Saturday, July 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंडअगर हैंडसम होना अपराध है तो गिरफ्तार करो मुझे... मनीष सिसोदिया की गिरफ़्तारी के...

अगर हैंडसम होना अपराध है तो गिरफ्तार करो मुझे… मनीष सिसोदिया की गिरफ़्तारी के बाद सोशल मीडिया पर शेयर हो रहे मीम्स, ‘मैगजीन’ में भी तस्वीर

एक ने तो 'लुटेरा' फिल्म के पोस्टर में रणवीर सिंह की जगह बाइक पर मनीष सिसोदिया को बिठा दिया और उस एडिटेड तस्वीर को शेयर किया।

शराब घोटाले में 8 घंटे की पूछताछ के बाद CBI ने दिल्ली के डिप्टी CM व AAP नेता मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद सोशल मीडिया पर ‘हैंडसम’ शब्द ट्रेंड होने लगा। बता दें कि एक पर्चे के वायरल होने के बाद से मनीष सिसोदिया के साथ ये शब्द जुड़ गया है। दावा किया जाता है कि खुद AAP ने इसे वायरल करवाया था। लोग एक से बढ़ कर एक मीम्स शेयर कर रहे हैं और AAP नेता की गिरफ़्तारी के मजे ले रहे हैं।

‘बीइंग ह्यूमर’ ने एक तस्वीर शेयर की, जिसमें एक व्यक्ति को दो पुलिस वाले टाँग कर ले जा रहे हैं। उस व्यक्ति के चेहरा को एडिट कर मनीष सिसोदिया का बना दिया गया। फोटो के कैप्शन में लिखा गया, “सिसोदिया: अगर हैंडसम होना अपराध है तो मुझे गिरफ्तार करो, पुलिस:…”।

आशीष ने ‘वेलकम’ फिल्म में जश्न मनाए जाने का एक वीडियो शेयर कर लिखा कि मनीष सिसोदिया की गिरफ़्तारी के बाद उनके और उनके दोस्तों की स्थिति ऐसी ही है।

मनपिंदर सिंह ने लिखा, “मुझे पता था कि नरेंद्र मोदी जैसा एक ईर्ष्यालु फासीवादी मनीष सिसोदिया जैसा हैंडसम हंक, जो सबके दिलों पर राज करता हो, उसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। ‘राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW)’ को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।”

एक ने तो ‘लुटेरा’ फिल्म के पोस्टर में रणवीर सिंह की जगह बाइक पर मनीष सिसोदिया को बिठा दिया और उस एडिटेड तस्वीर को शेयर किया।

उन्हें ‘हैंडसम’ बताते हुए एक मैगजीन के पोस्टर तक पर उनकी तस्वीर एडजस्ट कर दी लोगों ने।

इसी तरह कई अन्य लोगों ने भी अलग-अलग मीम्स शेयर किए:

दक्षिणी दिल्ली में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा-144 लागू कर दी गई है। CBI के मुख्यालय के बाहर सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर दी गई है। विरोध प्रदर्शन के दौरान उग्र हुए कई AAP कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया गया है। कम से कम 50 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इनमें से 8 महिला कार्यकर्ता हैं, जिन्हें रिहा कर दिया जाएगा। AAP सांसद सांसद संजय सिंह को भी हिरासत में लिया गया है, जिन्हें राज्यसभा में हंगामा करने के लिए जाना जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -