Wednesday, May 18, 2022
Homeराजनीति'AAP ने मेरे विजन को हमेशा पहचाना, उन्हें पता है मैं पंजाब के लिए...

‘AAP ने मेरे विजन को हमेशा पहचाना, उन्हें पता है मैं पंजाब के लिए लड़ रहा’: सिद्धू के सियासी तीर ने बढ़ाई पंजाब में हलचल

''AAP ने हमेशा पंजाब के लिए मेरे काम और विजन को पहचाना है। चाहे 2017 से पहले हो- बेअदबी, ड्रग्स, किसान मुद्दों, भ्रष्टाचार और बिजली संकट जैसे मुद्दे जो मैंने पंजाब के लोगों के लिए उठाए या फिर आज जिस पंजाब मॉडल के लिए मैं बात कर रहा हूँ। यह साफ है कि वे जानते हैं कि कौन वास्तव में पंजाब के लिए लड़ रहा है।''

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच जारी विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसी बीच सिद्धू के एक और बयान ने पंजाब का सियासी पारा बढ़ा दिया है। मंगलवार (13 जुलाई 2021) को अपने ताजा ट्वीट में सिद्धू ने एक वीडियो क्लिप शेयर किया है। इसमें आम आदमी पार्टी के नेता उनकी सराहना करते हुए नजर आ रहे हैं।

सिद्धू ने ट्वीट किया, ”हमारे विपक्ष आम आदमी पार्टी (AAP) ने हमेशा पंजाब के लिए मेरे काम और विजन को पहचाना है। चाहे 2017 से पहले हो- बेअदबी, ड्रग्स, किसान मुद्दों, भ्रष्टाचार और बिजली संकट जैसे मुद्दे जो मैंने पंजाब के लोगों के लिए उठाए या फिर आज जिस पंजाब मॉडल के लिए मैं बात कर रहा हूँ। यह साफ है कि वे जानते हैं कि कौन वास्तव में पंजाब के लिए लड़ रहा है।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पंजाब सरकार के पूर्व मंत्री सिद्धू ने सोशल मीडिया पर ‘आप’ के सांसद और पंजाब प्रमुख भगवंत मान को जवाब देते हुए आम आदमी पार्टी की तारीफ की थी। बताया जा रहा है कि सिद्धू ने यह पोस्ट भगवंत मान के उस सवाल पर लिखा था, जिसमें उन्होंने पूछा था कि सिद्धू थर्मल प्लांट द्वारा कॉन्ग्रेस को चंदा दिए जाने के मुद्दे पर चुप क्यों हैं।

हालाँकि, कुछ देर बाद सिद्धू ने एक और ट्वीट किया। सिद्धू ने लिखा, “विपक्ष की मुझसे सवाल करने की हिम्मत है, लेकिन वह मेरे जनता के प्रति भाव पर कुछ नहीं कह सकते।”

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही सिद्धू ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा था। सिद्धू ने ट्वीट किया था, ”प्रदेश को दिल्ली मॉडल की नहीं, बल्कि पंजाब मॉडल की जरूरत है। नीति पर काम न करने वाली राजनीति महज नकारात्मक प्रचार है और लोकपक्षीय एजेंडे से वंचित नेता राजनीति सिर्फ बिजनेस के लिए करते हैं। इसलिए विकास बगैर राजनीति उनके लिए कोई मायने नहीं रखती है।” 

बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच पिछले कई दिनों से आपसी खींचतान चल रही है। पंजाब में बिजली की स्थिति पर शुक्रवार (2 जुलाई 2021) को कॉन्ग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान किए गए बिजली खरीद समझौते (PPA) को रद्द करने के लिए नया कानून लाने का आग्रह किया था।

परोक्ष रूप से मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने कहा था कि अगर राज्य ‘सही दिशा में’ काम करता है, तो पंजाब में बिजली कटौती या कार्यालय के समय को विनियमित करने की कोई आवश्यकता नहीं होगी। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि सिद्धू पर प्रदेश की बिजली कंपनी का आठ लाख रुपए से अधिक का बकाया है। पंजाब राज्य विद्युत् निगम लिमिटेड (PSPCL) की वेबसाइट के अनुसार, अमृतसर स्थित सिद्धू के घर का बिजली बिल 9 महीने से नहीं भरा गया है और कुल बिल 8,67,540 हो गया है जो अब तक जमा नहीं किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सबा नकवी ने एटॉमिक रिएक्टर को बता दिया शिवलिंग, विरोध होने पर डिलीट कर माँगी माफ़ी: लोग बोल रहे – FIR करो

सबा नकवी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में सबसे बड़े शिवलिंग की खोज हुई। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड बता कर किया शेयर।

गुजरात में बुरी तरह फेल हुई AAP की ‘परिवर्तन यात्रा’, पंजाब से बुलाई गाड़ियाँ और लोग: खाली जगह की ओर हाथ हिलाते रहे नेता

AAP नेता और पूर्व पत्रकार इसुदान गढ़वी रैली में हाथ दिखाकर थक चुके थे लेकिन सामने कोई उनकी बात का जवाब नहीं दे रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,677FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe