पीएम मोदी ने थपथपाई NCP और BJD की पीठ, कहा- इनसे सीखें सभी पार्टियाँ

प्रधानमंत्री ने राज्यसभा की ख़ासियत बताते हुए कहा कि यहाँ खेल, कला और विज्ञान से जुडी ऐसी-ऐसी हस्तियाँ पहुँची हैं, जिनका चुनाव लड़ कर सीधे जनता द्वारा चुन कर आना शायद संभव नहीं हो पाता।

राज्यसभा के 250वें सत्र को ऐतिहासिक बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी सांसदों को बधाई दी। संसद सत्र के पहले दिन अपने सम्बोधन की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 250वें सत्र तक की यात्रा में सभी सांसद बधाई के अधिकारी हैं। उन्होंने अब तक के सभी सांसदों का स्मरण किया और उनके योगदान की सराहना की। पीएम मोदी ने कहा कि भले ही समय व परिस्थितियाँ बदलती चली गईं लेकिन राज्यसभा ने बदलाव को आत्मसात करते हुए लगातार काम किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा ज़मीन तक जुड़ा है और राज्यसभा दूरदर्शी है।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शरद पवार की पार्टी एनसीपी और नवीन पटनायक के बीजद की प्रशंसा की। पीएम मोदी ने दोनों पार्टियों की पीठ थपथपाते हुए कहा कि इन दोनों दलों ने कभी वेल में जाकर हंगामा नहीं किया और इनकी राजनीति ख़त्म भी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि सभी दलों को एनसीपी और बीजेडी से सीख लेनी चाहिए।प्रधानमंत्री ने कहा कि हंगामा न करने के बावजूद दोनों ही पार्टियाँ अपने-अपने मुद्दों को सही तरीके से सदन में रखती हैं। उन्होंने कहा कि दोनों ही दल संसद के नियमों का पूरी तरह पालन करते हैं।

प्रधानमंत्री ने राज्यसभा की ख़ासियत बताते हुए कहा कि यहाँ खेल, कला और विज्ञान से जुडी ऐसी-ऐसी हस्तियाँ पहुँची हैं, जिनका चुनाव लड़ कर सीधे जनता द्वारा चुन कर आना शायद संभव नहीं हो पाता। बकौल पीएम मोदी, राज्यसभा के दो पहलू हैं- पहला स्थायित्व और दूसरी विविधता। स्थायी इसीलिए क्योंकि ये लोकसभा की तरह भंग नहीं होती। विविध इसीलिए क्योंकि यहाँ राज्यों के प्रतिनिधित्व को प्राथमिकता दी गई है। राज्यों के कल्याण की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य और केंद्र मिल कर देश को आगे बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों को प्रतिद्वंद्विता नहीं करनी चाहिए, साथ मिल कर विकास कार्यों को जनता तक पहुँचाना चाहिए।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

राज्यसभा की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 5 साल का समय देखें तो यही सदन है जिसने तीन तलाक का बिल पास करके महिला सशक्तिकरण का बहुत बड़ा काम किया। उन्होंने आगे कहा कि इसी सदन ने सामान्य वर्ग के ग़रीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया। पीएम मोदी ने कहा कि इन सबके बावजूद कहीं भी विरोधाभाव की स्थिति पैदा नहीं हुई और परस्पर सहयोग का भाव बना रहा।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि इसी सदन ने जीएसटी के रूप में वन नेशन-वन टैक्स की ओर सहमति बनाकर देश को दिशा देने का काम किया है। उन्होंने बताया कि देश की एकता और अखंडता के लिए अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाने की शुरुआत पहले इसी सदन में हुई। बता दें कि इन प्रस्तावों को राज्यसभा के बाद लोकसभा में पास किया गया था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

उद्धव ठाकरे-शरद पवार
कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान ने भी प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है। इस मसले पर भाजपा और शिवसेना के सुर एक जैसे हैं। इससे दोनों के जल्द साथ आने की अटकलों को बल मिला है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,600फैंसलाइक करें
26,135फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: