Friday, April 12, 2024
Homeराजनीति'यूपी पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई- राजनीतिक प्रतिशोध': माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी ने राष्ट्रपति...

‘यूपी पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई- राजनीतिक प्रतिशोध’: माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर माँगी सुरक्षा

अपने पत्र में उन्होंने आशंका जताई है कि भाजपा सरकार के इशारे पर उनके पति व विधायक मुख्तार अंसारी और उनके बेटों समेत अन्य परिजनों के साथ कोई भी अनहोनी हो सकती है। इतना ही नहीं अपने पति के लिए उन्होंने सभी मुकदमों की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए करवाए जाने का अनुरोध भी किया है।

उत्तर प्रदेश के गैंगस्टर मुख्तार अंसारी की बीवी ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को अपनी व अपने परिवार की सुरक्षा के लिए पत्र लिखा है। इस बात की सूचना सोमवार (नवंबर 2, 2020) को गाजीपुर से बसपा सांसद अफजल अंसारी ने दी है। उन्होंने सोमवार को अफशा अंसारी का पत्र मीडिया को जारी किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस पत्र में अफशा अंसारी ने उनके परिवार की पृष्ठभूमि का हवाला दिया है। उन्होंने लिखा कि पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी, कॉन्ग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुख्‍तार अंसारी, ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शौकतुल्लाह उनके ही परिवार के हैं। उन्होंने आगे लिखा कि उनके परिवार के ख़िलाफ़ की जा रही कार्रवाई केवल राजनीतिक प्रतिशोध हैं।

अपने पत्र में उन्होंने आशंका जताई है कि भाजपा सरकार के इशारे पर उनके पति व विधायक मुख्तार अंसारी और उनके बेटों समेत अन्य परिजनों के साथ कोई भी अनहोनी हो सकती है। इतना ही नहीं अपने पति के लिए उन्होंने सभी मुकदमों की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए करवाए जाने का अनुरोध भी किया है।

पंजाब की जेल में बंद है मुख्तार अंसारी, यूपी प्रशासन कर रही अवैध संपत्तियों पर कार्रवाई

यहाँ बता दें कि मुख्तार अंसारी इन दिनों पंजाब की जेल में बंद है। पिछले दिनों यूपी पुलिस उसे कोर्ट में पेश करने के लिए पंजाब गई थी, मगर वहाँ बीमारी का हवाला देकर यूपी पुलिस के साथ नहीं आया। इस पर यूपी पुलिस के अधिकारियों ने पंजाब प्रशासन के रवैये पर आपत्ति जताई थी। साथ ही मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस के साथ न भेजे जाने पर कॉन्ग्रेस शासित प्रदेश पंजाब पर कई सवाल भी खड़े किए थे।

इधर, उत्तर प्रदेश सरकार ने उसकी अवैध संपत्तियों पर लगातार प्रहार का सिलसिला जारी रखा था। इसी क्रम में कल माफिया विधायक के अवैध साम्राज्य पर सबसे गहरी चोट करते हुए उसके ‘ताज महल’ गजल होटल को तोड़ा गया।

गाजीपुर के गजल होटल को रविवार (नवंबर 1, 2020) की सुबह ध्वस्त किया गया था। ये मुख़्तार अंसारी की बीवी और बेटों के नाम पर पंजीकृत था। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नियंत्रक प्राधिकारी बोर्ड विनियमित क्षेत्र गाजीपुर ने शनिवार को गजल होटल के मालिक अब्बास अंसारी व उमर अंसारी की अपील खारिज कर दी थी। ये दोनों मऊ से 5वीं बार विधायक चुने गए मुख़्तार अंसारी के बेटे हैं। अपील ख़ारिज होने के साथ ही बुलडोजर चलना तय हो गया था।

दूसरी ओर मुख्तार अंसारी के भाई अफजल अंसारी की पत्नी के ख़िलाफ़ यूपी में इस बीच शिकायत दर्ज हुई थी। फरहत अंसारी पर भी सरकारी संपत्ति पर अवैध कब्जे का आरोप लगा था। शिकायत में कहा गया था कि फरहत सहित अन्य लोगों पर आरोप है कि उन्होंने लखनऊ में फर्जी दस्तावेज के आधार पर सरकारी संपत्ति पर अवैध कब्जा किया। जिसके कारण उनपर सरकारी संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दायर हुआ।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

‘बंगाल बन गया है आतंक की पनाहगाह’: अब्दुल और शाजिब की गिरफ्तारी के बाद BJP ने ममता सरकार को घेरा, कहा- ‘मिनी पाकिस्तान’ से...

बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे में ब्लास्ट करने वाले 2 आतंकी बंगाल से गिरफ्तार होने के बाद भाजपा ने राज्य को आतंकियों की पनाहगाह बताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe