Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिराहुल गाँधी ने वायनाड में किया आचार संहिता का उल्लंघन, चुनाव आयोग से कार्रवाई...

राहुल गाँधी ने वायनाड में किया आचार संहिता का उल्लंघन, चुनाव आयोग से कार्रवाई की अपील

राहुल गाँधी आज मतदान के दिन भी, ट्विटर के जरिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं, जो कि साफ तौर पर आचार संहिता का उल्लंघन है। तुषार वेल्लापल्ली ने चुनाव आयोग से कॉन्ग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की अपील की है।

अपनी उल-जुलूल बयानबाजी और हरकतों की वजह से कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी लगातार फँसते हुए दिखाई दे रहे हैं। ‘चौकीदार चोर है’ वाले बयान को लेकर अभी तक राहुल गाँधी को कोर्ट से राहत नहीं मिली कि उन पर एक और आरोप लग गया। दरअसल, राहुल गाँधी अमेठी के साथ-साथ केरल के वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ रहे हैं और इस सीट पर आज (अप्रैल 23, 2019) को तीसरे चरण के लिए मतदान हो रहे हैं। मतदान के दौरान ही राहुल गाँधी ने सोशल मीडिया के जरिए कॉन्ग्रेस को वोट करने की अपील की है। इसको लेकर वायनाड से एनडीए के प्रत्याशी तुषार वेल्लापल्ली ने राहुल गाँधी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए कहा है कि आरोप लगाया है कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

बता दें कि आज सुबह यानी मतदान के दिन राहुल गाँधी ने अपने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, ‘भारत में लाखों युवा पहली बार मतदान करने जा रहे हैं। उनके हाथों में भारत का भविष्य है। मुझे विश्वास है कि वे हर भारतीय के लिए NYAY चाहते हैं और बुद्धिमानी से मतदान करेंगे। पहली बार मताधिकार का प्रयोग करने जा रहे युवाओं के साथ इस शार्ट फिल्म को शेयर करें।’

तुषार वेल्लापल्ली ने राहुल गाँधी के द्वारा किए गए इस ट्वीट पर सवाल उठाते हुए चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा और राहुल गाँधी के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की बात कही। उनका कहना है कि वायनाड सीट पर चुनाव प्रचार आज से दो दिन पहले यानी 21 अप्रैल की शाम 5 बजे से ही बंद हो गया था, लेकिन राहुल गाँधी आज मतदान के दिन भी, ट्विटर के जरिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं, जो कि साफ तौर पर आचार संहिता का उल्लंघन है। उन्होंने चुनाव आयोग से कॉन्ग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की अपील की है। तुषार का कहना है कि अगर इस पर कार्रवाई नहीं की गई तो चुनाव के निष्पक्षता पर सवाल उठ सकता है। इसलिए निष्पक्ष रूप से मतदान करवाने के लिए यह कार्रवाई करना अति आवश्यक है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe