Monday, May 20, 2024
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस सरकार में हनुमान चालीसा अपराध, दुश्मन काट कर ले जाते थे हमारे जवानों...

‘कॉन्ग्रेस सरकार में हनुमान चालीसा अपराध, दुश्मन काट कर ले जाते थे हमारे जवानों के सिर’: राजस्थान के टोंक-सवाई माधोपुर में बोले PM मोदी – वो SC/ST का हक़ मुस्लिमों को देना चाहते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में याद दिलाया कि कॉन्ग्रेस के ही एक नेता ने तो यहाँ तक कहा कि एक्स-रे किया जाएगा। उन्होंने याद दिलाया कि 2011 में कॉन्ग्रेस ने इसे पूरे देश में लागू करने की कोशिश की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (23 अप्रैल, 2024) को राजस्थान के टोंक और सवाई माधोपुर में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया। बता दें कि ये इलाका पूर्व उप-मुख्यमंत्री व कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे सचिन पायलट का गढ़ माना जाता है, लेकिन पीएम मोदी की जनसभा में भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान उन्होंने कहा कि राजस्थान ने हर बार भाजपा को भरपूर आशीर्वाद दिया है। पीएम मोदी ने याद दिलाया कि आज रामभक्त हनुमान जी की जयंती का पवित्र दिन है।

उन्होंने पूरे देश को पूरे देश को हनुमान जयंती की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ देते हुए ‘बजरंग बली की जय’ का उद्घोष भी लगाया। पीएम मोदी ने कहा कि आज वो ये जो उत्साह देख रहे हैं, उसमें एक मजबूत भारत के लिए आशीर्वाद है। उन्होंने कहा कि इसीलिए हर तरफ यही गूँज है – फिर एक बार मोदी सरकार! प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान ये बखूबी जानता है कि सुरक्षित राष्ट्र और स्थायी सरकार कितनी जरूरी है, इसीलिए चाहे 2014 हो या 2019 हो, राजस्थान ने एकजुट होकर देश में भाजपा की ताकतवर सरकार बनाने के लिए अपना आशीर्वाद दिया था।

पीएम मोदी ने याद किया कि कैसे पिछले दोनों लोकसभा चुनावों में राजस्थान की जनता ने 25 की 25 सीटें भाजपा को दी थीं। बकौल पीएम मोदी, एकजुटता ही राजस्थान की सबसे बड़ी पूंजी है। याद रखिएगा, जब-जब हम बंटे हैं, तब-तब देश के दुश्मनों ने फायदा उठाया है। अब भी राजस्थान को बांटने की पूरी कोशिशें हो रही हैं। इससे राजस्थान को सावधान रहने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में आपने मोदी को दिल्ली में सेवा का अवसर दिया, फिर देश ने वो फैसले लिए जिनकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।

प्रधानमंत्री ने लोगों से ये सोचने को कहा कि 2014 के बाद भी और आज भी अगर दिल्ली में कॉन्ग्रेस की सरकार होती तो क्या क्या हुआ होता। फिर उन्होंने जवाब दिया कि होती, तो जम्मू कश्मीर में आज भी हमारी सेनाओं पर पत्थर चल रहे होते, सीमा पार से आकर दुश्मन आज भी हमारे जवानों के सिर काटकर ले जाते, न ही हमारे फौजियों के लिए वन रैंक-वन पेंशन (OROP) लागू होती और न ही हमारे पूर्व सैनिकों को 1 लाख करोड़ रुपए मिलते।

पीएम मोदी ने टोंक-सवाई माधोपुर में कहा, “राजस्थान के मेरे भाई-बहन तो कुछ महीने पहले ही कॉन्ग्रेस के पंजे से मुक्त हुए हैं। कॉन्ग्रेस पार्टी ने सत्ता में रहते हुए, जो जख्म दिए, वो राजस्थान के लोग कभी भी भूल नहीं सकते। कॉन्ग्रेस ने महिलाओं पर अत्याचार के मामले में राजस्थान को नंबर 1 बना दिया था और दुर्भाग्य देखिए कि कॉन्ग्रेस के लोग विधानसभा में बेशर्मी के साथ कहते थे कि ये तो राजस्थान की पहचान है। टोंक में किन असामाजिक तत्वों के कारण यहाँ की इंडस्ट्री बंद हो गई, ये भी आप जानते हैं। लेकिन, आपने हमारे भजनलाल शर्मा को सेवा करने का मौका दिया है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जबसे मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा और उनकी टीम काम पर लगी है, माफिया और अपराधी राजस्थान छोड़कर भागने पर मजबूर हैं। उन्होंने हनुमान जयंती पर याद दिलाया कि कुछ दिन पहले कॉन्ग्रेस के शासन वाले कर्नाटक में एक छोटे दुकानदार को केवल इसलिए बुरी तरह से पीटा गया, क्योंकि वो अपनी दुकान में बैठे-बैठे हनुमान चालीसा सुन रहा था। पीएम मोदी ने कहा कि आप कल्पना कर सकते हैं, कॉन्ग्रेस के राज में हनुमान चालीसा सुनना भी गुनाह हो जाता है।

पीएम मोदी ने राजस्थान के रोक-सवाई माधोपुर में कहा कि कॉन्ग्रेस ने तो राम-राम सा कहने वाले राजस्थान में रामनवमी पर प्रतिबंध लगा दिया था, ने शोभायात्रा पर पत्थरबाजी करने वालों को सरकारी संरक्षण दिया था, तुष्टिकरण के लिए मालपुरा, करौली, टोंक और जोधपुर को दंगों की आग में झोंक दिया था। उन्होंने गरजते हुए कहा कि अब भाजपा सरकार आने के बाद किसी की हिम्मत नहीं है कि लोगों की आस्था पर सवाल उठा दे, अब आप चैन से हनुमान चालीसा भी गाएँगे और रामनवमी भी मनाएँगे – ये भाजपा की गारंटी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान राजस्थान के बाँसवाड़ा में दिए गए अपने उस भाषण को भी याद किया, जिसमें उन्होंने याद दिलाया था कि कैसे प्रधानमंत्री रहते मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश की संपत्ति पर पहला हक़ मुस्लिमों का। बकौल पीएम मोदी, उस बयान से पूरी कॉन्ग्रेस और INDI गठबंधन में भगदड़ मच गई है। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि उन्होंने देश के सामने सत्य रखा था कि कांग्रेस आपकी संपत्ति छीनकर अपने खास लोगों को बाँटने की गहरी साजिश रचकर बैठी है।

उन्होंने कहा, “मैंने कॉन्ग्रेस की इस वोटबैंक और तुष्टिकरण की राजनीति का पर्दाफाश किया था। इससे कॉन्ग्रेस और उसके इकोसिस्टम को इतनी मिर्ची लगी है कि वो हर तरफ मुझे गालियाँ देने में जुटे हैं। मैं कॉन्ग्रेस से पूछना चाहता हूँ कि आखिर वो सच्चाई से इतना डरते क्यों हैं। कॉन्ग्रेस क्यों अपनी नीतियों को छिपाने में लगी है? कॉन्ग्रेस वोटबैंक पॉलिटिक्स के दलदल में इतना धँसी हुई है कि उसे बाबा साहेब के संविधान की भी परवाह नहीं है। उन्होंने अपने मेनिफेस्टो में लिखा है कि आपकी संपत्ति का सर्वे करेंगे, हमारी माताओं-बहनों के पास जो मंगलसूत्र होता है उसका सर्वे करेंगे।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में याद दिलाया कि कॉन्ग्रेस के ही एक नेता ने तो यहाँ तक कहा कि एक्स-रे किया जाएगा। उन्होंने याद दिलाया कि 2011 में कॉन्ग्रेस ने इसे पूरे देश में लागू करने की कोशिश की। SC/ST और OBC को मिला हुआ अधिकार छीनकर, वोटबैंक की राजनीति के लिए औरों को देने का खेल किया। उन्होंने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस ने इतने प्रयास ये जानते हुए किए कि ये सब संविधान की मूल भावना के खिलाफ था, लेकिन कॉन्ग्रेस ने संविधान की परवाह नहीं की।

बकौल पीएम मोदी, सच्चाई ये है कि कॉन्ग्रेस और I.N.D.I. अलायंस जब सत्ता में था, तो ये लोग दलितों-पिछड़ों के आरक्षण में सेंधमारी करके अपने खास वोटबैंक को अलग से आरक्षण देना चाहते थे, जबकि संविधान इसके बिल्कुल खिलाफ है। पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि आरक्षण का जो हक बाबासाहेब ने दलित, पिछड़ों और जनजातीय समाज को दिया, कॉन्ग्रेस और I.N.D.I. अलायंस वाले उसे मजहब के आधार पर मुस्लिमों को देना चाहते थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट किया कि कॉन्ग्रेस की इन साजिशों के बीच मोदी आज आपको खुले मंच से गारंटी दे रहा है कि दलितों, पिछड़ों और जनजातीय समाज का आरक्षण न खत्म होगा और न ही उसे धर्म के नाम पर बाँटने दिया जाएगा। उन्होंने दोहराया – ये मोदी की गारंटी है। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सोच हमेशा से तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति की रही है, 2004 में जैसे ही केंद्र में कॉन्ग्रेस की सरकार बनी, उसका सबसे पहला काम था – आंध्र प्रदेश में SC/ST के आरक्षण में से कमी करके मुस्लिमों को देने का प्रयास।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

कनाडा, अमेरिका, अरब… AAP ने करोड़ों का लिया चंदा, लेकिन देने वालों की पहचान छिपा ली: ED का खुलासा, खालिस्तानी आतंकी पन्नू ने भी...

ED की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि AAP ने ₹7.08 करोड़ की विदेशी फंडिंग में गड़बड़ियाँ की हैं। इस रिपोर्ट को गृह मंत्रालय को भेजा गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -