Wednesday, May 22, 2024
HomeराजनीतिJDS ने प्रज्वल रेवन्ना को पार्टी से निकाला, कहा- SIT जाँच पूरी होने तक...

JDS ने प्रज्वल रेवन्ना को पार्टी से निकाला, कहा- SIT जाँच पूरी होने तक रहेंगे निष्कासित: कर्नाटक सेक्स स्कैंडल पर बोली BJP- हम मातृशक्ति के साथ

इससे पहले जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने कहा था, "हम रेवन्ना को बचाने नहीं जा रहे हैं। हम गंभीर कार्रवाई करेंगे, लेकिन जिम्मेदारी सरकार की है। न केवल एक चाचा के रूप में, बल्कि देश के एक आम आदमी के रूप में हमें आगे बढ़ना होगा। यह एक शर्मनाक मुद्दा है। सरकार कौन चला रहा है? उन्हें असली तस्वीर उजागर करनी है, जमीनी हकीकत सरकार को उजागर करनी है, मुझे नहीं।"

कर्नाटक की हासन सीट से सांसद और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के पोते प्रज्वल रेवन्ना सेक्स स्कैंडल को सामने आने के बाद देश से फरार गए हैं। इसको लेकर आलोचना झेल रही जनता दल (सेक्युलर) (JDS) ने प्रज्वल रेवन्ना को SIT जाँच पूरी होने तक पार्टी से निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही JDS की कोर कमिटी ने बैठक के बाद रेवान्ना को कारण बताओ नोटिस भी भेजा है।

जेडीएस ने कहा कि अगर प्रज्वल रेवन्ना पर लगे आरोप सही साबित होते हैं तो उनका पार्टी से निष्कासन बढ़ा दिया जाएगा। वहीं, अगर रेवन्ना निर्दोष साबित होते हैं तो उनका निष्कासन रद्द कर दिया जाएगा। बताते चलें कि कि रेवन्ना पर हजारों महिलाओं का यौन शोषण कर उनका वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं, रेवन्ना द्वारा बनाए गए लगभग 2900 वीडियो भी सामने आए हैं।

दरअसल, प्रज्वल रेवन्ना का वीडियो सामने आने के बाद कर्नाटक की राजनीति में भूचाल आ गया है। इसके बाद जेडीएस के ही विधायक शरणागौड़ा कांडपुर ने पार्टी के संस्थापक एचडी देवगौड़ा को सोमवार (29 अप्रैल 2024) को एक पत्र लिखा। उन्होंने पत्र में प्रज्वल रेवन्ना को पार्टी से निष्कासित करने की माँग की थी। उन्होंने कहा था कि इससे पार्टी को शर्मिंदगी उठानी पड़ी है।

शरणागौड़ा ने कहा था कि पिछले कुछ दिनों से सेक्स स्कैंडल का वीडियो पूरे राज्य में वायरल हो रहा है। वीडियो के कुछ हिस्सों में पार्टी सांसद प्रज्वल रेवन्ना भी दिखाई दे रहे हैं। इस वजह से ऐसा लगता है कि वे आरोपी हैं। इससे पार्टी को शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है। विधायक ने पत्र में लिखा, “मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि उन्हें तुरंत पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए।”

वहीं, कर्नाटक में जेडीएस के साथ गठबंधन होने को लेकर भी लोग भाजपा की आलोचना कर रहे हैं। अब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इसका जवाब दिया है। उन्होंने कहा था कि जेडीएस प्रज्वल पर कार्रवाई करेगी। अमित शाह ने कहा, “प्रज्वल रेवन्ना का जो समाचार पत्रों और चैनल पर चल रहा है, वो बिलकुल आघातजनक है और बीजेपी का स्टैंड बहुत स्पष्ट है कि हम देश की ‘मातृ शक्ति’ के साथ खड़े हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “वहाँ पर सरकार कॉन्ग्रेस पार्टी की है। उन्होंने अब तक कोई कार्रवाई क्यों नहीं की? कार्रवाई हमें नहीं करनी। यह राज्य की कानून व्यवस्था का मुद्दा है। राज्य सरकार को इस पर कार्रवाई करनी होगी… हम जाँच के पक्ष में हैं और हमारे सहयोगी जेडीएस ने भी इसके खिलाफ कार्रवाई करने की घोषणा की है। आज उनकी कोर कमेटी की बैठक है और कदम उठाए जाएँगे।”

इससे पहले जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने कहा था, “हम रेवन्ना को बचाने नहीं जा रहे हैं। हम गंभीर कार्रवाई करेंगे, लेकिन जिम्मेदारी सरकार की है। न केवल एक चाचा के रूप में, बल्कि देश के एक आम आदमी के रूप में हमें आगे बढ़ना होगा। यह एक शर्मनाक मुद्दा है। सरकार कौन चला रहा है? उन्हें असली तस्वीर उजागर करनी है, जमीनी हकीकत सरकार को उजागर करनी है, मुझे नहीं।”

बता दें कि हसन लोकसभा सीट पर मतदान से ठीक दो दिन पहले एक वीडियो सामने आया था। आपत्तिजनक वीडियो में कथित रूप से हसन सांसद प्रज्वल रेवन्ना भी दिखाई दिए थे। इसके बाद कर्नाटक महिला आयोग ने सरकार को पत्र लिख कर एसआईटी बनाने की अपील की थी। कर्नाटक सीएम सिद्धारमैया ने 27 अप्रैल को एसआईटी बनाने का निर्देश दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -