Tuesday, May 21, 2024
Homeराजनीति'राम मंदिर का न्योता ठुकराने वालों को सज़ा दीजिए': महाराष्ट्र में बोले PM मोदी...

‘राम मंदिर का न्योता ठुकराने वालों को सज़ा दीजिए’: महाराष्ट्र में बोले PM मोदी – जब मुझ पर बढ़ जाएँ गालियाँ तो समझ जाइए चुनाव का रुझान, मेरा हर पल देश के नाम

बकौल पीएम मोदी, विपक्ष के पास गालियाँ देने के अलावा कोई आइडिया नहीं है, क्योंकि ये I.N.D.I गठबंधन वाले कभी गरीब को आगे बढ़ते नहीं देख सकते। लेकिन ये मोदी देश की जनता की सेवा के संकल्प से पीछे नहीं हटेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार (10 अप्रैल, 2024) को तमिलनाडु में ताबरतोड़ रैलियों के बाद महाराष्ट्र के रामटेक पहुँचे। वहाँ उन्होंने ‘मोदी-मोदी’ के नारों के बीच कहा कि आपका ये जोश, संदेश दे रहा है – फिर एक बार मोदी सरकार। पीएम मोदी ने जनता से कहा कि सिर्फ एक सांसद नहीं चुनना है, आपको अगले एक हजार साल के भारत की नींव मजबूत करने के लिए मतदान करना है। उन्होंने जनता से कहा कि आपको विकसित भारत के संकल्प के लिए मतदान करना है।

रामटेक में पीएम मोदी ने कहा कि आजकल जो मीडिया वाले चुनाव को लेकर लगातार सर्वे दिखा रहे हैं, इस सर्वे में NDA की बंपर जीत दिखाई दे रही है, लेकिन उनका मानना है कि जब मोदी पर गालियाँ बढ़ जाएँ तो रूझान समझ जाइए- फिर एक बार मोदी सरकार। बकौल पीएम मोदी, विपक्ष के पास गालियाँ देने के अलावा कोई आइडिया नहीं है, क्योंकि ये I.N.D.I गठबंधन वाले कभी गरीब को आगे बढ़ते नहीं देख सकते। लेकिन ये मोदी देश की जनता की सेवा के संकल्प से पीछे नहीं हटेगा।

प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र में कहा कि I.N.D.I गठबंधन वाले सिर्फ देश को बाँटने में लगे हैं, क्योंकि इन्हें मालूम है कि देश की जनता एकजुट रहेगी तो इनकी राजनीति खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इसी कारण वो महाराष्ट्र की जनता और देशवासियों से कह रहे हैं कि एकजुट होकर देश के नाम पर वोट दीजिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार रामनवमी पर अयोध्या में हमारे रामलला टेंट में नहीं, बल्कि भव्य मंदिर में दर्शन देंगे। 500 साल बाद ये पल आ रहा है, इसलिए रामटेक को, पूरे महाराष्ट्र को, पूरे देश को अद्भुत आनंद हो रहा है।

साथ ही पीएम मोदी ये बताना भी नहीं भूले कि I.N.D.I गठबंधन वाले प्राण प्रतिष्ठा के न्योता को भी ठुकरा दिया था, इसीलिए इस बार I.N.D.I गठबंधन वालों को उनकी पापों की सजा मिलनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास’ का हमारा मंत्र, संविधान की सच्ची भावना है, लेकिन परिवारवादी पार्टियों ने हमेशा संविधान की इस भावना का अपमान किया। बकौल पीएम मोदी, सामाजिक न्याय का झूठ बोलकर ये लोग अपने ही परिवार को आगे बढ़ाते रहे, इनके शासन में दशकों तक SC-ST-OBC परिवार मूल सुविधाओं से वंचित थे।

महाराष्ट्र के रामटेक में नरेंद्र मोदी ने कहा, “गरीबों की चिंता और उन्हें सुविधाएँ देने काम इस गरीब का बेटा मोदी ने किया है। कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष कहते हैं कि मोदी जहाँ जाते हैं तो 370 की बात करते रहते हैं। वो कहते हैं कि अनुच्छेद 370 हटाने से देश को फायदा क्या हुआ? ये भी कॉन्ग्रेस की दलित, आदिवासी, महिला विरोधी और वोटबैंक की राजनीति का जीता-जागता प्रमाण है। अनुच्छेद 370 से जम्मू-कश्मीर में इन सभी वर्गों को पहली बार संवैधानिक अधिकार मिला है। कॉन्ग्रेस और I.N.D.I गठबंधन ने हिंदुस्तान के मुकुट को, वहाँ के लोगों को, वहाँ के महिलाओं को उनके अधिकारों से वंचित रखा था।”

पीएम मोदी ने कहा कि बाबासाहेब डॉ भीमराव आंबेडकर ने एससी, एसटी, ओबीसी और महिलाओं को जो अधिकार दिए, वो जम्मू-कश्मीर के लोगों को नहीं दिए गए। पीएम मोदी ने कहा कि 2014 से पहले कॉन्ग्रेस की सरकार ने करीब 600 करोड़ रुपए की दाल एमएसपी पर खरीदी थी, उनकी सरकार ने 10 सालों में करीब सवा लाख करोड़ रुपए दलहन और तिलहन किसानों को MSP के रुप में दिए हैं। उन्होंने कहा कि फर्क साफ दिखता है।

पीएम मोदी ने कहा, “आने वाले 5 साल में हमें देश को, महाराष्ट्र को बहुत आगे ले जाना है। इसके लिए मैं गारंटी देता हूँ – आपका सपना, मोदी का संकल्प है। मेरा हर पल देश के नाम, हर पल आपके नाम।” इस रैली में पीएम मोदी को कई बार मोदी-मोदी के नारों के कारण भाषण बीच में रोकना पड़ा। इस दौरान एक बच्ची भगवान राम की वेशभूषा में आई थी, जिसे पीएम मोदी ने नोटिस किया और हाथ हिला कर अभिवादन स्वीकार किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -