Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिभाई राहुल के साथ पहली बार बैठक में शामिल हुई प्रियंका गाँधी वाड्रा

भाई राहुल के साथ पहली बार बैठक में शामिल हुई प्रियंका गाँधी वाड्रा

प्रियंका गाँधी वाड्रा के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया और राहुल गाँधी भी लखनऊ जाएँगे। प्रियंका गाँधी वाड्रा ने कहा, "कॉन्ग्रेस अध्यक्ष का जो भी आदेश होगा, वो मैं मानूँगी। मैं सिर्फ 2019 के लिए नहीं, लंबे वक़्त के लिए यूपी जा रही हूँ।"

कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा पार्टी मुख्यालय पहुँचकर पदभार संभालने के बाद अब चुनावी मोड में उतर गई हैं। कॉन्ग्रेस महासचिवों और विभिन्न प्रदेश के प्रभारियों की आज बैठक हुई, जिसमें प्रियंका गाँधी भी शामिल हुई। ये पहली बार है जब प्रियंका ने पार्टी की किसी आधिकारिक बैठक में शिरकत की। कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने यह बैठक लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बुलाई।

प्रियंका गाँधी वाड्रा ने कहा कि 2019 में मिलकर पूरी ताकत से लड़ेंगे और उसके बाद आगे यूपी में सरकार बनाने के लिए भी पूरी ताकत लगाएँगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वह 11 फरवरी को लखनऊ जाएँगी। प्रियंका गाँधी वाड्रा के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया और राहुल गाँधी भी लखनऊ जाएँगे। प्रियंका गाँधी वाड्रा ने कहा, “कॉन्ग्रेस अध्यक्ष का जो भी आदेश होगा, वो मैं मानूँगी। मैं सिर्फ 2019 के लिए नहीं, लंबे वक़्त के लिए यूपी जा रही हूँ।”

कॉन्ग्रेस के नेताओं का मानना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रियंका गाँधी वाड्रा पार्टी के बहुत काम आएँगी और उनके चुनाव प्रचार में रहने से कॉन्ग्रेस की सीटें बढ़ेंगी।



  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe