Monday, June 24, 2024
Homeराजनीतिआकाश सैनी ने निकाला जूता और स्वामी प्रसाद मौर्य पर फेंका, कहा- हिंदू विरोधी...

आकाश सैनी ने निकाला जूता और स्वामी प्रसाद मौर्य पर फेंका, कहा- हिंदू विरोधी बयानों से आहत था: सपा समर्थकों ने घेरकर पीटा, महंत राजू दास देंगे इनाम

"अभी सिर्फ स्वामी प्रसाद मौर्य पर जूता फेंका गया है। यह सिलसिला रुकेगा नहीं। सनातन धर्म पर ऐसी ही टिप्पणी करते रहेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब अखिलेश यादव भी पीटे जाएँगे।"

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य पर जूता फेंकने की घटना सामने आई हैं। वकील के वेश में पहुँचे आकाश सैनी नामक व्यक्ति ने इस घटना को अंजाम दिया। हालाँकि, जूता फेंकने के बाद वहाँ मौजूद सपा समर्थकों ने आरोपित को पकड़कर उसकी जमकर पिटाई कर दी। वहीं आरोपित का कहना है कि वह पूजा-पाठ करने वाला व्यक्ति है लेकिन मौर्य के बयानों से वह दुखी था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राजधानी लखनऊ के इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में समाजवादी पार्टी ने पिछड़ा वर्ग महासम्मेलन आयोजित किया था। स्वामी प्रसाद मौर्य इस कार्यक्रम में शामिल होने पहुँचे थे। इस दौरान जब वह कार से उतरकर अंदर जा रहे थे, तभी वकील की वेश में पहले से अंदर मौजूद व्यक्ति ने जूता उतारकर स्वामी प्रसाद मौर्य की ओर फेंक दिया। हालाँकि, जूता स्वामी प्रसाद को छूता हुआ जमीन पर जा गिरा।

इस घटना के बाद वहाँ मौजूद समाजवादी पार्टी के समर्थकों ने आरोपित युवक को पकड़ लिया। इसके बाद उसकी जमकर पिटाई कर दी। इसके कुछ वीडियो भी सामने आए हैं। वीडियो में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा आरोपित युवक को पीटते देखा जा सकता है। मौके पर मौजूद पुलिस उसे सपाइयों से बचाने की कोशिश कर रही थी। लेकिन सपा समर्थक उसे बार-बार पुलिस से छुड़ा कर पीटना शुरू कर देते।

वहीं पुलिस बड़ी मुश्किल से उसे सपाइयों से छुड़ा पाई। इसके बाद भी सपाई उसका पीछा कर रहे थे। ऐसे में पुलिस सरकारी गाड़ी की जगह ऑटो में बैठाकर उसे थाने ले गई। जूता फेंकने वाले व्यक्ति की पहचान आकाश सैनी के रूप में हुई है। पकड़े जाने पर आकाश ने कहा है कि वह पूजा पाठ करने वाला व्यक्ति है लेकिन स्वामी प्रसाद मौर्य के बयानों से वह दुखी था, इसलिए उसने यह कदम उठाया।

इस घटना के बाद यूपी सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर का बयान भी सामने आया। उन्होंने कहा है कि पिछड़ों और दलितों को समाजवादी पार्टी में सम्मान नहीं मिलता। 4 बार की सरकार ने इन लोगों को धोखा दिया है। सपा का यह सम्मेलन ओबीसी और दलित को धोखा देने के लिए आयोजित किया गया। जिसने स्याही फेंकी थी, उसकी अखिलेश यादव के साथ फोटो वायरल हो गई। यह इस बात का सबूत है कि सपा के राष्ट्रीय महासचिव के आने पर सपाई कह रहे हैं मेरे अँगने में तुम्हारा क्या काम है?

वहीं, अयोध्या स्थित हनुमान गढ़ी के महंत राजू दास ने कहा, “अभी सिर्फ स्वामी प्रसाद मौर्य पर जूता फेंका गया है। यह सिलसिला रुकेगा नहीं। सनातन धर्म पर ऐसी ही टिप्पणी करते रहेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब अखिलेश यादव भी पीटे जाएँगे।”

उन्होंने आगे कहा, “स्वामी प्रसाद मौर्या के ऊपर जूता कांड करने वाले को मेरे तरफ से उचित इनाम दिया जाएगा।”

बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने जनवरी, 2023 में रामचरित मानस को बकवास बताते हुए इस पर प्रतिबंध लगाने की माँग की थी। यही नहीं वह साधु-संतों और महंतों को ‘आतंकवादी’ व ‘जल्लाद’ भी कह चुके हैं। इसको लेकर जमकर विवाद हुआ था। बाद में उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -