Monday, July 22, 2024
HomeराजनीतिNCP नेता ने बेल पाने के बाद मनाया जश्न: 'हर-हर महादेव' फिल्म रोकने के...

NCP नेता ने बेल पाने के बाद मनाया जश्न: ‘हर-हर महादेव’ फिल्म रोकने के लिए हॉल में किया था हुड़दंग, समर्थकों ने दर्शक के कपड़े फाड़े थे

सुनवाई के दौरान पुलिस ने जितेंद्र आव्हाड की जमानत का विरोध किया। पुलिस ने अदालत से कहा कि जितेंद्र आव्हाड एक राजनीतिक शख्सियत हैं और अगर उन्हें जमानत दी गई तो वे गवाहों को धमका सकते हैं। इसके साथ ही सबूतों के साथ छेड़छाड़ भी कर सकते हैं।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के नेतृत्व वाली महाविकास आघाड़ी सरकार (MVA Government) में मंत्री रहे राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) के नेता जितेंद्र अव्हाड (Jitendra Awhad) को जमानत मिल गई है। बेल मिलने के बाद उन्होंने जश्न मनाया। ठाणे की सत्र न्यायालय के हॉलिडे कोर्ट ने आव्हाड समेत सभी 12 लोगों को 15000 रुपए के निजी मुचलके पर जमानत मंजूर की।

जितेंद्र आव्हाड ने अपने समर्थकों के साथ ठाणे के विवियान मॉल में प्रदर्शित फिल्म हर हर महादेव का रोकने के दौरान एक दर्शक के साथ मारपीट की थी। उसके कपड़े फाड़ दिए गए थे। यह फिल्म छत्रपति शिवाजी महाराज के जीवन पर आधारित है। इसके बाद उन्हें ठाणे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

जमानत से पहले आज (12 नवंबर) हुई सुनवाई में कोर्ट ने जितेंद्र अव्हाड को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद तुरंत आव्हाड ने जमानत के लिए कोर्ट में अपील कर दी। कोर्ट ने सुनवाई के लिए दोपहर 2:45 बजे का समय रखा।

सुनवाई के दौरान पुलिस ने जितेंद्र आव्हाड की जमानत का विरोध किया। पुलिस ने अदालत से कहा कि जितेंद्र आव्हाड एक राजनीतिक शख्सियत हैं और अगर उन्हें जमानत दी गई तो वे गवाहों को धमका सकते हैं। इसके साथ ही सबूतों के साथ छेड़छाड़ भी कर सकते हैं।

हालाँकि, अदालत ने पुलिस की बातों का संज्ञान लिया और जमानत देते समय सभी आरोपितों को ऐसा ना करने की हिदायत दी और इसे जमानत की शर्तों के साथ जोड़ दिया। अव्हाड का कहना था कि फिल्म में शिवाजी महाराज के ऐतिहासिक संदर्भों को गलत तरीके से दिखाया गया है। अव्हाड ने कहा कि उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश ‘ऊपर’ से आया था।

जमानत मिलने के बाद जितेंद्र अव्हाड ने जश्न मनाना शुरू कर दिया। जमानत मिलने के बाद जितेंद्र आव्हाड कोर्ट से बाहर आए और जीत का निशान बनाया। इसके बाद उनके समर्थक नारे लगाने शुरू किए। नारे लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘तेरा-मेरा नाता क्या…जय शिवाजी, जय शिवाजी’, जय भीम-जय भीम‘।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाइडेन बाहर, कमला हैरिस पर संकट: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ओबामा ने चली चाल, समर्थन पर कहा – भविष्य में क्या होगा, कोई नहीं...

अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों की दौड़ से बाइडेन ने अपना नाम पीछे लिया तो बराक ओबामा ने उनकी तारीफ की और कमला हैरिस का समर्थन करने से बचते दिखे।

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -