Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीति'SC से प्रेम है तो अनुसूचित समुदाय में अपनी बेटी की शादी क्यों नहीं...

‘SC से प्रेम है तो अनुसूचित समुदाय में अपनी बेटी की शादी क्यों नहीं की’: पिनराई विजयन को कॉन्ग्रेस MP ने कहा झूठा

के. सुरेश ने कहा कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देकर विजयन ने बेहतरीन नेता होने का तमगा हासिल किया था। अगर विजयन एक सच्चे नेता होते, तो वह अपनी बेटी की शादी अनुसूचित जाति के व्यक्ति से कर देते।

केरल में कॉन्ग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कोडिकुन्निल सुरेश ने मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के खिलाफ विवादित टिप्पणी की है। कॉन्ग्रेस सांसद ने शनिवार (28 अगस्त) को कहा कि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का अनुसूचित जाति से कोई सरोकार नहीं है, उनके प्रति सीएम का प्रेम झूठा है। उन्होंने कहा कि अगर विजयन वास्तव में सबको साथ लेकर चलने वाले नेता हैं, तो उन्हें अपनी बेटी की शादी अनुसूचित जाति के किसी व्यक्ति से करनी चाहिए थी।

कोडिकुन्निल सुरेश ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जाति के एक मंत्री को नियंत्रित करने के लिए अपने वफादार सहयोगी को नियुक्त किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुता​बिक, सांसद ने ये विवादित टिप्पणी एससी/एसटी फंड घोटाले की सीबीआई जाँच की माँग को लेकर धरने के दौरान की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री पिछड़े समुदाय के साथ भेदभाव कर रहे हैं। उन्होंने अपनी आरोपों की पुष्टि के लिए कुछ मामलों का जिक्र भी किया।

कोडिकुन्निल सुरेश ने विजयन पर दलित समुदाय की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अनुसूचित जाति के लोगों को कैबिनेट और पीएससी नियुक्तियों से दूर रखा जा रहा है। उन्होंने देवास्वोम मंत्री के. राधाकृष्णन के निजी सचिव के रूप में ए संपत की नियुक्ति का भी उल्लेख किया। कॉन्ग्रेस नेता ने बताया कि जब एक दलित को देवास्वोम (मंदिर मामलों) का मंत्री बनाने का जश्न मनाया जा रहा था। उसी समय, विजयन ने उस दलित मंत्री पर लगाम लगाने के लिए अपने एक व्यक्ति को उसके ऊपर नियुक्त कर दिया था।

सुरेश ने आगे कहा कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देकर विजयन ने बेहतरीन नेता होने का तमगा हासिल किया था। अगर विजयन एक सच्चे नेता होते, तो वह अपनी बेटी की शादी अनुसूचित जाति के व्यक्ति से कर देते। माकपा के पास एससी समुदाय के कई अच्छे युवा हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe