Wednesday, September 28, 2022
Homeराजनीतिड्राइवर और गाड़ी छोड़ भाग खड़े हुए पी चिदंबरम, फोन भी स्विच ऑफ, अंतिम...

ड्राइवर और गाड़ी छोड़ भाग खड़े हुए पी चिदंबरम, फोन भी स्विच ऑफ, अंतिम लोकेशन लोधी रोड

ईडी ने चिदंबरम के ख़िलाफ़ लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिया है, जिसके बाद वह विदेश नहीं भाग पाएँगे।

पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम गिरफ़्तारी से बचने के लिए कहाँ छिपे हुए हैं, किसी को नहीं पता। उनका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ हो गया है। कुछ नई जानकारियाँ आई हैं, जिनके मुताबिक पी चिदंबरम ने मंगलवार (अगस्त 19, 2019) को सुप्रीम कोर्ट के प्रांगण से निकलने के बाद अपने ड्राइवर को भी साथ नहीं लिया। अर्थात, वह अपने ड्राइवर को छोड़ कर ही भाग खड़े हुए। उनके फोन का अंतिम लोकेशन लोधी रोड के आसपास पाया गया है।

जिस कार से वह सुप्रीम कोर्ट पहुँचे थे, उन्होंने वह गाड़ी भी वहीं छोड़ दी। इसका मतलब यह है कि राज्यसभा सांसद चिदंबरम अपनी आधिकारिक गाड़ी से यात्रा नहीं कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा कि वर्षों तक केंद्रीय मंत्री रहे नेता का इस तरह से क़ानून की नज़रों से छिपना शोभा नहीं देता।

प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम के ड्राइवर से पूछताछ की लेकिन उसे भी नहीं पता कि चिदंबरम कहाँ छिपे हुए हैं। चिदंबरम के वकीलों ने जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। मामले को अर्जेन्ट सुनवाई के लिए लिस्ट किया गया है। फिलहाल सीजेआई गोगोई राम मंदिर मामले की सुनवाई में व्यस्त हैं। उधर ईडी ने चिदंबरम के ख़िलाफ़ लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिया है, जिसके बाद वह विदेश नहीं भाग पाएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोगों में डर पैदा करने के लिए RSS कार्यकर्ता से लेकर हिंदू नेता तक हत्या: मर्डर से पहले PFI-SDPI के लोग रचते थे साजिश,...

देश के लोगों द्वारा लंबे समय से जिस चीज की माँग की जा रही थी, अंतत: केंद्र की मोदी सरकार ने PFI पर प्रतिबंध लगाकर उसे पूरा कर दिया।

‘मन की अयोध्या तब तक सूनी, जब तक राम न आए’: PM मोदी ने याद किया लता दीदी का भजन, अयोध्या के भव्य ‘लता...

पीएम मोदी ने बताया कि जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन संपन्न हुआ था, तो उनके पास लता दीदी का फोन आया था, वो काफी खुश थीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe