Tuesday, January 18, 2022
Homeराजनीति'ज्यादा गोश्त खाकर माथा गर्म मत करो, उस पर बर्फ डालो, गुटखा खाकर मुँह...

‘ज्यादा गोश्त खाकर माथा गर्म मत करो, उस पर बर्फ डालो, गुटखा खाकर मुँह बंद रखो’: मुस्लिमों से महाराष्ट्र के मंत्री

एनसीपी नेता ने यह बात महाराष्ट्र में हुई हालिया​ हिंसा के संदर्भ में कही। राज्य के कई शहरों में त्रिपुरा पर फेक न्यूज की आड़ लेकर मुस्लिमों ने हिंसक प्रदर्शन किया था।

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड मुस्लिमों को लेकर दिए अपने एक बयान को लेकर चर्चा में हैं। एनसीपी नेता ने ​मुंबई से सटे भिवंडी में पत्रकारों से बात करते हुए हाल ही में रजा एकेडमी के महाराष्ट्र बंद के दौरान हुए हंगामे के संदर्भ में मुस्लिमों को नसीहत दी। त्रिपुरा पर फेक न्यूज की आड़ लेकर मुस्लिमों ने राज्य के कई शहरों में हिंसा की थी।

आव्हाड ने मुस्लिमों से कहा कि ज्यादा गोश्त खाकर वे माथा गर्म न करें, क्योंकि विरोधी उन्हें उत्तेजित करना चाहते हैं। साथ ही उन्हें गुटखा खाकर मुँह बंद रखने की सलाह भी दी। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में गुटखा की बिक्री प्रतिबंधित है। उन्होंने कहा, “मैं सभी मुस्लिम भाइयों से अपील करना चाहता हूँ। ज्यादा गोश्त खाकर माथा मत गर्म करो। बिल्कुल शांति से काम लो। वो (विरोधी पार्टी के लोग) चाहते ही हैं कि तुम्हारा सिर गर्म हो जाए। सिर पर बर्फ रखो और मुँह में पान, सुपारी, रजनीगंधा, जो खाना हो खाओ, लेकिन सिर पर बर्फ, मुँह को ताला। कुछ नहीं होगा।”

इस दौरान महाराष्ट्र प्रदेश एनसीपी अध्यक्ष जयंत पाटिल भी मौजूद थे। भिवंडी में पार्टी कार्यालय का उद्घाटन करने दोनों नेता एक साथ पहुँचे थे। आव्हाड के इस बयान पर महाराष्ट्र बीजेपी की नेता चित्रा वाघ ने आपत्ति जताते हुए राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार को स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में पान मसाला, गुटखा जैसी चीजों पर प्रतिबंध है। लेकिन, सरकार के एक मंत्री ऐसा बयान दे रहे हैं जो इनकी बिक्री को प्रोत्साहित करने वाले हैं। वहीं समाजवादी पार्टी के विधायक अबु आसिम आजमी ने भी आव्हाड को तत्काल मंत्रिमंडल से हटाने की माँग की है। उनका आरोप है कि वह इस तरह का बयान देकर मुस्लिमों को गलत रास्ते पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं।

गौरतलब है कि त्रिपुरा की कथित हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र के नांदेड़, अमरावती और मालेगाँव में 12 नवंबर 2021) मुस्लिम संगठनों ने जमकर विरोध किया। जबरन दुकानें बंद करवाई गईं और पुलिस पर भी पथराव हुआ। अमरावती से एक वीडियो सामने आई थी। इसमें मुस्लिम समूहों के कुछ लोग चौक पर खड़े होकर तिरंगा लेकर नारेबाजी कर रहे थे। उस समय महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने कहा था, “पूरे राज्य भर के मुस्लिमों ने आज त्रिपुरा में हुई हिंसा के विरोध में मार्च किया। इस दौरान नांदेड़, मालेगाँव और अमरावती समेत कई जगहों पर हिंसा हुई। मैं हर हिंदू और मुस्लिम से शांति कायम करने की अपील करता हूँ।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सहारनपुर दंगे का आरोपित मोहर्रम अली पप्पू सपा में शामिल, नाराज़ सिख समाज ने जताई आपत्ति: गुरुद्वारा में हिंसा समेत 87 मामले हैं दर्ज

सहारनपुर दंगे का मास्टरमाइंड बताया जाने वाला मोहर्रम अली पप्पू समाजवादी पार्टी में शामिल हुआ, जिसके बाद सिख समाज में आक्रोश का माहौल है।

भगवांत मान CM उम्मीदवार, केजरीवाल ने की घोषणा: कभी राजनीति पर कॉमेडी करने वाला अब पंजाब में AAP का सबसे बड़ा चेहरा

पंजाब में 'आम आदमी पार्टी (AAP)' ने अपने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। पार्टी ने इसके लिए भगवंत मान का नाम आगे किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,943FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe