Friday, July 12, 2024
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस पार्टी ने 'रावण' के बाद अब PM मोदी को बताया 'भस्मासुर', 'औकात' पर...

कॉन्ग्रेस पार्टी ने ‘रावण’ के बाद अब PM मोदी को बताया ‘भस्मासुर’, ‘औकात’ पर भी सवाल उठा चुकी है पार्टी

उग्रप्पा ने अपने एक बयान में कहा, "मैं पहले ही बता चुका हूँ कि मोदी आधुनिक भस्मासुर की तरह है। भाजपा सरकार बच्चों के भविष्य के साथ खेल रही है।"

कर्नाटक कॉन्ग्रेस नेता और पूर्व सांसद वीएस उग्रप्पा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक बयान दिया है। उन्होंने पीएम मोदी की तुलना राक्षस भस्मासुर से की है। शुक्रवार (2 दिसम्बर, 2022) को कन्नड़ भाषा में एक बयान के दौरान पूर्व सांसद उग्रप्पा ने PM मोदी पर बच्चों से भविष्य से भी खेलने का आरोप लगाया है। इस से पहले कॉन्ग्रेस के ही मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी को रावण कहा था, जिस पर प्रधानमंत्री ने पलटवार भी किया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उग्रप्पा ने अपने एक बयान में कहा, “मैं पहले ही बता चुका हूँ कि मोदी आधुनिक भस्मासुर की तरह है। भाजपा सरकार बच्चों के भविष्य के साथ खेल रही है।” इस दौरान उग्रप्पा आर्टिकल 21- A, शिक्षा के संवैधानिक अधिकार और बच्चों को मिलने वाली छात्रवृत्ति का जिक्र कर रहे थे।

पहले भी बोले गए अमर्यादित शब्द

प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ कॉन्ग्रेस की तरफ से ऐसी टिप्पणी पहली बार नहीं हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस से पहले कॉन्ग्रेस के नए अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी को रावण कहा था। एक भाषण के दौरान उन्होंने कहा था कि क्या पीएम मोदी के रावण की तरह 100 मुँह हैं। हालाँकि, नरेंद्र मोदी ने इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि कॉन्ग्रेस न ही राम पर विश्वास करती है और न ही रामभक्तों पर। उन्होंने गुजरात को रामभक्तों का प्रदेश बताया था।

इस से पहले सोनिया गाँधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मौत का सौदागर और मणिशंकर अय्यर उन्हें नीच शब्द से संबोधित कर चुके हैं। वीएस उग्रप्पा के भस्मासुर वाले बयान पर अभी तक भाजपा की तरफ से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है।

गौरतलब है कि सभी पार्टियों ने गुजरात विधानसभा चुनाव में अपनी जीत के लिए ताकत झोंक दी दी है। इस बार अरविंद केजरीवाल के उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। यहाँ पहले चरण में 89 सीटों पर एक दिसंबर को मतदान हो चुका है। दूसरे चरण में 93 सीटों पर 5 दिसंबर को वोट डाले जाएँगे। 182 सीटों पर हुए चुनाव के परिणाम 8 दिसंबर,2022 को घोषित किए जाएँगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -