Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजपत्रकारों का टेस्ट करोगे तो और फैलेगा कोरोना: कर्नाटक में कुमारस्वामी के MLC ने...

पत्रकारों का टेस्ट करोगे तो और फैलेगा कोरोना: कर्नाटक में कुमारस्वामी के MLC ने काटा बवाल

बता दें कि महाराष्ट्र में कई पत्रकारों के संक्रमित होने के बाद अन्य राज्य भी सतर्क हो गए हैं। इसी के तहत पत्रकारों की जॉंच की जा रही है। कर्नाटक सरकार ने सभी जिलों में कार्यरत पत्रकारों का कोरोना टेस्ट कराने का आदेश दिया था।

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की पार्टी जेडीएस के नेता के ख़िलाफ़ पत्रकारों की कोरोना स्क्रीनिंग में व्यवधान डालने का मामला दर्ज किया गया है। जेडीएस के एमएलसी केटी श्रीकांत गौड़ा, उनके बेटे और तीन अन्य नेताओं के ख़िलाफ़ शनिवार (अप्रैल 25, 2020) को मांड्या वेस्ट पुलिस स्टेशन में मामले दर्ज किया गया।

ये सभी पत्रकारों के कोविड-19 टेस्टिंग के दौरान आंबेडकर भवन में हंगामा कर रहे थे। उनका कहना था कि इससे कोरोना वायरस का संक्रमण और ज्यादा फैलेगा, इसलिए वे विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं।

वहाँ पत्रकारों की टेस्टिंग के दौरान ही जेडीएस नेता समर्थकों सहित पहुँच गए और वायरस के फैलने की बात करने लगे। उन्होंने पत्रकारों की टेस्टिंग का विरोध किया। इसके बाद पुलिस और जेडीएस नेताओं में झड़प हुई। इसके बाद पुलिस को एमएलसी गौड़ा को हिरासत में लेना पड़ा।

बता दें कि महाराष्ट्र में कई पत्रकारों के संक्रमित होने के बाद अन्य राज्य भी सतर्क हो गए हैं। इसी के तहत पत्रकारों की जॉंच की जा रही है।

देश भर में कई पत्रकार निकले कोरोना पॉजिटिव

कर्नाटक सरकार ने सभी जिलों में कार्यरत पत्रकारों का कोरोना टेस्ट कराने का आदेश दिया था। मांड्या में इस काम के लिए आंबेडकर भवन का प्रयोग किया जा रहा था। मुंबई में 53 पत्रकार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनमें कई फोटो जर्नलिस्ट भी हैं। अब तक वहाँ 167 पत्रकारों की टेस्टिंग हो चुकी है।

मुंबई की मेयर किशोरी पडनेकर ने ख़ुद को क्वारंटाइन कर लिया है, क्योंकि वो इनमें से कई पत्रकारों के संपर्क में आई थीं। राजस्थान, उत्तर प्रदेश और असम ने भी पत्रकारों की टेस्टिंग का निर्णय लिया है।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने भी कहा है कि कन्टेनमेंट जोन से रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार सभी प्रकार के सावधानी व बचाव के उपाय करें। केंद्र सरकार ने मीडिया संस्थानों को भी ऑफिस व फील्ड कर्मचारियों का ध्यान रखने को कहा है।

कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 489 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 126 मामले अकेले बेंगलुरु और 88 मैसूर के हैं। 153 लोग ठीक भी हो चुके हैं। राज्य में 18 लोगों की अब तक कोरोना के कारण जान गई है।

ज्ञात हो कि कर्नाटक के पदरायणपुरा इलाके में स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वाले आरोपितों में से 5 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। ये 5 उन 126 लोगों की सूची में से थे, जिन्हें स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। इनके साथ पकड़े गए अन्य 119 को जेल में रखा गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

आज पाकिस्तान के लिए बैटिंग, कभी क्रिकेट कैंप में मौलवी से नमाज: वसीम जाफर पर ‘हनुमान की जय’ हटाने का भी आरोप

पाकिस्तान के साथ सहानुभूति रखने के कारण नेटिजन्स के निशाने पर आए वसीम जाफर पर मुस्लिम क्रिकेटरों को तरजीह देने के भी आरोप लग चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,586FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe