Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिसामने आए पवार के दोनों गुमशुदा विधायक, कहा- हम चाचा-भतीजा दोनों के साथ हैं

सामने आए पवार के दोनों गुमशुदा विधायक, कहा- हम चाचा-भतीजा दोनों के साथ हैं

"मैं अपने परिवार और लोगों से अनुरोध करता हूँ कि वे मेरी चिंता न करें। मैं शरद पवार, अजित पवार और छगन भुजबल के साथ हूँ। मेरे परिवार और लोगों द्वारा अन्यथा कुछ भी नहीं सोचा जाना चाहिए।"

महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापठक के बीच एनसीपी के वे दो विधायक सामने आ गए हैं जो गुमशुदा बताए जा रहे थे। विधायक दौलत दारोगा और नितिन पवार की गुमशुदगी को लेकर शिकायत भी दर्ज कराई गई थी। दोनों ने सामने आने के बाद एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार और शनिवार को राज्य के उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले अजित पवार, दोनों के प्रति निष्ठा जताई है।

यह बेहद दिलचस्प है क्योंकि अजित पवार के भाजपा को समर्थन देने के बाद शरद पवार ने उन्हें विधायक दल के नेता पद से हटा दिया था। उन्होंने यह भी कहा था कि बीजेपी को समर्थन अजित का व्यक्तिगत फैसला है न कि पार्टी का। इसके बाद एनसीपी विधायकों की बैठक भी हुई थी। बैठक के बाद पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा था कि केवल चार-पॉंच विधायक ही नेतृत्व के साथ नहीं हैं।

इनमें से एक दौलत दारोगा के लापता होने को लेकर ठाणे जिले के शाहपुर पुलिस स्टेशन में शनिवार को शिक़ायत दर्ज कराई थी। रविवार को उन्होंने कहा, “मैं सुरक्षित हूँ। मैं एनसीपी के निशान पर चुनाव जीतकर आया हूँ, इसलिए पार्टी बदलने का कोई सवाल ही नहीं है। शरद पवार और अजित पवार जो भी फ़ैसला लेंगे मैं उसके साथ हूँ। किसी भी अफ़वाह पर विश्वास न करें।”

देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार के शपथ ग्रहण के बाद दारोगा के लापता होने की खबरें आई थी। इसके बाद, NCP और विधायक के परिवार ने उनके लापता होने की शिक़ायत दर्ज करवाई। शाहपुर से NCP विधायक दौलत दारोगा शनिवार की सुबह शपथ ग्रहण के दौरान राजभवन में मौजूद थे।

एक अधिकारी ने बताया कि पूर्व विधायक पांडुरंग बरोरा ने शाहपुर पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया था।

एक अन्य विधायक नेता नितिन पवार के लापता होने की भी ख़बर थी। उनका भी पता चल गया है। उन्होंने कहा, “मैं अपने परिवार और लोगों से अनुरोध करता हूँ कि वे मेरी चिंता न करें। मैं शरद पवार, अजित पवार और छगन भुजबल के साथ हूँ। मेरे परिवार और लोगों द्वारा अन्यथा कुछ भी नहीं सोचा जाना चाहिए।”

इसके अलावा एनसीपी विधायक माणिकराव कोकाते भी रविवार को मुंबई के उस होटल पहुॅंचे जहॉं पार्टी के अन्य विधायक मौजूद हैं। वे भी शनिवार को शपथ ग्रहण के समय अजित पवार के साथ दिखे थे। बाद में उनकी भी कोई सूचना नहीं होने की बात सामने आई थी।

गौरतलब है कि फडणवीस और अजित पवार के शपथ ग्रहण को शिवसेना, कॉन्ग्रेस और एनसीपी ने सुप्रीम कोर्ट में भी चुनौती दे रखी है। सोमवार को इस मामले में तीन सदस्यीय पीठ ने सुनवाई करते हुए तत्काल बहुमत परीक्षण की मॉंग नहीं मानी। अदालत ने राज्यपाल का आदेश और फडणवीस की तरफ से उन्हें सौंपे गए समर्थन पत्र की कॉपी मंगलवार को पेश करने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में तत्काल बहुमत परीक्षण नहीं, फडणवीस-अजित पवार के शपथ पर कल फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में बड़ा उलटफेर: देवेंद्र फडणवीस फिर बने CM, अजित पवार डिप्टी सीएम

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe