Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिडाकुओं ने हमारा झंडा ले लिया.. J&K के अलावा नहीं उठाऊँगी कोई दूसरा झंडा-...

डाकुओं ने हमारा झंडा ले लिया.. J&K के अलावा नहीं उठाऊँगी कोई दूसरा झंडा- महबूबा मुफ्ती

प्रेस कॉन्फ्रेंस में महबूबा ने जम्मू-कश्मीर का पुराना राज्य ध्वज लगाया हुआ था। ये झंडा धारा 370 हटाए जाने से पहले राज्य इस्तेमाल कर रहा था।

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री व पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती एक बार फिर अपने विवादित बयान के कारण चर्चा में आ गई हैं। महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार (अक्टूबर 23, 2020) को श्रीनगर में अपने आवास पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जब तक उनका झंडा (जम्मू कश्मीर का पुराना झंडा) वापस नहीं मिल जाता, तब तक वह दूसरा झंडा (तिरंगा) नहीं उठाएँगी। मुफ्ती ने कहा कि उनका झंडा डाकुओं ने ले लिया है।

14 महीने तक हिरासत में रहने के बाद हाल ही में रिहा हुई महबूबा मुफ्ती ने कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “जब तक केंद्र सरकार हमारे हक (अनुच्छेद 370) को वापस नहीं करते हैं, तब तक मुझे कोई भी चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं है।” उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को बहाल करने तक उनका संघर्ष खत्म नहीं होगा। वह कश्मीर को पुराना दर्जा दिलवाने के लिए जमीन आसमान एक कर देंगी।

अनुच्छेद 370 निरस्त किए जाने पर अपनी टिप्पणी करते हुए मुफ्ती ने कहा कि जिस तरह पिछले साल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया गया है वह लोगों के साथ हुई डकैती से कम नहीं है। उन्होंने सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले को गैरकानूनी और असंवैधानिक भी बताया।

आगे पूरे भारत पर निशाना साधते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत सिर्फ़ जम्मू कश्मीर की जमीन चाहता है उसके लोगों को नहीं। इसलिए वह अनुच्छेद 370 के दोबारा बहाल होने तक कोई झंडा नहीं उठाएँगी। उन्होंने पत्रकारों के सामने कहा कि देश के झंडे से उनका संबंध इस झंडे (जम्मू कश्मीर के पुराने) की वजह से है। अब जब पुराना झंडा हाथ में आएगा तभी वह उस झंडे को भी उठाएँगे।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट बताती है कि प्रेस वार्ता में भी मुफ्ती ने अपनी टेबल पर पुराने झंडे के साथ पार्टी का झंडा रखा हुआ था। ऐसे में उन्होंने इसकी ओर इशारा करते हुए कहा, “जब तक हमारा झंडा हमारे पास वापस नहीं आ जाता है। कोई भी दूसरा झंडा (तिरंगा) नहीं उठाएगा, मेरा झंडा उठने के बाद ही दूसरा झंडा उठाएँगे। मेरा झंडा मेरे सामने है।”

गौरतलब है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में महबूबा ने जम्मू-कश्मीर का पुराना राज्य ध्वज लगाया हुआ था। ये झंडा धारा 370 हटाए जाने से पहले राज्य इस्तेमाल कर रहा था।

बिहार चुनावों में हो रही पीएम मोदी  की रैली पर मुफ्ती ने कहा कि वोट माँगने के लिए इनके (भाजपा) पास दिखाने को कुछ नहीं है। वे लोगों से कहते हैं कि आप जम्मू कश्मीर में जमीन खरीद सकते हैं,हमने आर्टिकल 370 को रद्द कर दिया है। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अब वे मुफ्त में वैक्सीन देंगे, पीएम मोदी ने वोट के लिए आर्टिकल 370 की बात की है। यह सरकार देश के मुद्दों को हल करने में विफल रही है।

महबूबा मुफ्ती ने चीना सीमा विवाद का मुद्दा उठाते हुए कहा, “यह एक तथ्य है कि चीन ने हमारी जमीन के 1000 वर्ग किमी हिस्से पर कब्जा कर लिया है। मुझे लगता है कि हम किसी तरह से 40 किमी वापस जाने में कामयाब रहे।”

जम्मू कश्मीर को लेकर महबूबा मुफ्ती ने कहा, “वे कहते हैं कि यह विवादित था तो उनसे पूछना चाहती हूँ कि फिर जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश क्यों बनाया गया?” उन्होंने कहा कि 370 हटने से पहले जम्मू कश्मीर इस तरह कभी भी अंतरराष्ट्रीय दृष्टिकोण में नहीं आया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe