Tuesday, August 3, 2021
Homeराजनीति'बंगाली और बिहारी में भेदभाव नहीं करती हूँ' कहकर जय श्री राम नारा लगाने...

‘बंगाली और बिहारी में भेदभाव नहीं करती हूँ’ कहकर जय श्री राम नारा लगाने वालों को ममता ने फिर किया गिरफ्तार

बाद में धरना स्थल पर पहुँची ममता बनर्जी ने कहा, "मैं बंगाली और बिहारी में भेदभाव नहीं करती हूँ, लेकिन कुछ लोग भाजपा से पैसे लेकर आज मुझ पर हमला कर रहे थे।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में ना जाने के बाद ममता बनर्जी एकबार फिर ‘राम भक्तों‘ पर अपनी भड़ास निकालते हुए देखी गई हैं। कुछ दिनों पहले मेदनीपुर में ममता बनर्जी के काफिले के सामने जय श्री राम का नारा देने वाले लोगों पर न केवल ममता बनर्जी भड़की थी, बल्कि गाड़ी रोक कर गाली-गलौज देने का आरोप लगा दिया था। यही नहीं, बाद में उन्हें गिरफ्तार भी करवा दिया गया था।

इसी तरह का एक मामला कोलकाता के बैरकपुर इलाके से सामने आया है। बृहस्पतिवार शाम को ममता बनर्जी नैहाटी में आयोजित होने वाले धरना प्रदर्शन में भाग लेने जा रही थी। रास्ते में रिलायंस जूट मिल के सामने कुछ लोगों ने ममता बनर्जी के काफिले के सामने जय श्री राम का नारा लगाया।

ममता बनर्जी के काफिले के सामने लगे जय श्रीराम के नारे के बाद ममता दीदी भड़क उठी और उन्होंने नारा लगाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश पुलिस को दिया। बाद में धरना स्थल पर पहुँची ममता बनर्जी ने कहा, “मैं बंगाली और बिहारी में भेदभाव नहीं करती हूँ, लेकिन कुछ लोग भाजपा से पैसे लेकर आज मुझ पर हमला कर रहे थे।”

ममता बनर्जी ने भाजपा को चैलेंज करते हुए कहा, “बैरकपुर सीट से दिनेश त्रिवेदी महज कुछ वोटों से हारे हैं, और मैं भाजपा को चैलेंज देती हूँ कि अगर मैं जिंदा रही, तो आने वाले विधानसभा चुनाव में वह यहाँ से एक भी सीट नहीं जीत पाएँगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमित शाह ने बना दी असम-मिजोरम के बीच की बिगड़ी बात, अब विवाद के स्थायी समाधान की दरकार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों के पश्चात दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जिस तरह की सतर्कता और संयम दिखाया है उसका स्वागत होना चाहिए।

वे POK क्रिकेट लीग के चीयरलीडर्स, इधर कश्मीर पर भी बजाते हैं ‘अमन’ का झुनझुना: Pak वालों से ही सीख लो सेलेब्रिटियों

शाहिद अफरीदी, राहत फ़तेह अली खान और शोएब अख्तर कभी इस्लाम और पाकिस्तान के खिलाफ नहीं जा सकते, गलत या सही। भारतीय सेलेब्स इनसे क्या सीखे, जानिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe