जो लोग सत्ता में वो असली टुकड़े-टुकड़े गैंग, हर देशभक्त भारतीय को चिंतित होना चाहिए: पी चिदंबरम

"जो लोग सत्ता में हैं वो असली टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं।" चिदंबरम ने कहा, "भारत जिस दिशा में बढ़ रहा है उससे दुनिया सशंकित है। हर देशभक्त भारतीय को चिंतित होना चाहिए।"

साल 2019 में 106 दिन तक तिहाड़ में रहने के बाद कॉन्ग्रेस के दिग्गज़ नेता पी चिदंबरम अभी पिछले महीने जेल से रिहा हुए और तब से वे लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं। इसी कड़ी में उन्होंने आज मोदी सरकार पर एक बार फिर से निशाना साधने की कोशिश की है। उन्होंने आज नागरिकता संशोधन कानून और अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर सवाल उठाए हैं।

पी चिदंबरम ने अमेरिकी पत्रिका के लोकतंत्र सूचकांक को आधार बनाकर मोदी सरकार को घेरा है। जिसमें भारत ने अपनी रैंकिंग में गिरावट दर्ज की है। इस रैंकिंग के आधार पर कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार में लोकतांत्रिक संस्थाओं को शक्तिहीन किया गया है और सत्ता में बैठे लोग असली ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ हैं।

उल्लेखनीय है कि पूर्व गृह मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, “भारत लोकतंत्र सूचकांक में 10 स्थान लुढ़क गया। पिछले दो साल के राजनीतिक घटनाक्रमों पर नजदीकी नजर रखने वाला कोई भी व्यक्ति यह जनता है कि लोकतंत्र को कुचला गया है और लोकतांत्रिक संस्थाओं को शक्तिहीन किया गया है।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद उन्होंने आरोप लगाया, “जो लोग सत्ता में हैं वो असली टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं।” चिदंबरम ने कहा, “भारत जिस दिशा में बढ़ रहा है उससे दुनिया सशंकित है। हर देशभक्त भारतीय को चिंतित होना चाहिए।”

यहाँ बता दें कि आज सत्ताधारियों को टुकड़े-टुकड़े गैंग का हिस्सा बताने वाले कॉन्ग्रेस नेता पी चिंदंबरम और उनकी पार्टी सत्ता में खुद भी 10 साल तक रही है। लेकिन शायद उन्हें ये नहीं याद कि उन्होंने कॉमनवेल्थ, टाटा ट्रक और नौसेना टोही विमान जैसे घोटालों को करके किस तरह देश को चूना लगाया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: