Saturday, July 2, 2022
Homeराजनीति'खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग' के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना बने दिल्ली के नए उप-राज्यपाल,...

‘खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग’ के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना बने दिल्ली के नए उप-राज्यपाल, जानें कानपुर यूनिवर्सिटी से ‘राज निवास’ तक का सफर

उन्होंने जल संसाधन विकास के क्षेत्र में, सामाजिक कुप्रथाओं से लड़ने और आपदा प्रबंधन सहायता के क्षेत्र में भी काम किया है।

विनय कुमार सक्सेना को दिल्ली के नए उप-राज्यपाल (Delhi Lieutenant Governor) के रूप में नियुक्त किया गया है। राष्ट्रपति भवन के एक बयान के अनुसार, अनिल बैजल का इस्तीफा स्वीकार करते हुए राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने ​सोमवार (23 मई, 2022) को विनय कुमार सक्सेना (Vinai Kumar Saxena) को दिल्ली का नया एलजी नियुक्त किया है। सक्सेना दिल्ली के 22वें उप-राज्यपाल बने हैं।

वह पदभार ग्रहण करने की तारीख से दिल्ली के उप-राज्यपाल होंगे। इससे पहले वह खादी ग्रामोद्योग आयोग, भारत सरकार के चैयरमैन थे। उन्होंने 27 अक्तूबर, 2015 को अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया था।

23 मार्च 1958 को जन्मे विनय कुमार सक्सेना कानपुर यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके हैं। उनके बारे में बताया जाता है कि वह कॉरपोरेट के साथ-साथ एनजीओ सेक्टर में भी काम कर चुके हैं। उन्होंने 1984 में राजस्थान में जेके ग्रुप को ज्वॉइन किया और 11 सालों तक यहाँ काम किया। इसके अलावा उन्होंने जल संसाधन विकास के क्षेत्र में, सामाजिक कुप्रथाओं से लड़ने और आपदा प्रबंधन सहायता के क्षेत्र में भी काम किया।

बता दें कि बैजल के इस्तीफे के बाद चर्चा थी कि प्रफुल्ल खोड़ा पटेल, राकेश मेहता, राजीव महर्षि, सुनील अरोड़ा या फिर राकेश अस्थाना में से किसी एक को एलजी बनाया जा सकता है। उप-राज्यपाल पद पर अनिल बैजल का कार्यालय दिल्ली सरकार के साथ काफी विवादों से जुड़ा रहा है। दिल्ली के पूर्व उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने 18 मई को अचानक अपना इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफे के पीछे की वजह उन्होंने निजी कारण बताए थे। उप-राज्यपाल के तौर पर उनका कार्यकाल के 5 साल 31 दिसंबर, 2021 को पूरा हो गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe