Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस नेता के ‘नाचने-गाने वाली’ बयान पर कंगना ने कहा- मैं हड्डियाँ तोड़ने वाली...

कॉन्ग्रेस नेता के ‘नाचने-गाने वाली’ बयान पर कंगना ने कहा- मैं हड्डियाँ तोड़ने वाली राजपूत हूँ, I don’t shake a*s

कंगना रनौत जब मध्य प्रदेश में ‘धाकड़’ फिल्म की शूटिंग कर रही थीं तब मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस के तमाम नेताओं ने फिल्म की शूटिंग रोकने के लिए आंदोलन की धमकी दी थी।

मध्य प्रदेश स्थित बैतूल में कॉन्ग्रेस के पूर्व सांसद सुखदेव पानसे ने अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर एक विवादित बयान दिया है। कॉन्ग्रेस सरकार में पूर्व मंत्री पानसे ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को ‘नाचने-गाने वाली’ कहा है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के समर्थक सुखदेव पानसे कृषि क़ानून और महँगाई को लेकर ज्ञापन सौंपने कलेक्ट्रेट पहुँचे थे। इस दौरान पूर्व सांसद ने ये विवादित बयान दिया। 

सुखदेव पानसे ने कहा, “कंगना जैसी नाचने-गाने वाली महिला ने किसानों के सम्मान को ठेस पहुँचाई है। कंगना ने मध्य प्रदेश के किसानों का भी अपमान किया है। प्रदेश की पुलिस ने कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की है। जब कॉन्ग्रेस किसानों के सम्मान में खड़ी होती है उस पर लाठी चार्ज किया जाता है। पुलिस को कंगना की कठपुतली की तरह काम नहीं करना चाहिए क्योंकि सरकारें बदलती रहती हैं। इस पुलिस कार्रवाई की जाँच होनी चाहिए और जब तक जाँच पूरी नहीं हो जाती है तब तक कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं पर कोई कार्रवाई नहीं होनी चाहिए।” 

कॉन्ग्रेस नेता के इस बयान पर चर्चा बढ़ने के बाद कंगना ने खुद इसका जवाब दिया। कंगना ने ट्वीट करते हुए लिखा, “ये मूर्ख जो कोई भी है, क्या ये जानता है मैं दीपिका, कैटरीना या आलिया नहीं हूँ। मैं इकलौती हूँ, जिसने आईटम नंबर्स ठुकराए, बड़े सितारों (खान/कुमार) के साथ फ़िल्में करने से मना किया। जिसकी वजह से पूरा बॉलीवुडिया गैंग मेरे विरोध में है। मैं राजपूत हूँ, मैं कमर नहीं मटकाती, हड्डियाँ तोड़ती हूँ।”

गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर आक्रामक रवैया रखने और तीखे जवाबों के चलते सुर्ख़ियों में बने रहने वाली कंगना रनौत जब मध्य प्रदेश में ‘धाकड़’ फिल्म की शूटिंग कर रही थीं तब मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस के तमाम नेताओं ने फिल्म की शूटिंग रोकने के लिए आंदोलन की धमकी दी थी। जब कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने जबरन शूटिंग रोकने का प्रयास किया तो प्रदेश पुलिस ने उन पर कार्रवाई की थी।    

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe