Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिअब इधर-ऊधर नहीं होऊँगा: औरंगाबाद में मंच से नीतीश कुमार ने पीएम मोदी से...

अब इधर-ऊधर नहीं होऊँगा: औरंगाबाद में मंच से नीतीश कुमार ने पीएम मोदी से किया वादा, कहा- हम मिलकर बिहार का विकास करेंगे

बिहार के जंगलराज को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा, "एक वो दौर था, जब बिहार के लोग अपने ही घरों से निकलने में डरते थे। एक ये दौर है, जब बिहार में पर्यटन की संभावनाएँ विकसित हो रही हैं। बिहार को वंदेभारत और अमृत भारत जैसी आधुनिक ट्रेनें मिलीं। अमृत स्टेशनों का विकास किया जा रहा है।"

झारखंड और बंगाल के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार (2 मार्च 2024) को बिहार के औरंगाबाद पहुँचे। वहाँं उन्होंने कई परियोजनाओं की घोषणा की। इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीएम मोदी की आगवानी की और मंच से कहा कि अब वे NDA गठबंधन को छोड़कर कहीं नहीं जाएँगे। इस दौरान पीएम मोदी भी ठहाके लगाकर हँसते हुए नजर आए।

औरंगाबाद में पीएम की उपस्थिति में जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा, “आज मैं अभिनंदन करता हूँ कि आप फिर पधारे हैं यहाँ। आज हमलोगों के लिए बड़ी खुशी की बात है। आप पहले आए थे, लेकिन इधर हम गायब हो गए थे। अब हम फिर आपके साथ हैं। अब आपको आश्वस्त करते हैं कि हम इधर-उधर होने वाले नहीं हैं। हम रहेंगे आप ही के साथ।”

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, “अब जरा तेजी से यहाँ वाला काम हो जाए। हम लोग तो 2005 से एक साथ ही हैं। हम लोग मिलकर लगातार कितना काम किए हैं। हम लोग आपस में मिलजुल कर सारा काम किए हैं। हम चाहते हैं कि सबकी आर्थिक स्थित बेहतर हो जाए। मुझे पूरा भरोसा है कि प्रधानमंत्री जी बिहार आते रहेंगे।”

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इस बार के चुनाव में उन्हें पूरा भरोसा है कि पीएम मोदी 400 सीट जीतेंगे। अन्य विपक्षी पार्टियों पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, “बाकी लोग जो इधर-उधर कर रहा है, उनका कुछ नहीं होने वाला है।” पीएम की ओर देखते हुए कहा नीतीश कुमार ने कहा, “बिहार में जो भी विकास होता रहेगा, उसका क्रेडिट हम आपको देते रहेंगे।”

इस दौरान नीतीश कुमार भी मंच से हँसते हुए नजर आए। इसके अलावा मंच पर बैठे अन्य लोगों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ठहाके लगाते रहे। दूसरी तरफ सभा में मौजूद सभी लोग जोर-जोर से मोदी के नारे भी लगाने लगे। इसके बाद नीतीश कुमार ने कहा, “हमें एक साथ जुट कर काम करना है और एक दूसरे से विवाद नहीं करना है।”

इस दौरान दोनों नेताओं के बीच एक गजब की कमेस्ट्री दिखी। पीएम मोदी जैसे ही मंच पर पहुँचे तो एक बड़ा-सा माला लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा, सम्राट चौधरी और गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय लेकर आए और पीएम मोदी को पहनाने लगे। उस दौरान पीएम मोदी ने सीएम नीतीश का हाथ पकड़ा और उन्हें माला के अंदर खींच लिया। पीएम ने जब ऐसा किया तो नीतीश कुमार मुस्कुरा रहे थे।

बता दें कि 10 मई 2009 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले लुधियाना में NDA की रैली थी। इस रैली में लालकृष्ण आडवाणी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की योजना थी। इसलिए NDA शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों को बुलाया गया था। इस वजह से बतौर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी वहाँ पहुँचे थे।

उस दौरान नीतीश कुमार ने मंच पर जैसे ही कदम रखा तो दूसरी तरफ से नरेंद्र मोदी आए और नीतीश कुमार का हाथ पकड़ कर ऊपर उठा दिया था। अखबारों में जब यह फोटो छपी तो नीतीश कुमार नाराज हो गए। इतना ही नहीं, लुधियाना से पटना लौटने के बाद नीतीश कुमार ने कहा था कि मोदी ने उनकी इच्छा के खिलाफ उनका हाथ उठाया था। बाद में दोनों अलग अलग हो गए थे।

साल 2009 में लुधियाना की रैली में गुजरात के तत्कालीन सीएम मोदी और बिहार के नीतीश कुमार (साभार: नवभारत टाइम्स)

बिहार में NDA की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह पहला बिहार दौरा है। इस दौरा में उन्होंने बिहार को 34,000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात दी। इन में 21,400 करोड़ रुपए औरंगाबाद के लिए और 13,400 करोड़ रुपए बेगूसराय में विकास के लिए होगा। इसके अलावा पीएम मोदी कई परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

बिहार के जंगलराज को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “एक वो दौर था, जब बिहार के लोग अपने ही घरों से निकलने में डरते थे। एक ये दौर है, जब बिहार में पर्यटन की संभावनाएँ विकसित हो रही हैं। बिहार को वंदेभारत और अमृत भारत जैसी आधुनिक ट्रेनें मिलीं। अमृत स्टेशनों का विकास किया जा रहा है।”

इस पीएम मोदी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला और कहा बिहार में एनडीए की शक्ति बढ़ने के बाद परिवाद की राजनीति हाशिये पर जाने लगी है। परिवारवादी राजनीति की एक और विडंबना है कि माँ-बाप से विरासत में पार्टी और कुर्सी तो मिल जाती है, लेकिन माँ-बाप की सरकारों के काम-काज का एक बार भी जिक्र करने की हिम्मत नहीं होती है। यह है परिवादी पार्टी की हालत है।

पीएम मोदी ने कहा, “मैंने तो सुना है कि इनकी पार्टी (RJD) के बड़े-बड़े नेता भी इस बार बिहार में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं। सब भाग रहे हैं। वे राज्यसभा की सीटें खोज रहे हैं। जनता साथ देने को तैयार नहीं है। यह है आपके साथ और आपके विश्वास की ताकत। मोदी इसी विश्वास के लिए बिहार की जनता को धन्यवाद करने आया है।” 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “बिहार का विकास- ये मोदी की गारंटी है। बिहार में शांति और कानून व्यवस्था का राज- ये मोदी की गारंटी है। बिहार में बहन-बेटियों को अधिकार- ये मोदी की गारंटी है। तीसरे टर्म में हमारी सरकार इन्हीं गारंटियों को पूरा करने और विकसित बिहार बनाने के लिए काम करेगी।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -