम में 13 मंत्रियों संग हिमंत बिस्वा सरमा ने ली CM पद की शपथ, बंगाल में ममता ने बनाए 43 मंत्री

सरमा को रविवार को हुई एक बैठक में असम में पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया था।

हिमंत बिस्वा सरमा ने सोमवार (10 मई 2021) असम के नए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उन्होंने सर्बानंद सोनोवाल की जगह ली है। असम विधानसभा चुनावों में बीजेपी की जीत के शिल्पकार रहे सरमा को राज्यपाल जगदीश मुखी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। उनके साथ 13 मंत्रियों ने भी शपथ ली।

शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, असम के पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देव, मेघालय के सीएम कोनराड संगमा, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह और नगालैंड के सीएम निफिउ रियो भी मौजूद थे।

सरमा को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की अध्यक्षता में दिल्ली में रविवार को हुई एक महत्वपूर्ण बैठक में असम में पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया था। बीजेपी ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल करते हुए सत्ता में वापसी की थी और इस जीत में उनकी भूमिका काफी अहम रही थी।

सरमा को उत्तर-पूर्व राज्यों में बीजेपी की मजबूत होती स्थिति में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। उन्होंने 2015 में कॉन्गेस में नजरअंदाज किए जाने के बाद पार्टी छोड़ दी थी, जबकि उन्हें सीएम तरुण गोगोई का करीबी माना जाता था।

वहीं 5 मई को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के तौर पर लगातार तीसरी बार शपथ लेने वाली ममता बनर्जी सरकार के कैबिनेट के 43 मंत्रियों ने सोमवार (10 मई) को मंत्री पद की शपथ ली। हालांकि मंत्रियों के विभागों के बँटवारे की घोषणा अभी नहीं हुई और इसका ऐलान जल्द किया जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -