Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिराम मंदिर-RSS के खिलाफ जहर उगलकर मुस्लिमों को डराने वाले PFI नेता अनीस अहमद...

राम मंदिर-RSS के खिलाफ जहर उगलकर मुस्लिमों को डराने वाले PFI नेता अनीस अहमद के खिलाफ होगी कार्रवाई, कर्नाटक के गृहमंत्री ने भाषण को बताया देशविरोधी

अनीस अहमद ने पीएफआई के गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को ‘हीरो’ बताते हुए अपने समर्थकों व मुस्लिमों से कहा कि उन लोगों का बहिष्कार करें जो राम मंदिर के लिए चंदा इकट्ठा कर रहे हैं, जिस तरह उन्होंने एनआरसी का विरोध किया।

कर्नाटक (Karnataka) के गृहमंत्री बासवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के महासचिव अनीस अहमद के भाषण को ‘देश विरोधी’ और ‘नफरत भरा’ करार दिया है। शुक्रवार (फरवरी 19, 2021) को बोम्मई ने कहा कि उन्होंने पुलिस से इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा है।

मुस्लिमों को डराने की कोशिश करते हुए आरएसएस-राम मंदिर के खिलाफ उगला था जहर

बासवराज बोम्मई मंगलुरू के नजदीक उल्लाल में गुरुवार को ‘पॉपुलर फ्रंट डे’ के अवसर पर पीएफआई के महासचिव अनीस अहमद (Anees Ahmed) के भाषण पर प्रतिक्रिया जता रहे थे। 7 फरवरी को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के स्थापना दिवस पर मंगलुरू में PFI महासचिव अनीस अहमद ने जहरीला भाषण दिया। भाषण में अनीस अहमद ने केंद्र की भाजपा सरकार और आरएसएस के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

अहमद ने आरोप लगाए कि पीएफआई को लगातार निशाना बनाया जाता रहेगा। उन्होंने पीएफआई के गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को ‘हीरो’ बताया। साथ ही उन्होंने अनुयायियों व मुस्लिमों से कहा कि उन लोगों का बहिष्कार करें जो राम मंदिर के लिए चंदा इकट्ठा कर रहे हैं, जिस तरह उन्होंने एनआरसी का विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह ‘आरएसएस का मंदिर है न कि राम का मंदिर है।’

बोम्मई ने कहा, ‘‘उन्होंने देश के खिलाफ बोला है, संविधान के खिलाफ बोला है। यह देश विरोधी भाषण है, नफरत भरा भाषण है जो देश के लोगों के बीच विभाजन करने का प्रयास है। खासकर उन्होंने आरएसएस के बारे में बात की है, जो देश के सबसे अधिक देशभक्त संगठनों में एक है।’’

राज्य के गृहमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि पीएफआई नेता ने राम मंदिर के बारे में बात की जबकि उच्चतम न्यायालय ने इसके निर्माण की अनुमति दी है। मंत्री ने कहा, ‘‘पीएफआई ने कई बार अपना असली रंग दिखाया है। यह सर्वाधिक देश विरोधी और गैर जिम्मेदाराना बयान है। मैंने स्थानीय पुलिस से पूरे मामले का संज्ञान लेने और कार्रवाई करने के लिए कहा है।’’

गौरतलब है कि कर्नाटक के मंगलुरू में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के महासचिव अनीस अहमद ने आरएसएस और राम मंदिर के नाम पर भड़काऊ भाषण दिया था। अनीस अहमद ने मुसलमानों को RSS के नाम पर डराया भी और भड़काया भी। इसके बाद मुसलमानों ये ये भी कहा कि अगर अपनी आवाज़ नहीं उठाई, तो उन्हें कुचल दिया जाएगा।

उसने CAA से लेकर दिल्ली दंगे और किसान आंदोलन हर चीज़ का ज़िक्र किया और एजेंडा बिल्कुल साफ था मुसलमानों के मन में जहर घोलना। अनीस ने कहा- “इंडिया का असल दुश्मन बिना किसी संदेह के आरएसएस है। कोविड आया चला गया… पोलिया आया चला गया। इसके लिए वैक्सीन भी आ जाती है लेकिन आरएसएस ऐसा एक वायरस है जिसके लिए अभी कोई वैक्सीन नहीं आई है। इंशा अल्लाह वो वैक्सीन पॉपुलर फ्रंट लेकर आएगा।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,765FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe