Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिजेटली के 'उत्तराधिकारी' बन सकते हैं मनोज सिन्हा, मिल सकती है राज्य सभा सीट

जेटली के ‘उत्तराधिकारी’ बन सकते हैं मनोज सिन्हा, मिल सकती है राज्य सभा सीट

अगर मनोज सिन्हा अरुण जेटली की सीट पर काबिज़ होने में सफल रहते हैं तो वे अप्रैल 2024 तक इस पद पर बने रहेंगे। वैसे उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के पास 325 विधायकों के साथ तीन-चौथाई से अधिक बहुमत है। इसलिए वहाँ के भाजपा प्रत्याशी की जीत तय है।

मीडिया खबरों के मुताबिक गाज़ीपुर के पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा को दिवंगत नेता अरुण जेटली की जगह पर राज्य सभा में भेजा जा सकता है। पूर्व वित्त और कॉर्पोरेट मंत्री जेटली का लम्बी बीमारी के बाद 24 अगस्त को निधन हो गया था। वहीं मोदी सरकार 1.0 में मंत्री रहे मनोज सिन्हा 1.2 लाख मतों से 2019 में बसपा के अफ़ज़ल अंसारी से हार गए थे

2024 तक रहेंगे सांसद

केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने 26 सितंबर को जेटली और पूर्व कानून मंत्री राम जेठमलानी के निधन से खाली हुई सीटों पर चुनाव की घोषणा की है। 16 अक्टूबर को यह चुनाव होंगे। अगर मनोज सिन्हा अरुण जेटली की सीट पर काबिज़ होने में सफल रहते हैं तो वे अप्रैल 2024 तक इस पद पर बने रहेंगे। जेटली उत्तर प्रदेश और जेठमलानी बिहार के सांसद थे। मीडिया खबरों के मुताबिक इस बाबत सिन्हा ने भाजपा के पूर्णकालिक अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात आज (26 सितंबर को) मुलाकात की है।

18 को परिणाम, यूपी में भाजपा प्रत्याशी की जीत तय

उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के पास 325 विधायकों के साथ तीन-चौथाई से अधिक बहुमत है। इसलिए वहाँ के भाजपा प्रत्याशी की जीत तय है

निर्वाचन आयोग के आदेश के अनुसार 27 सितंबर (कल) से चुनाव की घोषणा अधिसूचित मानी जाएगी, और उसी दिन से नामांकन प्रक्रिया भी प्रारंभ हो जाएगी। नामांकन की अंतिम तिथि 4 अक्टूबर है। इसके बाद 5 तारीख को छँटनी होगी, और 9 अक्टूबर तक प्रत्याशी अपना नाम वापिस ले सकते हैं। 16 अक्टूबर को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान, और उसके बाद मतगणना कर 18 को परिणाम घोषित कर दिए जाएँगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe