Wednesday, July 28, 2021
Homeरिपोर्टमीडियासांसद नुसरत जहाँ और मिमी के साथ हुई संसद के बाहर धक्का-मुक्की

सांसद नुसरत जहाँ और मिमी के साथ हुई संसद के बाहर धक्का-मुक्की

जब मीडियाकर्मियों ने निकलने का रास्ता नहीं दिया तो मिमी चक्रबर्ती नुसरत के पीछे जाकर खड़ी हो गईं। इस दौरान दोनों सांसद वापस संसद में लौटने लगीं। ऐसे में सुरक्षा बलों ने हस्तक्षेप करके उन्हें निकलने का रास्ता दिया।

मंगलवार (जून 25, 2019) को तृणमूल कॉन्ग्रेस की सांसद नुसरत जहाँ रूही जैन और मिमी चक्रवर्ती ने लोकसभा सदस्यता की शपथ ली। नुसरत बंगाल की बशीरहाट लोकसभा सीट से जीतीं हैं, जबकि मिमी बंगाल की जाधवपुर लोकसभा सीट से निर्वाचित हुईं। अभिनेत्री से सांसद बनीं नुसरत और मिमी ने बांग्ला भाषा में लोकसभा सदस्यता की शपथ ली। लेकिन संसद से बाहर निकलते समय दोनों को धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा।

नुसरत और मिमी चक्रवर्ती को संसद के बाहर मीडिया ने घेर लिया। इस दौरान उनके साथ थोड़ी धक्का-मुक्की हो गई, इस पर दोनों सांसदों ने कहा- ‘धक्का न दें।’

मीडिया के सवालों का जवाब देने के बाद नुसरत और मिमी, दोनों सदन में वापस लौटने की कोशिश करने लगीं। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने उनके लिए रास्ता बनाया। लेकिन उनके सिक्योरिटी वालों को धक्का लगा, इस पर उन्होंने कहा, “आप धक्का नहीं मार सकते सर, समझिए बात को।” (You cannot push us sir, please try to understand) इसके बाद नुसरत और मिमी ने मीडिया को दूर कर के वहीं से तस्वीर लेने को कहा।

जब मीडियाकर्मियों ने निकलने का रास्ता नहीं दिया तो मिमी चक्रबर्ती नुसरत के पीछे जाकर खड़ी हो गईं। इस दौरान दोनों सांसद वापस संसद में लौटने लगीं। ऐसे में सुरक्षा बलों ने हस्तक्षेप करके उन्हें निकलने का रास्ता दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe