Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिअरविंद केजरीवाल फिर नहीं होंगे ED के सामने पेश, पूछताछ से पहले 'विपश्यना' के...

अरविंद केजरीवाल फिर नहीं होंगे ED के सामने पेश, पूछताछ से पहले ‘विपश्यना’ के लिए हुए रवाना: AAP सांसद बोले- प्रोग्राम पहले था

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री हर साल विपश्यना के लिए जाते हैं। इस बारे में कार्यक्रम पहले से तय था। आम आदमी पार्टी ने ईडी के समन के समय पर सवाल उठाते हुए कहा कि पार्टी के वकील नोटिस को समझ रहे हैं और कानूनी रूप से सही कदम उठाए जाएँगे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली की आबकारी नीति में कथित घोटाले के संबंध में पूछताछ के लिए बुलाया था, उन्हें 21 दिसंबर को ईडी कार्यालय पहुँचना था, लेकिन वो अब ईडी के साथ पूछताछ में शामिल नहीं होंगे। जानकारी सामने आ रही है कि वो विपश्यना करने के लिए पंजाब के होशियारपुर चले गए हैं। अगले 10 दिन वो वहीं रहेंगे। हर साल वो 10 दिनों के लिए विपश्यना करने जाते हैं। पहले अरविंद केजरीवाल मंगलवार (19 दिसंबर 2023) को ही विपश्यना के लिए जाने वाले थे, लेकिन INDI गठबंधन की बैठक की वजह से वो एक दिन बाद बुधवार (20 दिसंबर 2023) को रवाना हुए।

जानकारी के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ने अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए यह दूसरी बार समन भेजा था। इससे पहले केजरीवाल को ईडी ने 2 नवंबर को दिल्ली के शराब घोटाले के मामले में तलब किया था, लेकिन वह नोटिस को अवैध और राजनीति से प्रेरित बताते हुए पूछताछ में शामिल नहीं हुए थे। इस बार भी वो ईडी के सामने पेश नहीं होंगे।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री हर साल विपश्यना के लिए जाते हैं। इस बारे में कार्यक्रम पहले से तय था। आम आदमी पार्टी ने ईडी के समन के समय पर सवाल उठाते हुए कहा कि पार्टी के वकील नोटिस को समझ रहे हैं और कानूनी रूप से सही कदम उठाए जाएँगे।

विपक्षी दलों ने केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि वह ईडी के सामने पेश होने से बच रहे हैं क्योंकि उनके पास कुछ छिपाने की बात है। ईडी का भी कहना है कि केजरीवाल से पूछताछ जरूरी है क्योंकि उनके नाम का उल्लेख कथित घोटाले के संबंध में कुछ दस्तावेजों में हुआ है।

दिल्ली की आबकारी नीति में घोटाला में सामने आया था। इस नीति के तहत दिल्ली सरकार ने शराब की बिक्री और लाइसेंसिंग का काम निजी कंपनियों को दे दिया था। इस नीति पर कई सवाल उठे थे, जिसमें यह भी सवाल था कि क्या इस नीति से दिल्ली सरकार को राजस्व में नुकसान हुआ है। ईडी ने इस घोटाले की जाँच शुरू की और उसने कई लोगों से पूछताछ की। केजरीवाल के अलावा, इस घोटाले में कई अन्य लोगों के नाम भी सामने आए, जिनमें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी शामिल हैं। मनीष सिसोदिया, संजय सिंह जैसे महत्वपूर्ण लोग इस मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं।

बता दें कि केजरीवाल हर साल 10 दिनों के लिए विपश्यना शिविर में भाग लेते हैं। शिविर में, वे ध्यान की गहरी तकनीकों का अभ्यास करते हैं। केजरीवाल का कहना है कि विपश्यना ने उन्हें अपने आसपास की दुनिया को अधिक जागरूकता और समझ के साथ देखने में मदद की है। उन्होंने कहा है कि विपश्यना ने उन्हें एक अधिक शांत और संतुलित व्यक्ति भी बनाया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -