Saturday, July 2, 2022
Homeराजनीतिनूपुर शर्मा की तलाश में 4 दिन से दिल्ली की खाक छान रही मुंबई...

नूपुर शर्मा की तलाश में 4 दिन से दिल्ली की खाक छान रही मुंबई पुलिस, पैगम्बर मुहम्मद विवाद में पर्याप्त सबूत होने का दावा

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने दिल्ली पुलिस पर ही सवाल उठा दिया है। उन्होंने दिल्ली पुलिस पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है।

पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर कथित टिप्पणी को लेकर खड़े हुए विवाद के बीच भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को गिरफ्तार करने के लिए मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने दिल्ली में डेरा डाल रखा है। महाराष्ट्र गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि मुंबई पुलिस ने पैगंबर मुहम्मद पर विवादित टिप्पणी के मामले में शर्मा को गिरफ्तार करने के लिए ‘पर्याप्त सबूत’ हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मुंबई पुलिस बीते चार दिनों से नूपुर शर्मा को ढूँढ रही है, लेकिन अब तक उसे सफलता नहीं मिली है। मुंबई पुलिस के पाइधोनी पुलिस स्टेशन ने नूपुर शर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है और गृह विभाग के सूत्रों ने कहा कि पुलिस के पास शर्मा को गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं। मुंबई पुलिस के अलावा, नूपुर शर्मा के खिलाफ ठाणे पुलिस कमिश्नरेट में भी केस दर्ज है।

इस बीच मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने दिल्ली पुलिस पर ही सवाल उठा दिया है। उन्होंने दिल्ली पुलिस पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है। पाटिल ने कहा, “यह सच है। महाराष्ट्र पुलिस की कोशिशें जारी हैं और दिल्ली पुलिस को भी सहयोग करना चाहिए।”

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि भाजपा से निलंबित चल रहीं नूपुर शर्मा पर आरोप है कि उन्होंने एक टीवी डिबेट के दौरान कथित तौर पर पैगंबर मुहम्मद पर एक टिप्पणी की थी। इसी को लेकर इस्लामिक कट्टरपंथियों ने उनके खिलाफ केस दर्ज कराए। महाराष्ट्र में शर्मा के खिलाफ कई सारे केस दर्ज किए गए थे। इस मामले में उन्हें महाराष्ट्र के भिवंडी पुलिस स्टेशन ने नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए तलब किया था। उन्हें 13 जून को ही पूछताछ के लिए पेश होने को कहा गया था। हालाँकि, शर्मा ने पेश होने के लिए समय माँगा था। इतना ही नहीं नूपुर शर्मा को महाराष्ट्र पुलिस के अलावा कोलकाता पुलिस ने भी 20 जून को पूछताछ के लिए तलब किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe