Saturday, July 24, 2021
Homeराजनीतिभारत के स्वतंत्रता संग्राम में जिन्ना का अहम योगदान: राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस नेता ने चला...

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में जिन्ना का अहम योगदान: राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस नेता ने चला मुस्लिम कार्ड

शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से कॉन्ग्रेस के उम्मीदवार हैं। उनका मुक़ाबला भाजपा के रविशंकर प्रसाद से होगा। दशकों से भाजपा में रहे सिन्हा हाल ही में पार्टी छोड़कर कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए थे।

राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी ने शत्रुघ्न सिन्हा के उस बयान का बचाव किया है जिसमें उन्होंने मोहम्मद अली जिन्ना को कॉन्ग्रेस परिवार का हिस्सा बताया था। पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की प्रशंसा करने के कारण विवादों में आए शत्रुघ्न सिन्हा का बचाव करते हुए एनसीपी नेता मजीद मेमन ने कहा कि शत्रुघ्न सिन्हा कल तक भाजपा के साथ थे, इसीलिए उन्होंने अगर कुछ देश-विरोधी बात कही भी है तो ये भाजपा की शिक्षा है। मेमन ने कहा कि अमित शाह को याद रखना चाहिए कि सिन्हा कुछ दिनों पहले तक उनके ही साथ थे। जिन्ना का बचाव करते हुए मेमन ने भारत की स्वतंत्रता संग्राम में उनका ‘अहम योगदान’ बताया। उन्होंने कहा कि जिन्ना को लेकर सिन्हा द्वारा दिए गए बयान पर लोग आपत्ति इसीलिए जता रहे हैं क्योंकि जिन्ना एक मुस्लिम थे।

हाल ही में शत्रुघ्न सिन्हा ने मोहम्मद अली जिन्ना के बारे में कहा था,

“कॉन्ग्रेस परिवार महात्मा गाँधी से लेकर सरदार वल्लभ भाई पटेल तक, मोहम्मद अली जिन्ना से लेकर जवाहर लाल नेहरू तक, इंदिरा गाँधी से लेकर राजीव गाँधी और राहुल गाँधी तक की पार्टी है। भारत की आज़ादी और विकास में इन सभी का योगदान है। इसलिए मैं कॉन्ग्रेस पार्टी में आया हूँ। और, एक बार आ गया हूँ तो पहली और शायद आख़िरी बार कॉन्ग्रेस पार्टी में तो मुड़कर कहीं वापस नहीं जाऊँगा।”

बाद में इस बयान को लेकर चौतरफा आलोचना से घिरे शत्रुघ्न सिन्हा ने ‘ज़बान फिसलने’ का बहाना बनाया था। उन्होंने कहा कि वो मौलाना आज़ाद का नाम लेना चाह रहे थे लेकिन ग़लती से मुँह से जिन्ना का नाम निकल गया। उन्होंने माफ़ी माँगने से इनकार करते हुए कहा कि उनसे कोई ग़लती नहीं हुई है। अब मज़ीद मेमन ने सिन्हा के इसी बयान का बचाव किया है। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से कॉन्ग्रेस के उम्मीदवार हैं।उनका मुक़ाबला भाजपा के रविशंकर प्रसाद से होगा। दशकों से भाजपा में रहे सिन्हा हाल ही में पार्टी छोड़कर कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए थे।

कॉन्ग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी सिन्हा के इस बयान से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि उनके जो भी विचार हैं, उसे उन्हें ही एक्सप्लेन करनी चाहिए। चिदंबरम ने उल्टा भाजपा से सवाल पूछ दिया कि सिन्हा अब तक भाजपा में क्यों थे? उन्होंने झल्लाते हुए कहा कि उन्हें पार्टी के हर सदस्य के बयानों पर सफाई नहीं देनी है। शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी लखनऊ से सपा उम्मीदवार हैं और उनके लिए लखनऊ में शत्रुघ्न चुनाव प्रचार भी कर चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

पेगासस विवाद के पीछे बीडीएस या कतर, वॉशिंगटन पोस्ट की संपादक ने भी फोन नम्बरों की पुष्टि से किया इनकार: एनएसओ सीईओ

स्पाइवेयर पेगासस के मालिक एनएसओ ग्रुप के सीईओ ने कहा, ''मौजूदा 'स्नूपगेट' विवाद के पीछे बीडीएस मूवमेंट या कतर का हाथ हो सकता है।''

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,047FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe