Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाज'माफिया ऑन बेड रेस्ट': मुख्तार अंसारी को लेने गई UP पुलिस को पंजाब से...

‘माफिया ऑन बेड रेस्ट’: मुख्तार अंसारी को लेने गई UP पुलिस को पंजाब से आना पड़ा खाली हाथ, कहा- 3 महीने आराम की मिली है सलाह

मुख्तार अंसारी को यूपी न भेजने पर पंजाब के पुलिस अधिकारियों पर यूपी प्रशासन खासा नाराज है। मामले की गहन मॉनिट्रिंग कर रहे डीजीपी मुख्यालय भी हैरानी में हैं। उनके कहने पर ही गाजीपुर पुलिस ने मुख्तार को लाने के लिए टीम भेजी थी किंतु, वहाँ मेडिकल बोर्ड ने उसका बचाव करते हुए कई रोगों का मरीज बता दिया। साथ ही आराम करने की सलाह दी।

माफिया मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से उत्तरप्रदेश वापस लाने गई यूपी पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। पंजाब पहुँचकर यूपी पुलिस को बताया गया कि अंसारी को डॉक्टर ने 3 माह का बेड रेस्ट कहा है। 

दरअसल, अंसारी के ख़िलाफ़ पिछले कुछ महीनों में कई नए मामले दर्ज हुए हैं। इनमें एक फर्जी नाम पते से शस्त्र लाइसेंस हासिल करने का भी मुकदमा है। इसी बाबत यूपी पुलिस उसे लेने पंजाब गई थी और यहाँ लाकर उसे एमपी/एमएलए कोर्ट में पेश करना चाहती थी। मगर, पंजाब पहुँचकर उनके हाथ सिर्फ़ निराशा लगी। 

रोपड़ जेल में यूपी पुलिस को अंसारी की मेडिकल रिपोर्ट थमा दी गई। रिपोर्ट में मुख्तार को डायबिटीज और डिप्रेशन का शिकार बताया गया। साथ ही ये भी कहा गया कि जेल के मेडिकल बोर्ड ने मुख्तार को बेड रेस्ट की सलाह दी है।

मेडिकल रिपोर्ट

यहाँ गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार यूपी पुलिस पंजाब जाकर मुख्तार अंसारी को प्रदेश लाने की कोशिश करती रही है। हालाँकि हर बार वह बहाने बना कर बचते रहे और इस बार भी जब यूपी पुलिस कोर्ट का ऑर्डर लेकर पहुँची तो उसे मेडिकल सर्टिफिकेट थमा दिया गया। 

उधर, मुख्तार को यूपी न भेजने पर पंजाब के पुलिस अधिकारियों पर यूपी प्रशासन खासा नाराज है। मामले की गहन मॉनिट्रिंग कर रहे डीजीपी मुख्यालय भी हैरानी में हैं। उनके कहने पर ही गाजीपुर पुलिस ने मुख्तार को लाने के लिए टीम भेजी थी किंतु, वहाँ मेडिकल बोर्ड ने उसका बचाव करते हुए कई रोगों का मरीज बता दिया। साथ ही आराम करने की सलाह दी।

बता दें कि मुख्तार अंसारी के ख़िलाफ़ योगी सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है। उसके कई अवैध ठिकानों पर छापेमारी के साथ उसकी पत्नी, उसके दोनों बेटों पर भी केस दर्ज हैं। पुलिस उन सबकी तलाश कर रही है।

दूसरी ओर मुख्तार अंसारी के एक बार दोबारा यूपी न आने से सोशल मीडिया पर तरह तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं। एबीपी न्यूज के पत्रकार विकास भदौरिया लिखते हैं, “माफिया मुख़्तार अंसारी को यूपी पुलिस पंजाब के रोपड़ जेल लेने गई, यूपी पुलिस की गाड़ियाँ मुख़्तार को लेने के लिए खड़ी रही, आख़िर में जेल प्रशासन ने डायबटीज़, डिप्रेशन की मेडिकल रिपोर्ट देकर कहा कि मुख़्तार को नहीं भेज सकते, सवाल ये है पंजाब सरकार मुख़्तार को क्यों बचा रही है?”

सीएम योगी के सूचना सलाहकार शलब मणि त्रिपाठी कहते हैं, “माफिया ऑन बेडरेस्ट- सुना है कभी, तो देखिए कैसे प्रियंका और उनकी सरकार मुख्तार जैसे दुर्दांत को बचाने में जुटी है। योगी जी की ‘TUV’ जब-जब मुख़्तार को पंजाब से यूपी लाने जाती है, तब-तब पंजाब सरकार मुख़्तार की मददगार बन खड़ी हो जाती। पं कृष्णानंद के हत्यारों से क्या डील है प्रियंका जी।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe