Wednesday, December 1, 2021
Homeराजनीतिबाबा रामदेव खाएँगे अंडा तो बढ़ जाएगी डिमांड, धर्म समस्याओं की वजह: कॉन्ग्रेस...

बाबा रामदेव खाएँगे अंडा तो बढ़ जाएगी डिमांड, धर्म समस्याओं की वजह: कॉन्ग्रेस नेता

नई खोज का हवाला देते हुए कॉन्ग्रेस नेता बाजवा ने कहा कि ये सिद्ध हो चुका है कि अंडे जीवित सैल में नहीं आते। उन्होंने मुर्गी पालकों को इस दौरान भरोसा भी दिलाया कि वो अंडे को मिड डे मील का हिस्सा बनाने संबंधी अपील को राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के समक्ष रखेंगे।

पंजाब सरकार के पशुपालन मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने योगगुरु रामदेव को लेकर विवादित बयान दिया है। कॉन्ग्रेस नेता ने अंडे की सरप्लस उत्पादन के बावजूद खपत नहीं बढ़ने पर योगगुरु से अंडे खाने की अपील की है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय अंडा दिवस पर कहा कि यदि बाबा रामदेव सार्वजनिक रूप से टेलीवीजन पर अंडा खा लें तो उनके समर्थक भी उसे शाकाहारी मानकर खाने लगेंगे। इसके अलावा उनका मानना है कि भारत में धर्म कई समस्याओं की वजह है।

पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा अंतरराष्ट्रीय अंडा दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि अगर बाबा रामदेव टीवी पर अंडे बेचना शुरू कर दें तो लोग उसे जरूर खाना शुरू कर देंगे और इसकी इतनी सेल बढ़ जाएगी जिसका मुकाबला अमिताभ बच्चन भी नहीं कर पाएँगे।

उन्होंने इस कार्यक्रम में अंडे को प्रमोट करने के लिए कहा कि अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी, इसे लेकर बहुत सी राय हैं। कई लोग इसे शाकाहारी मानते हैं तो कई लोग इसे मांसाहारी मानते हैं। भारत में धर्म कई समस्याओं की वजह हैं। देश में अंडे की मार्केटिंग सरप्लस है, लेकिन इसके बावजूद मार्केटिंग की समस्या है।

इसलिए, उन्होंने शंकराचार्य और अन्य हिन्दू धार्मिक नेताओं से अपील की है कि वो स्पष्ट करें कि अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी। उनका कहना है कि ये लोग जैसा कहेंगे लोग वैसा ही मानेंगे।

कॉन्ग्रेस नेता का मानना है कि अंडे की प्रकृति स्पष्ट करने से काफी दिक्कतें दूर हो जाएँगी। बाजवा के अनुसार, बहुत से ऐसे लोग हैं जो अंडा खाना चाहते हैं, लेकिन वह इसको मांसाहारी समझकर नहीं खाते।

नई खोज का हवाला देते हुए उन्होंने ये भी बताया कि ये सिद्ध हो चुका है कि अंडे जीवित सैल में नहीं आते। उन्होंने मुर्गी पालकों को इस दौरान भरोसा भी दिलाया कि वो अंडे को मिड डे मील का हिस्सा बनाने संबंधी अपील को राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के समक्ष रखेंगे।

इस कार्यक्रम में आए सभी लोगों द्वारा अंडे पर विचार प्रस्तुत किए गए, लेकिन जब पशुपालन मंत्री को इस पर बोलने के लिए बुलाया गया तो उन्होंने योगगुरू बाबा रामदेव और धर्म को लेकर विवादित बयान दे डाला।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,729FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe