Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिमोगा में खूनी भिंड़त, शराब बाँटते कॉन्ग्रेस उम्मीदवार के पति ने 2 अकाली समर्थकों...

मोगा में खूनी भिंड़त, शराब बाँटते कॉन्ग्रेस उम्मीदवार के पति ने 2 अकाली समर्थकों को गाड़ी से कुचला: 3 गिरफ्तार

कॉन्ग्रेस प्रत्याशी हरविंदर कौर के पति व कॉन्ग्रेस नेता नरेंद्र पाल सिंह सिद्धू, उनका बेटा व चार अन्य लोग शराब बाँट रहे थे। वे गाडि़यों में हूटर लगाकर घूम रहे थे। बब्बू सिंह और इसी वार्ड से अकाली प्रत्याशी कुलविंदर कौर के रिश्तेदार जगदीप सिंह ने इसका विरोध किया तो नरेंद्र पाल सिंह सिद्धू ने अपनी गाड़ी को...

पंजाब में निकाय चुनाव को लेकर माहौल गरमाने लगा है। मोगा के वार्ड नंबर नौ में मंगलवार (फरवरी 9, 2021) रात कॉन्ग्रेसी और शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं के बीच खूनी भिंड़त हो गई। आरोप है कि कॉन्ग्रेसी उम्मीदवार के पति और बेटे ने अकाली समर्थकों पर गाड़ी चढ़ा दी। इससे घायल दो कार्यकर्ताओं की मौत हो गई। जबकि एक अन्य कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गया।

दरअसल, 14 फरवरी को होने वाले नगर निगम चुनावों के लिए चल रहा चुनाव प्रचार उस समय उग्र रूप धारण कर लिया, जब शहर के वार्ड नंबर 9 में चुनाव प्रचार के दौरान अकाली और कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। इस दौरान कॉन्ग्रेस की महिला उम्मीदवार के पति द्वारा अकाली कार्यकर्ताओं पर गाड़ी चढ़ाने से दो अकाली कार्यकर्ताओं की मौत हो गई। जिसके बाद हरकत में आते हुए पुलिस ने कुल 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 

बता दें कि मंगलवार रात करीब 9:15 बजे वार्ड 9 की कॉन्ग्रेस प्रत्याशी हरविंदर कौर के पति नरेंद्र पाल सिंह एवं अकाली दल के प्रत्याशी कुलविंदर कौर के परिजन भोला सिंह एवं बब्बू गिल चुनाव प्रचार के दौरान आमने-सामने हो गए। 

बता दें कि अकाली दल की महिला उम्मीदवार कुलविंदर कौर का समर्थक जगदीप सिंह उनके लिए प्रचार कर रहा था। कॉन्ग्रेस प्रत्याशी हरविंदर कौर के पति व कॉन्ग्रेस नेता नरेंद्र पाल सिंह सिद्धू, उनका बेटा व चार अन्य लोग शराब बाँट रहे थे। वे गाडि़यों में हूटर लगाकर घूम रहे थे। बब्बू सिंह और इसी वार्ड से अकाली प्रत्याशी कुलविंदर कौर के रिश्तेदार जगदीप सिंह ने इसका विरोध किया तो नरेंद्र पाल सिंह सिद्धू ने अपनी गाड़ी को तेज रफ्तार से उन पर चढ़ाने का प्रयास किया। एक पत्रकार ने तत्काल सड़क किनारे छलांग लगा दी, जिससे उसकी जान बच गई।

हालाँकि, हरमिंदर सिंह उर्फ बब्बू की तो मौके पर ही मौत हो गई, जबकि जगदीश सिंह उर्फ भोला की गंभीर चोटों को देखते हुए उसे लुधियाना के डीएमसी अस्पताल रेफर किया गया। लेकिन उसने वहाँ दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी मिलते ही शिरोमणि अकाली दल के हलका इंचार्ज बरजिंदर सिंह बराड़, अक्षित जैन अपने समर्थकों सहित सरकारी अस्पताल पहुँचे। 

जहाँ उन्होंने राज्य की सत्ताधारी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की व मीडिया से कहा कि अगर पुलिस दोषी कॉन्ग्रेसी नेताओं के खिलाफ 302 के तहत मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार नहीं करती है तो मोगा में बड़े स्तर पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल भी पहुँचेंगे।

इस मामले में डीएसपी सिटी बरजिंदर सिंह भुल्लर ने बताया कि महिला अकाली प्रत्याशी के उम्मीदवार के बयानों के आधार पर कॉन्ग्रेस की महिला प्रत्याशी के पति उसके पुत्र सहित कुल 9 लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है। अब तक इस मामले में कुल 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसमें कॉन्ग्रेस नेता नरेंद्र पाल सिंह सिद्धू भी शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक नरेंद्र पाल सिंह वही कॉन्ग्रेस नेता हैं, जिन पर नगर निगम की जमीन पर कब्जा करने का आरोप है। रिटर्निंग अफसर के सामने यह दस्तावेज पेश किए गए थे, लेकिन उन्होंने आपत्ति दर्ज करने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि प्रत्याशी महिला हैं। उसके पति पर यह कानून लागू नहीं होगा।

गौरतलब है कि हाल ही में पंजाब के जलालाबाद में अकाली दल के नेता सुखबीर बादल की गाड़ी पर हमला हुआ था। अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि कॉन्ग्रेसियों ने हमला किया है। इस हमले के बाद अकाली और कॉन्ग्रेसी आपस में भिड़ गए थे। इस दौरान जमकर ईंट-पत्थर चले और कई राउंड फायरिंग भी हुई थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe