Tuesday, July 27, 2021
HomeराजनीतिUP के 2 करोड़ किसानों को सालभर में मिले ₹12000 करोड़: बुंदेलखंड में PM...

UP के 2 करोड़ किसानों को सालभर में मिले ₹12000 करोड़: बुंदेलखंड में PM मोदी ने रखी एक्सप्रेसवे की नींव

"चित्रकूट समेत उत्तर प्रदेश के 2 करोड़ कृषक परिवारों तक 12000 करोड़ रुपए की सीधे मदद पहुँचाई गई है। आप कल्पना कर सकते हैं 12000 करोड़ रुपए। वह भी मात्र साल भर में। बिना बिचौलियों के लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे पहुँचाए गए हैं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेसवे बुंदेलखंड को विकास के रास्ते पर ले जाएगा। करीब 15 हजार करोड़ रुपए की लागत से बनने वाला यह एक्सप्रेसवे यहॉं रोजगार के नए अवसर पैदा करेगा। उन्होंने कृषक उत्पादन संगठन (एफपीओ) का शुभारंभ भी किया। साथ ही बताया कि पूरे उत्तर प्रदेश के करीब दो करोड़ किसान परिवारों के खाते में सालभर में करीब 12 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं।

उन्होंने कहा, “चित्रकूट समेत उत्तर प्रदेश के 2 करोड़ कृषक परिवारों तक 12000 करोड़ रुपए की सीधे मदद पहुँचाई गई है। आप कल्पना कर सकते हैं 12000 करोड़ रुपए। वह भी मात्र साल भर में। बिना बिचौलियों के लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे पहुँचाए गए हैं।” प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक साल पहले डिफेन्स कॉरिडोर और अब 15000 करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाला यह बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे तथा एफपीओ, यह सब न केवल बुंदेलखंड को विकास के राह पर लाएँगे, बुंदेलखंड देश बदलने को तैयार हो रहा है।

रिपोर्ट्स के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी दोपहर करीब डेढ़ बजे चित्रकूट में पहुँचे। सबसे पहले चित्रकूट धाम की ऐतिहासिकता की प्रदर्शनी को देखा और फिर इसके बाद मंच पर पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कार्यक्रम में नानाजी देशमुख के ‘ग्रामोदय से राष्ट्रोदय’ के संकल्प का भी स्मरण किया।मोदी के भाषण के दौरान पंडाल में भारत माता की जय और जय श्रीराम के जयकारे गूँजते रहे। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने इस दौरे के दौरान प्रयागराज में दिव्यांग जनों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए आयोजित हुए एक ‘मेगा कैंप’ में उनकी सहायता के लिए जरूरी सामग्री और टूल्स भी वितरित किए। इस तरह के मेगा कैम्प्स की तारीफ़ करते हुए उन्होंने कहा, “पिछली सरकारों के समय ऐसे कैम्प्स बिरले ही नजर आते थे, लेकिन पिछले 5 सालों में हमारी सरकार के दौरान ऐसे 9000 कैम्प्स देश के विभिन्न भागों में आयोजित किए गए हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘किसानों की आय बढ़ाने के लिए एक 16 सूत्री कार्यक्रम बनाया गया है। सरकार का प्रयास है कि किसान को उसके खेत के कुछ किलोमीटर के दायरे में ही एक ऐसी व्यवस्था मिले, जो उसे देश के किसी भी मार्केट से जोड़ दे और आने वाले समय में ये ग्रामीण हाट कृषि अर्थव्यवस्था के नए केंद्र बनेंगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe