Thursday, June 30, 2022
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस खुद सुधरती नहीं, मेरा ट्रैक रिकॉर्ड भी खराब करवा दिया' : प्रशांत किशोर...

‘कॉन्ग्रेस खुद सुधरती नहीं, मेरा ट्रैक रिकॉर्ड भी खराब करवा दिया’ : प्रशांत किशोर ने निकाली भड़ास, सबसे पुरानी पार्टी को बताया- डूबती नाव

प्रशांत किशोर ने कहा, "मेरा कॉन्ग्रेस के प्रति बहुत सम्मान है, लेकिन मौजूदा हालत पार्टी के लिए सही नहीं हैं... मेरी केवल एक ही चुनाव में हार हुई, जिससे मैंने सबक ले लिया कि अब मुझे कॉन्ग्रेस के साथ काम नहीं करना है।"

बिहार से जन सुराज यात्रा की शुरुआत कर चुके चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कॉन्ग्रेस पर जमकर हमला बोला है। जन सुराज यात्रा के तहत सोमवार (30 मई 2022) को वैशाली में पूर्व केंद्रीय मंत्री और समाजवादी नेता स्व. रघुवंश प्रसाद सिंह के पैतृक आवास पहुँचे प्रशांत किशोर ने कॉन्ग्रेस से नाराजगी जाहिर की।

किशोर ने कॉन्ग्रेस के लिए कहा, “मैं अब कभी कॉन्ग्रेस (Congress) के साथ काम नहीं करेंगे। यह एक ऐसी पार्टी है, जो खुद तो सुधरती नहीं है, मेरा भी ट्रैक रिकॉर्ड खराब कर दिया है।” प्रशांत ने आगे कहा, “2011 से 2021 तक मैं 11 चुनाव से जुड़ा रहा, जिसमें 2017 के एक ही चुनाव में हार का सामना करना पड़ा, जो यूपी में कॉन्ग्रेस के साथ था। इसके बाद मैंने तय कर लिया था कि अब मैं कॉन्ग्रेस के साथ काम नहीं करूँगा।”

प्रशांत किशोर ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधते हुए देश की सबसे पुरानी पार्टी को एक डूबती हुई नाव बताया। उन्होंने क​हा, “मेरा कॉन्ग्रेस के प्रति बहुत सम्मान है, लेकिन मौजूदा हालत पार्टी के लिए सही नहीं हैं… मेरी केवल एक ही चुनाव में हार हुई, जिससे मैंने सबक ले लिया कि अब मुझे कॉन्ग्रेस के साथ काम नहीं करना है।”

उल्लेखनीय है कि इस महीने की शुरुआत में कॉन्ग्रेस के साथ चर्चा असफल होने के बाद प्रशांत किशोर ने अपनी नई सियासी पारी के संकेत दिए थे। उन्होंने 2 मई को ट्वीट के जरिए अपने एक दशक के अनुभव का जिक्र किया और बिहार से नई ‘शुरुआत’ करने की बात कही थी। वहीं अप्रैल में कॉन्ग्रेस में शामिल होने को लेकर चली लंबी बैठकों के बाद किशोर ने जानकारी दी थी कि उन्होंने पार्टी की पेशकश को ठुकरा दिया है।

गौरतलब है कि बीते दिनों प्रशांत किशोर ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ द्वार आयोजित ‘E. Adda’ में कहा था कि भाजपा चुनावी रूप से काफी मजबूत पार्टी हो गई है और भारत में एक बार आप 30% वोट सुरक्षित कर लेते हैं तो आप कई दशकों तक टिकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

उत्तराखंड में चलती कार में महिला और उसकी 5 साल की बच्ची से गैंगरेप, BKU (टिकैत गुट) के सुबोध काकरान और विक्की तोमर सहित...

उत्तराखंड के रुड़की में महिला और उसकी पाँच साल की बच्ची से गैंगरेप के आरोप में टिकैत गुट के नेता समेत पाँच गिरफ्तार कर लिए गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe