Wednesday, April 17, 2024
Homeराजनीतिभद्दी गालियाँ, महाराष्ट्र में दोबारा हनुमान चालीसा पढ़ने पर हत्या की धमकी: अमरावती की...

भद्दी गालियाँ, महाराष्ट्र में दोबारा हनुमान चालीसा पढ़ने पर हत्या की धमकी: अमरावती की सांसद नवनीत राणा को 20 मिनट में आए 11 फोन कॉल

आरोपित ने हर बार नवनीत राणा के साथ गाली-गलौच की और उन्हें इस बात की धमकी दी कि अगर दोबारा से उन्होंने महाराष्ट्र आकर हनुमान चालीसा का पाठ करने की हिमाकत की तो उनकी हत्या कर दी जाएगी।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में हनुमान चालीसा विवाद (Hanuman Chalisa Row) के बाद अब अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) को जान से मारने की धमकी देने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में उनकी शिकायत पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने केस दर्ज किया है। गुरुवार (26 मई 2022) को दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की। राणा को 11 कॉल किए गए थे।

रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार (24 मई 2022) को सांसद नवनीत राणा के पीए ने दिल्ली पुलिस को बताया कि शाम 5:27 से 5:47 बजे के दौरान राणा के पर्सनल मोबाइल फोन पर 11 बार कॉल किए गए। इस दौरान आरोपित ने हर बार नवनीत राणा के साथ गाली-गलौच की और उन्हें इस बात की धमकी दी कि अगर दोबारा से उन्होंने महाराष्ट्र आकर हनुमान चालीसा का पाठ करने की हिमाकत की तो उनकी हत्या कर दी जाएगी।

सांसद को धमकी के मामले में नई दिल्ली के नॉर्थ एवेन्यू पुलिस थाने में धारा 506 औऱ 509 के तहत केस दर्ज किया गया है। इस बात की पुष्टि डीसीपी अमृता गुगुलोठ ने की है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

क्या है हनुमान चालीसा विवाद

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर पर अजान विवाद के बीच पिछले महीने 23 अप्रैल 2022 को अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने सीएम उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया था। इसके तुरंत बाद हरकत में आई मुंबई पुलिस ने उन्हें और उनके पति रवि राणा को गिरफ्तार कर लिया था। उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने और राजद्रोह का केस पुलिस ने दर्ज किया था।

जेल से छूटने के बाद नवनीत राणा ने उद्धव ठाकरे के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। साथ ही चेतावनी दी थी कि अगर उनमें हिम्मत है तो वो जीत कर दिखाएँ। सांसद ने ये भी कहा था कि अगर हनुमान चालीसा पढ़ना अपराध है तो इसके लिए वो 14 दिन क्या, 14 वर्षों तक भी जेल में रहने के लिए तैयार हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe