Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिमिलिए ओडिशा के उस BJP सांसद से जो साधु बनना चाहते थे, सादगी के...

मिलिए ओडिशा के उस BJP सांसद से जो साधु बनना चाहते थे, सादगी के कायल हो रहे लोग

इससे पहले वह 2014 के लोकसभा चुनाव में भी खड़े हुए थे, लेकिन तब उन्‍हें हार मिली थी। प्रताप सारंगी को नरेंद्र मोदी का करीबी माना जाता है। मोदी जब भी ओडिशा आते हैं, तो सारंगी से मुलाकात जरूर करते हैं।

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर ख़ूब वायरल हो रही है। ये तस्वीर देखने पर तो किसी ग़रीब किसान की लगती है लेकिन आप यह जान कर चौंक जाएँगे कि धोती और गमछे में लिपटा यह व्यक्ति सांसद है। ये तस्वीर है भाजपा सांसद प्रताप चंद्र सारंगी की। सारंगी ने ओडिशा के बालासोर से जीत दर्ज की है। ओडिशा में भाजपा ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की है, वहीं राज्य की सत्ताधारी पार्टी बीजद ने 12 सीटों पर जीत दर्ज किया। बालासोर में प्रताप सारंगी का मुक़ाबला बीजद के रविंद्र कुमार जेना और कॉन्ग्रेस के नवज्योति पटनायक से था। सारंगी ने सर्वाधिक 4,83,858 मत पाकर जेना को 12,000 से भी अधिक मतों से हराया।

ओडिशा और बंगाल में भाजपा का प्रदर्शन काफ़ी शानदार रहा और पार्टी ने पिछले चुनाव के मुक़ाबले अच्छी बढ़त दर्ज की। सांसद चुने जाने से पहले प्रताप चंद्र सारंगी ओडिशा के नीलगिरी विधानसभा से 2004 और 2009 में विधायक चुने जा चुके हैं। इससे पहले वह 2014 के लोकसभा चुनाव में भी खड़े हुए थे, लेकिन तब उन्‍हें हार मिली थी। प्रताप सारंगी को नरेंद्र मोदी का करीबी माना जाता है। ख़बरों के अनुसार, मोदी जब भी ओडिशा आते हैं, तो सारंगी से मुलाकात जरूर करते हैं।

नीलगिरि के गोपीनाथपुर में जन्मे सारंगी बचपन से आध्यात्मिक हैं और रामकृष्ण मठ में साधु बनना चाहते थे। मठ ने उन्हें उनकी विधवा माँ की सेवा करने का सुझाव दिया। सारंगी ने बालासोर और मयूरभंज के आदिवासी इलाकों में कई स्‍कूल बनवाए हैं। सोशल मीडिया पर उनकी तस्वीरों को काफ़ी सम्मान के साथ शेयर किया जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe