Thursday, September 23, 2021
HomeराजनीतिPM मोदी ने तमिल में पत्र भेजकर कहा- Happy Birthday, तिहाड़ में बंद...

PM मोदी ने तमिल में पत्र भेजकर कहा- Happy Birthday, तिहाड़ में बंद चिदंबरम ने कहा- अभिभूत हूँ

पी चिदंबरम ने ट्विटर पर लिखा कि वह अपने जन्मदिन पर पीएम मोदी द्वारा बधाई पत्र पाकर अभिभूत हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने लिखा कि वह पीएम मोदी की इच्छा के मुताबिक जनता की सेवा करना चाहते हैं लेकिन उनकी राह में.....

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम को तमिल भाषा में पत्र लिख कर उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएँ दी हैं। पी चिदंबरम के कहने पर उनके परिवार ने पूर्व केंद्रीय मंत्री के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस पत्र को शेयर किया। पत्र के साथ चिदंबरम का मोदी को जवाब भी आया। पी चिदंबरम का जन्मदिन पिछले सोमवार (सितम्बर 16, 2019) को था। कई कॉन्ग्रेस नेताओं ने उन्हें जन्मदिवस की शुभकामनाएँ दी थीं। कॉन्ग्रेस के उनके साथियों ने भाजपा पर चिदंबरम को फँसाने का आरोप लगाया था।

पी चिदंबरम ने ट्विटर पर लिखा कि वह अपने जन्मदिन पर पीएम मोदी द्वारा बधाई पत्र पाकर अभिभूत हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने लिखा कि वह पीएम मोदी की इच्छा के मुताबिक जनता की सेवा करना चाहते हैं लेकिन उनकी राह में मोदी सरकार की जाँच एजेंसियाँ आ रही हैं। देखिए चिदंबरम का ट्वीट और पीएम मोदी द्वारा भेजा गया पत्र:

पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में अभी तिहार जेल में बंद हैं। इससे पहले उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की कस्टडी में भेज दिया था। चिदंबरम ने ख़ुद के उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि वह जल्द लौटेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नंगी तस्वीरें माँगता, ओरल सेक्स के लिए जबरदस्ती’: हिंदूफोबिक कॉमेडियन संजय राजौरा की करतूत महिला ने दुनिया को बताई

पीड़िता ने बताया कि वो इन सब चीजों को नजरअंदाज कर रही थी क्योंकि वह कॉमेडियन को उसके काम के लिए सराहती थी।

गुजरात में ‘लैंड जिहाद’ ऐसे: हिंदू को पाटर्नर बनाओ, अशांत क्षेत्र में डील करो, फिर पाटर्नर को बाहर करो

गुजरात में अशांत क्षेत्र अधिनियम के दायरे में आने वाले इलाकों में संपत्ति की खरीद और निर्माण की अनुमति लेने के लिए कई मामलों में गड़बड़ी सामने आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,920FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe