Monday, August 15, 2022
Homeराजनीतिकॉन्सटेबल को हड़काने के चक्कर में SP ने भूपेश बघेल का नाम लेकर 'बकी...

कॉन्सटेबल को हड़काने के चक्कर में SP ने भूपेश बघेल का नाम लेकर ‘बकी गाली’, ऑडियो वायरल के बाद हुआ ट्रांसफर

छत्तीसगढ़ के गृह विभाग ने जब शुक्रवार को 7 IPS अधिकारियों और 1 राज्य पुलिस सेवा के अधिकारी का ट्रांसफर किया, तो उस सूची में एक नाम इंदिरा कल्याण का भी था।

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले के एसपी इंदिरा कल्याण एलेसेला का ‘गाली वाला’ कथित ऑडियो वायरल होने के बाद अब उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। वायरल ऑडियो में उन्होंने कॉन्सटेबल को धमकी देते हुए कहा था कि चाहे वो (कॉन्सटेबल) भूपेश बघेल (प्रदेश मुख्यमंत्री) के पास चला जाए लेकिन उन्हें (एसपी) कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

इस ऑडियो के वायरल होने के बाद छत्तीसगढ़ के गृह विभाग ने जब शुक्रवार (3 दिसंबर 2021) को 7 IPS अधिकारियों और 1 राज्य पुलिस सेवा के अधिकारी का ट्रांसफर किया, तो उस सूची में एक नाम इंदिरा कल्याण का भी था। उन्हें 11वीं वाहिनी छसबल जांजगीर चांपा भेजा गया है।

ऑडियो में क्या बातचीत थी

कॉन्सटेबल ब्रम्हानंद देवांगन और एसपी इंदिरा कल्याण एलेसेला के बीच हुई बातचीत की वायरल ऑडियो में कॉन्सटेबल कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि साहब मकान खाली मत करवाइए। इसी को लेकर पत्नी से झगड़ा हो रहा है। वहीं एसपी कहते हैं, “पत्नी से विवाद हो रहा है तो छोड़ दो परिवार, तुम इतनी ऊँची आवाज में कैसे मुझसे बात कर सकते हो। तुम्हारी क्या औकात है… जाओ आईजी से बताओ, उसके बाप से बताओ या भूपेश बघेल से मुझे फर्क नहीं पड़ता।”

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, जब इस संबंध में कॉन्सटेबल से पूछा गया तो उन्होंने खुद को नियम कानून से बंधा हुआ बताया। साथ ही ये पुष्टि भी की, ऑडियो में सुनाई पड़ रही आवाज उन्हीं की है। वह बताते हैं कि पूरा मामला मकान आवंटन से जुड़ा है। उनकी ड्यूटी बार-बार एक जगह से दूसरी जगह लग रही थी। इसी कारण उनके घर में भारी विवाद था।

खबर के अनुसार, कान्सटेबल ब्रम्हानंद देवांगन को सरकारी क्वार्टर मिला हुआ था। बलौदाबाजार में उसी क्वार्टर में वह अपनी पत्नी के साथ रहते थे। लेकिन, जनवरी 2021 में उन्हें क्वार्टर खाली करने का नोटिस जारी हुआ हो गया। उन्होंने एसपी से माँग की कि उनसे वो क्वार्टर न खाली कराया जाए। लगातार अनुरोध करने के बाद एसपी एक दिन उन पर भड़क गए और जो बातचीत हुई अब वायरल है। पूरा मामला जुलाई 2021 का बताया जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

₹180 करोड़ की फिल्म, 4 दिन में बस ₹38 करोड़: लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होते ही सदमे में आमिर खान, डिस्ट्रीब्यूटर्स ने माँगा...

लाल सिंह चड्ढा की बॉक्स ऑफिस पर भद्द पिटने के बाद आमिर खान सदमे में चले गए हैं। वहीं डिस्ट्रीब्यूटर्स ने भी मेकर्स से मुआवजे की माँग शुरू कर दी है।

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe