Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिदक्षिण भारत में भी NDA कर रहा कमाल, केरल में बीजेपी का खाता खुलने...

दक्षिण भारत में भी NDA कर रहा कमाल, केरल में बीजेपी का खाता खुलने की उम्मीद बनी: कर्नाटक-आँध्र प्रदेश-ओडिशा में कमल कर रहा कमाल

बीजेपी दक्षिण भारतीय राज्यों खास आँध्र प्रदेश, कर्नाटक में बेहतरीन प्रदर्शन करती दिख रही है, तो बाकी के राज्यों में उसके सहयोगी दलों ने मोर्चा थाम रखा है।

लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे आने लगे हैं। शुरुआती रुझान के बाद सुबह 11 बजे तक बीजेपी पूरे देश में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है। दक्षिण भारत, जिसे बीजेपी के लिए कमजोर कहा जा रहा था, वो एग्जिट पोल्स के मुताबिक ही, बीजेपी के अच्छी खुशखबरी ला रहा है। बीजेपी और उसके सहयोगी दक्षिण भारत में भी बेहतरीन प्रदर्शन करते दिख रहे हैं। आइए, आपको बताते हैं राज्यवार आँकड़े…

अंडमान से आँध्र तक, बीजेपी और सहयोगियों को भारी बढ़त

बीजेपी दक्षिण भारतीय राज्यों खास आँध्र प्रदेश, कर्नाटक में बेहतरीन प्रदर्शन करती दिख रही है, तो बाकी के राज्यों में उसके सहयोगी दलों ने मोर्चा थाम रखा है। अंडमान-निकोबार की इकलौती लोकसभा सीट पर बीजेपी आगे चल रही है। वहीं, आँध्र प्रदेश में विपक्षी पार्टी का सफाया हो गया है। पिछले लोकसभा चुनाव में लैंडस्लाइड विक्ट्री पाने वाली जगनमोहन रेड्डी की YSR कॉन्ग्रेस पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया है। तेलंगाना में भी बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा है।

आँध्र प्रदेश में एनडीए कर रहा क्लीन स्वीप

आँध्र प्रदेश की कुल 25 लोकसभा सीटों में एनडीए 80 प्रतिशत से अधिक सीटें ला रही है। बीजेपी के सहयोगी दल टीडीपी और जनसेना (16+2) सीटें ला रही हैं, तो बीजेपी भी 3 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज कर रही है। वहीं, अब तक यहाँ सत्ता में रही YSRCP को महज 4 सीटें मिलती दिख रही हैं। ये नतीजे अभी बदल भी सकते हैं।

तेलंगाना में बीजेपी का अच्छा प्रदर्शन

तेलंगाना में बीजेपी ने अपने दम पर चुनाव लड़ा है। यहाँ भारत राष्ट्र समिति 1 सीट पर आगे है, तो एआईएमआईएम 1 सीट पर आगे है। हैदराबाद सीट पर असदुद्दीन ओवैसी को कड़ा मुकाबला चल रहा है। राज्य में कॉन्ग्रेस 8 सीटों पर आगे है, तो बीजेपी शानदार प्रदर्शन करते हुए 7 सीटों पर आगे है। खास बात ये है कि तेलंगाना में बीजेपी सत्ता में कभी नहीं रही है। ऐसे में उसका ये प्रदर्शन शानदार ही कहा जाएगा।

कर्नाटक में बीजेपी और JDS का कमाल

कर्नाटक में बीजेपी सत्ता में नहीं है, इसके बावजूद बीजेपी का प्रदर्शन अच्छा रहा है। राज्य की 28 लोकसभा सीटों में बीजेपी और उसकी सहयोगी जेडीएस कुल 21 (18+3) लोकसभा सीटों पर आगे है। कॉन्ग्रेस महज 7 सीटों पर आगे है। यहाँ के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने कहा था कि कर्नाटक में कॉन्ग्रेस सब पर भारी पड़ेगी, लेकिन अभी तक नतीजे कॉन्ग्रेस को झटके देते दिख रहे हैं।

केरल में बीजेपी का प्रदर्शन अच्छा

केरल की कुल 20 लोकसभा सीटों में से बीजेपी 2 सीटों पर आगे है। बीजेपी अगर ये बढ़त बनाए रखती है, तो पार्टी राज्य में अब तक का सबसे शानदार प्रदर्शन करेगी। केरल में विपक्ष में बैठी कॉन्ग्रेस 13 सीटों पर आगे है। अन्य पार्टियों में मुस्लिम लीग 2, सीपीआई-एम 1, केरल कॉन्ग्रेस – 1 और रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी 1 सीट पर आगे चल रही है।

तमिलनाडु में डीएमके-कॉन्ग्रेस का डंका

तमिलनाडु में डीएमके और कॉन्ग्रेस का इंडी गठबंधन बेहतरीन प्रदर्शन करता दिख रहा है। तमिलनाडु में राज्य की सत्ता पर काबिज दल लोकसभा चुनाव में कमोवेश अच्छा ही प्रदर्शन करता है। समाचार लिखे जाने तक 39 लोकसभा सीटों में 19 पर डीएमके आगे चल रही है, तो सहयोगी कॉन्ग्रेस 8 सीटों पर आगे है। वीसीके 2 सीटों पर, सीपीआई और सीपीआई (एम) 2-2 सीटों पर आगे है, तो पीएमके 1 सीट पर आगे है।

ओडिशा में बीजेपी का शानदार प्रदर्शन

ओडिशा में बीजेपी क्लीनस्वीप की ओर बढ़ती दिख रही है। कुल 21 लोकसभा सीटों में से 18 पर बीजेपी जीत दर्ज करती दिख रही है, तो बीजू जनता दल महज 2 सीटों पर, और कॉन्ग्रेस सिर्फ 1 सीट पर आगे है।

ओडिशा में विधानसभा चुनाव में बीजेपी को शुरुआती बढ़त

ओडिशा विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी अच्छा प्रदर्शन करती दिख रही है। कुल 147 विधानसभा सीटों में से 124 सीटों के शुरुआती रुझान सामने आए हैं, जिसमें से 64 पर बीजेपी आगे है, तो सत्ताधारी दल बीजेडी सिर्फ 44 पर आगे है। कॉन्ग्रेस महज 12 सीटों पर आगे है। अगर ये ट्रेंड आगे भी जारी रहता है, तो बीजेडी को दशकों बाद हार झेलना पड़ सकता है।

आँध्र प्रदेश में बीजेपी और सहयोगी कर रहे क्लीन स्वीप

आँध्र प्रदेश में बीजेपी और उसके सहयोगी दल विधानसभा चुनाव में क्लीन स्वीप करते दिख रहे हैं। आँध्र प्रदेश में कुल 175 लोकसभा सीटों में से 167 के रुझान आ गए हैं, जिसमें तेलुगू देशम पार्टी 122 सीटों पर आगे है। तो जनसेना पार्टी 17 सीटों और बीजेपी 7 सीटों पर। सत्ताधारी YSRCP महज 21 सीटों पर आगे दिख रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -