Tuesday, October 19, 2021
HomeराजनीतिPMJAY SEHAT: 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज, योजना अब J&K में भी...

PMJAY SEHAT: 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज, योजना अब J&K में भी लॉन्च, 21 लाख परिवारों को लाभ

PMJAY SEHAT योजना के तहत इलाज सिर्फ जम्मू कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेगा। बल्कि देश में इस योजना के तहत जो हज़ारों अस्पताल जुड़े हैं, वहाँ भी ये सुविधा जनता को मिल पाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (दिसंबर 26, 2020) को जम्मू कश्मीर में आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत की शुरुआत की, जिसे पीएम-जय योजना भी कहा जाता है। इस योजना के तहत प्रदेश में रहने वाले 21 लाख लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ पहुँचेगा। सामाजिक, आर्थिक और जातिगत जनगणना के आधार पर इसका लाभ मिलेगा। इस दौरान उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने भी कहा कि DDC चुनावों के बाद यहाँ त्रिस्तरीय लोकतंत्र की स्थापना हुई है

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के लोगों को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन जम्मू कश्मीर के लिए बहुत ऐतिहासिक है। आज से जम्मू कश्मीर के सभी लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिलने जा रहा है। उन्होंने सेहत स्कीम को अपने-आप में एक बहुत बड़ा कदम करार देते हुए कहा कि और जम्मू-कश्मीर को अपने लोगों के विकास के लिए ये कदम उठाता देख, उन्हें भी बहुत खुशी हो रही है।

प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए भी बधाई देते हुए कहा कि ‘डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल (DDC)’ के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है। उन्होंने बताया कि वो चुनावों के हर चरण में देख रहे थे कि कैसे इतनी सर्दी और कोरोना संक्रमण के बावजूद नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएँ बूथ पर पहुँच रहे थे। उन्होंने बताया कि उन्हें जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर विकास के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई।

प्रधानमंत्री ने बताया कि जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आँखों में उन्होंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में इन चुनावों ने ये भी दिखाया कि हमारे देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है। बकौल पीएम मोदी, लेकिन एक पक्ष और भी है, जिसकी तरफ वो देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहते हैं। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्यूनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे हैं।

उन्होंने कहा, “आप हैरान होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ये आदेश दिया था। लेकिन वहाँ जो सरकार है, इस मामले को लगातार टाल रही है। पुडुचेरी में दशकों के इंतजार के बाद साल 2006 में स्थानीय निकाय चुनाव हुए थे। इन चुनावों में जो चुने गए, उनका कार्यकाल साल 2011 में ही खत्म हो चुका है।”

इसके बाद पीएम ने जम्मू-कश्मीर की बात करते हुए कहा कि महामारी के दौरान भी जम्मू कश्मीर में करीब 18 लाख सिलेंडर रिफिल कराए गए। उन्होंने आँकड़े गिनाए कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत जम्मू कश्मीर में 10 लाख से ज्यादा टॉयलेट्स बनाए गए। उन्होंने याद दिलाया कि इसका मकसद सिर्फ शौचालय बनाने तक सीमित नहीं, ये लोगों के स्वास्थ्य को सुधारने की भी कोशिश है।

प्रधानमंत्री ने जानकारी दी कि आज जम्मू कश्मीर आयुष्मान भारत सेहत स्कीम शुरू की गई है, जिससे 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज मिलेगा, तो जीवन में कितनी बड़ी सहूलियत आएगी। उन्होंने बताया कि अभी आयुष्मान भारत योजना का लाभ राज्य के करीब 6 लाख परिवारों को मिल रहा था। सेहत योजना के बाद यही लाभ सभी 21 लाख परिवारों को मिलेगा।

पीएम मोदी ने आगे बताया कि इस स्कीम का एक और लाभ होगा जिसका जिक्र बार-बार किया जाना जरूरी है। इससे इलाज सिर्फ जम्मू कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेगा। बल्कि देश में इस योजना के तहत जो हज़ारों अस्पताल जुड़े हैं, वहाँ भी ये सुविधा जनता को मिल पाएगी।

उन्होंने अपनी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को गिनाते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में 7 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी मिल चुकी है, जिनमें एमबीबीएस की सीटें दो गुनी से भी ज्यादा मिलने वाली है। उन्होंने आश्वासन दिया कि जिन 15 नए नर्सिंग कॉलेजों को मंजूरी मिली है, उनसे युवाओं को नए अवसर मिलेंगे। जम्मू और श्रीनगर डिवीजन में दोनों जगह दो कैंसर इंस्टीट्यूट भी बनाए जा रहे हैं। दो एम्स का काम भी तेजी से चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने भरोसा दिलाया कि नौजवानों को मेंडिकल और पैरामेडिकल एजुकेशन के लिए जम्मू-कश्मीर में ज्यादा से ज्यादा मौके मिलें, इसके लिए भी काम हो रहा है। उन्होंने बताया कि साथ ही रेलवे का पूरा जोर है कि अगले 2-3 साल में वैली रेलवे से कनेक्ट हो जाए। पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू और कश्मीर में लाइट से रेल ट्रांजिट मैट्रो को लेकर बात आगे बढ़ रही है और जम्मू में सेमी रिंग रोड का काम जल्द पूरा करने के प्रयास हो रहे हैं।

उन्होंने एक बड़ी जानकारी दी कि नए कृषि सुधारों ने जम्मू में और घाटी में दोनों जगह फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री के लिए भी नए अवसर बना दिए हैं, जिससे हजारों लोगों को रोजगार और स्वरोजगार का मौका मिलने वाला है। पीएम मोदी ने कहा कि इसके साथ ही जम्मू कश्मीर में जहाँ एक तरफ हजारों सरकारी नौकरियाँ नोटीफाई की जा रही हैं, वहीं दूसरी तरफ स्वरोजगार के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बैंकों के जरिए अब जम्मू-कश्मीर के नौजवान करोबारियों को आसानी से लोन मिलना शुरू हुआ है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि उनकी सरकार के फैसलों के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर के गरीब सामान्य वर्ग को आरक्षण का लाभ मिला है। पहली बार पहाड़ी लोगों को आरक्षण का लाभ मिला है। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रहने वालों को भी 4% आरक्षण का लाभ केंद्र सरकार ने दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में जिस लोगों ने दर्शकों तक शासन किया, उनकी एक बड़ी भूल ये भी रही कि उन्होंने सीमा के पास के विकास को पूरी तरह नजरअंदाज किया और जम्मू कश्मीर हो या नॉर्थ-ईस्ट, इन क्षेत्रों को पिछड़ेपन में जीने को मजबूर कर दिया।

बता दें कि जम्मू कश्मीर में डीडीसी चुनावों (DDC Election) के नतीजे सामने आने के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। बीजेपी ने इन चुनावों में 74 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि स्थानीय पार्टियाँ अकेले इस आँकड़े के पास नहीं पहुँच पाईं। गुपकार गैंग ने जिला विकास परिषद के चुनावों में 100 से ज्यादा सीटों (101+) के साथ विजय जरूर पाई। मगर, पार्टी लिहाज से देखें तो इसमें 7 राजनीतिक दल एक साथ थे और किसी भी दल को अकेले इतनी सीटों (जितनी पर BJP ने जीत दर्ज की) पर जीत नहीं मिली।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe