Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिजिस महिला अधिकारी से सपा MLA अबू आजमी ने की बदसलूकी, उसका उद्धव सरकार...

जिस महिला अधिकारी से सपा MLA अबू आजमी ने की बदसलूकी, उसका उद्धव सरकार ने कर दिया ट्रांसफर

महिला पुलिस अधिकारी को अपमानित करने के बाद आजमी ने उनका ट्रांसफर करने की मॉंग की थी। इसके बाद दबाव में शालिनी शर्मा का ट्रांसफर मुंबई के चेंबुर पुलिस स्टेशन में कर दिया गया है।

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार ने पुलिस अधिकारी शालिनी शर्मा का ट्रांसफर कर दिया है। मुंबई के नागपाड़ा पुलिस स्टेशन की इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा के साथ सपा विधायक अबू आजमी के बदसलूकी का वीडियो सामने आया था।

महिला पुलिस अधिकारी को अपमानित करने के बाद आजमी ने उनका ट्रांसफर करने की मॉंग की थी। इसके बाद दबाव में शालिनी शर्मा का ट्रांसफर मुंबई के चेंबुर पुलिस स्टेशन में कर दिया गया है।

हालाँकि महाराष्ट्र पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि शालिनी शर्मा ने खुद ट्रांसफर की माँग की थी। उनकी माँग स्वीकार करते हुए ट्रांसफर किया गया है। लेकिन उनका ट्रांसफर आजमी द्वारा धमकाए जाने का वीडियो सामने आने के एक दिन बाद हुआ है।

शर्मा के तबादले को लेकर बीजेपी के पूर्व सांसद किरीट सौमैया ने उद्धव सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि विधायक अबू आजमी ने एक महिला को गाली दी। सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियाँ उड़ाई। भीड़ को भड़काया। इस दौरान किसी ने मास्क तक नहीं पहना था। बावजूद इसके उनके खिलाफ कार्रवाई करने की बजाए सरकार ने महिला पुलिस अधिकारी के खिलाफ ही कार्रवाई कर दी।

बता दें समाजवादी पार्टी की महाराष्ट्र राज्य शाखा के अध्यक्ष अबू आज़मी सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ नागपाड़ा पुलिस स्टेशन के बाहर धरने पर बैठ गए थे। आजमी ने शर्मा के सस्पेंड करने की माँग करते हुए कहा था, “ये औरत कहती है कि आप पुलिस पे इल्जाम लगाते हो, मैं बात नहीं करूँगी। तेरे बाप के बाप के बाप को बात करनी पड़ेगी।”

आज़मी ने शर्मा को उनकी शिकायत गृहमंत्री से भी करने के धमकी दी थी। आज़मी ने महिला अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि पुलिस ने उनकी शिकायत सुनने से इनकार कर दिया था और उन्हें स्टेशन से जाने के लिए भी कहा था।

आज़मी कहा, “मैं एक जनप्रतिनिधि हूँ, मैं कोई आम आदमी नहीं हूँ। मुझे जनता ने चुना है और हम सरकार के सामने अपने सवाल उठाएँगे। प्रवासी मजदूरों की स्थिति को लेकर पूरी दुनिया भारत की आलोचना कर रही है।”

पुलिस अधिकारी से तीखी बहस करने के बाद सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियाँ उड़ाते हुए आज़मी ने सैकड़ों समर्थकों के साथ पुलिस स्टेशन के सामने इकट्ठा होकर नारेबाजी करने लगे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -