Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीति'50 सालों से कर रहा हूँ तमिलनाडु का दौरा, सेंगोल को दिया सम्मान': चुनाव...

’50 सालों से कर रहा हूँ तमिलनाडु का दौरा, सेंगोल को दिया सम्मान’: चुनाव से पहले PM मोदी का पहला इंटरव्यू तमिल चैनल को, बोले – युवाओं को आकर्षित करते हैं अन्नामलाई

उन्होंने जानकारी दी कि उक्त यात्रा में स्वतंत्रता संग्राम के वीर बलिदानियों भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के परिजन उपस्थित थे। उन्होंने ही वो राष्ट्रीय ध्वज दिया, जिसे नरेंद्र मोदी और दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने लाल चौक पर फहराया था।

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले पहला इंटरव्यू देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिल चैनल Thanthi TV को चुना है। रविवार (31 मार्च, 2024) को ये इंटरव्यू चैनल ने प्रसारित किया। इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने बताया कि वो पिछले 5 दशकों से तमिलनाडु का दौरा करते रहे हैं, राज्य के साथ उनका विशेष जुड़ाव तब हुआ जब कन्याकुमारी में ‘विवेकानंद रॉक मेमोरियल’ का निर्माण हो रहा था। प्रधानमंत्री ने बताया कि कैसे जब इंदिरा गाँधी ने देश में आपातकाल लगाया था तब वो छिप कर रह रहे थे, उस दौरान वो इमरजेंसी के खिलाफ अभियानों में हिस्सा लेने तमिलनाडु जाया करते थे।

इस दौरान उन्होंने 1991 में कन्याकुमारी से श्रीनगर तक निकाली गई ‘एकता यात्रा’ का भी जिक्र किया, जिसका वो हिस्सा थे। उन्होंने याद किया कि ये वो समय था जब जम्मू कश्मीर के श्रीनगर स्थित लाल चौक पर तिरंगा झंडा जलाया जाता था। उन्होंने जानकारी दी कि उक्त यात्रा में स्वतंत्रता संग्राम के वीर बलिदानियों भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के परिजन उपस्थित थे। उन्होंने ही वो राष्ट्रीय ध्वज दिया, जिसे नरेंद्र मोदी और दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने लाल चौक पर फहराया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वो आक्रोशित हैं, क्योंकि हमने तमिलनाडु की महान विरासत के साथ अन्याय किया है। उन्होंने कहा कि भारत के पास विश्व की प्राचीनतम भाषा (तमिल) है, लेकिन हम इस पर गर्व नहीं करते। उन्होंने कहा कि इस प्राचीन विरासत की महिमा का गान पूरे विश्व में होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसे तमिलनाडु के व्यंजन वैश्विक हो गए हैं, तमिल भाषा के इस्तेमाल को भी बढ़ावा मिलना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तमिल भाषा का राजनीतिकरण न सिर्फ तमिलनाडु, बल्कि पूरे भारत के लिए हानिकारक रहा है।

पीएम मोदी ने याद किया कि बहुत कम लोगों को पता है कि स्वतंत्र भारत के पहले कुछ क्षण ‘सेंगोल‘ (चोल वंश का राजदण्ड जिसे नई लोकसभा में स्थापित किया गया) से जुड़े हैं। पीएम मोदी ने कहा कि नई संसद में ‘सेंगोल’ हमें प्रेरित करेगा, ये सिर्फ वहाँ रखा हुआ एक आभूषण नहीं है बल्कि इसे वो सम्मान मिलेगा जिसका ये हक़दार है। पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति के संबोधन के दौरान इसे पेश किया गया। पीएम मोदी ने ये भी समझाया कि ‘विकसित भारत’ का अर्थ है देश के कोने-कोने का विकास।

प्रधानमंत्री ने समझाया कि विकसित भारत के सपने को पूरे करने के लिए हमें हर राज्य का विकास करना पड़ेगा, उन्हें पूरा विश्वास है कि तमिलनाडु इसे गति देने वाला बल बनेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा और NDA का गठबंधन बहुत मजबूत गठबंधन है, समाज के भिन्न-भिन्न पॉकेट्स के ताकतों को जोड़ने वाला संगठन है। बकौल पीएम मोदी, NDA भिन्न-भिन्न आर्थिक, सामाजिक तबके के प्रतिनिधित्व करने वाले दलों का संगठन है। उन्होंने समझाते हुए कहा कि NDA एक प्रकार का ऐसा गुलदस्ता है कि समाज के हर व्यक्ति को उसमें अपना पुष्प दिखाई देता है, ये हमारी सफलता है।

पीएम मोदी ने कहा, “क्योंकि मैं एक राजनेता हूँ, इसका ये अर्थ नहीं है कि मैं हर काम चुनाव जीतने के लिए करता हूँ। तमिलनाडु की क्षमता विराट है, जिसे बर्बाद नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर चुनाव जीतना ही उनका मकसद होता तो वो उत्तर-पूर्व के विकास के लिए काम नहीं करते। उन्होंने बताया कि उन्होंने नॉर्थ-ईस्ट का इतनी बार दौरा किया, जितनी बार पिछले सारे प्रधानमंत्रियों ने मिल कर भी नहीं किया। पीएम मोदी ने कहा कि तमिलनाडु के लिए हमने तब से काम किया है जब यहाँ हमारा एक पार्षद उम्मीदवार तक नहीं हुआ करता था।

तमिलनाडु भाजपा के अध्यक्ष और पूर्व IPS अधिकारी अन्नामलाई के संबंध में प्रधानमंत्री ने कहा कि वो युवाओं को आकर्षित कर रहे हैं, युवा उन्हें देख कर सोचते हैं कि अगर सत्ता और धन उनका लक्ष्य होता तो वो DMK में जाते। उन्होंने कहा कि अन्नामलाई व्यक्तिगत कारणों से भाजपा से नहीं जुड़े हैं, बल्कि राष्ट्रीय कारणों से पार्टी में आए हैं। वो तमिलनाडु और देश के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों का काम देख कर लोग भाजपा और NDA को वोट करते हैं, तमिलनाडु ने भी इस बार यही फैसला लिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “मेरे लिए हर काम टॉप ही होता है, मैंने हर काम को अत्यंत महत्वपूर्ण माना है, किसी काम को छोटा नहीं माना। दुनिया के छोटे से छोटे देश को भी उतना ही महत्वपूर्ण माना है, जितना बड़े देशों को। इसलिए आज विश्व में भारत की पहचान विश्वबंधु की बनी है। इलेक्टोरल बॉन्ड्स के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग जल्द ही अफ़सोस करेंगे। 2014 से पहले राजनीतिक दलों को जाने वाले चंदों का कोई हिसाब-किताब नहीं था, इलेक्टोरल बॉन्ड्स के कारण हम फंडिंग के स्रोत तक पहुँच सकते हैं। कुछ भी परफेक्ट नहीं होता, लेकिन खामियों को दूर किया जा सकता है।”

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस बार देशवासियों ने ‘मिशन 400’ का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि जनता ने अपनी वोट की ताकत को पहचाना है, राजनीतिक स्थिरता के महत्व को समझा है। बकौल पीएम मोदी, यही वो वोट है जिससे गरीबों को भोजन और स्वास्थ्य सुविधाएँ मिलती हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ही उत्तर प्रदेश के मेरठ में भी रैली की जहाँ उन्होंने ऐलान किया कि भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई जारी रहेगी, देश से लूटा गया एक-एक पैसा लौटाना पड़ेगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -