Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिकेजरीवाल को चुनाव आयोग का नोटिस, 31 जनवरी तक देना होगा जवाब

केजरीवाल को चुनाव आयोग का नोटिस, 31 जनवरी तक देना होगा जवाब

बीजेपी की शिकायत का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने गुरुवार को अरविंद केजरीवाल को नोटिस जारी कर शुक्रवार शाम 5 बजे तक हर हाल में जवाब देने के लिए कहा है। वहीं किसी भी स्थित में नोटिस का जवाब ने देने पर आयोग फ़िर से आगे की कार्रवाई करेगा।

दिल्ली में चल रहे चुनाव प्रचार के बीच चुनाव आयोग ने केजरीवाल को एक नोटिस जारी किया है। आचार संहिता उल्लंघन मामले में जारी नोटिस का जवाब केजरीवाल को 31 जनवरी तक देना होगा।

बीते 13 जनवरी को मकरसंक्रांति के अवसर पर तीस हजारी कोर्ट में आयोजित एक कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि हमें जगह मिले तो कोर्ट और बार में भी मोहल्ला क्लीनिक खोल देंगे। हम दिल्ली के सभी कोने में मोहल्ला क्लीनिक खोलने के लिए तैयार हैं, जिसके लिए 3-4 कमरों की आवश्यकता होती है। केजरीवाल द्वारा दिए गए इस बयान की बीजेपी ने अगले ही दिन 14 जनवरी को चुनाव आयोग से शिकायत कर दी और कहा कि केजरीवाल ने आचार संहिता का उल्लंघन किया है, जिस पर चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए।

चुनाव आयोग द्वारा केजरीवाल को जारी किया गया नोटिस

चुनाव आयोग द्वारा केजरीवाल को जारी किया गया नोटिस

बीजेपी की शिकायत का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने गुरुवार को अरविंद केजरीवाल को नोटिस जारी कर शुक्रवार शाम 5 बजे तक हर हाल में जवाब देने के लिए कहा है। वहीं किसी भी स्थित में नोटिस का जवाब ने देने पर आयोग फ़िर से आगे की कार्रवाई करेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe