Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीति'हिन्दू के लिए नहीं बोलूँगा तो क्या बाबर और औरंगज़ेब के लिए बोलूँगा': प्रियंका...

‘हिन्दू के लिए नहीं बोलूँगा तो क्या बाबर और औरंगज़ेब के लिए बोलूँगा’: प्रियंका गाँधी को राजस्थान में CM हिमंता ने दिया करारा जवाब, बोले – जब तक साँस रहेगी…

इससे पहले, हिमंता ने मदरसों को बंद करने की बात दोहराई थी। उन्होंने कहा था कि सरकार से पैसा और वेतन पाने वाले सभी मदरसों को बंद कर देना चाहिए। अगर कोई समुदाय स्वतंत्र रूप से इसे चलाता है, तो यह एक अलग मुद्दा है।

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 के लिए मतदान 25 नवंबर को होगा, इसके लिए सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। कॉन्ग्रेस हो या भाजपा, सभी दलों ने अपने स्टार कैंपेनर्स को मैदान में उतार दिया है और एक-दूसरे पर ताबड़तोड़ हमले बोले जा रहे हैं। इसी कड़ी में कॉन्ग्रेस की नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा ने असम के मुख्य हिमंता बिस्वा सरमा पर आरोप लगाए कि वो हिंदुओं की ही बात करते हैं, जिस पर अब हिमंता बिस्वा सरमा ने जोरदार पलटवार किया है। सरमा ने कहा कि वो हिंदू हैं, तो हिंदुओं की बात करते हैं, इसमें गलत क्या है?

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने जयपुर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि “अगर मैं भारत में हिंदू के लिए दो शब्द नहीं बोलूँगा तो क्या बाबर और औरंगज़ेब के लिए बोलूँगा? भारत में हिंदू के हित का मतलब क्या है? हिंदू कहता है कि पूरा विश्व मेरा कुटुम्ब है। अगर आप ऐसी संस्कृति का जयगान नहीं करोगे तो किसका जयगान करोगे? आप प्रियंका गाँधी को बोलिए कि जब तक हमारी साँस रहेगी तब तक हम हिंदुओं का जयगान करेंगे।”

बता दें कि राजस्थान पहुँची कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने बीजेपी पर चुनाव के समय धर्म के नाम पर वोट माँगने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा धर्म, मंदिर और मस्जिद के नाम पर लोगों को बांटकर कर वोट की राजनीति करती है, ऐसे में भाजपा के बहकावे में न आकर पक्की गारंटी वाली सोच के साथ आगे बढ़ने वाली कांग्रेस को भरपूर समर्थन देकर परम्परा को तोड़ कर प्रदेश में फिर से कॉन्ग्रेस की सरकार रिपीट करें। उनके इसी आरोप पर हिमंता ने जनसभा में जमकर वार किया।

इससे पहले, हिमंता ने मदरसों को बंद करने की बात दोहराई थी। उन्होंने कहा था कि सरकार से पैसा और वेतन पाने वाले सभी मदरसों को बंद कर देना चाहिए। अगर कोई समुदाय स्वतंत्र रूप से इसे चलाता है, तो यह एक अलग मुद्दा है। सरकारी वेतन वाले मदरसे बंद होने चाहिए। बता दें कि असम में सरकारी सहयोग से चलने वाले मदरसों का ऑडिट भी कराया जा रहा है, साथ ही अनियमितता मिलने पर कठोर कार्रवाई भी की जा रही है। हिमंत बिस्वा सरमा के आदेश के बाद असम में बहुविवाह करने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जा रही है और अब तक सैकड़ों लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा चुकी है। इस मामले में बहुत सारे लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। इस मामले में सरकार कानून भी ला रही है।

बता दें कि राजस्थान में मौजूदा समय में कॉन्ग्रेस की सरकार है। राजस्थान में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री हैं। ये राज्य लगातार 5 साल तक राजनीतिक अस्थिरता और आपसी-सिरफुटौव्वल के चलते चर्चा में रहा। चुनाव के समय अशोक गहलोत और उनके कॉन्ग्रेस पार्टी के ही प्रतिद्वंदी सचिन पायलट में कुछ समय के लिए युद्ध विराम सा हुआ है। वहीं, भाजपा अपनी पूरी ताकत से राजस्थान में सरकार बनाने के लिए चुनाव लड़ रही है। राजस्थान की सभी 200 विधानसभा सीटों पर 25 दिसंबर को मतदान कराया जाएगा, जिसके लिए चुनाव प्रचार की आखिरी तारीख 23 दिसंबर रहेगी। राजस्थान में भी 4 अन्य राज्यों के साथ 3 दिसंबर को चुनाव परिणामों की घोषणा की जाएगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -