Wednesday, November 30, 2022
Homeराजनीति'दलित हो औकात में रह, मोदी-शाह नहीं बचाएगा': राजस्थान में BJP की महिला सांसद...

‘दलित हो औकात में रह, मोदी-शाह नहीं बचाएगा’: राजस्थान में BJP की महिला सांसद को धमकी, फोटो पर क्रॉस निशान लगा चिपका दिया जिंदा कारतूस

गोलीबारी की इस घटना के बाद से सांसद और उनके परिजन दहशत में हैं। रंजीता कोली की तबीयत लगातार बिगड़ रही है। बताया जा रहा है कि हमले के वक्त सांसद के घर पर उनके दोनों गनमैन मौजूद नहीं थे।

राजस्थान में भरतपुर की भाजपा सांसद रंजीता कोली के आवास पर देर रात बदमाशों ने गोलीबारी की। हमलावरों ने सांसद के पोस्टर पर क्रॉस का निशान लगाकर उसपर जिंदा कारतूस चिपकाए। साथ ही साथ एक धमकी भरा लेटर छोड़ा।

इस लेटर में लिखा है, “दलित है, दलित बनकर रह। सारी सांसद गिरी निकाल देंगे। पहले तो एक बार छोड़ दिया तो नहीं मानी। औकात में रह, तेरे को न तो अंबेडकर बाबा साहब बचाएगा और न मोदी और शाह। हवा में उड़ रही है न तू। यह तो सिर्फ एक ट्रेलर है। अगली बार तेरे अंदर गोलियाँ भर देंगे।”

सांसद रंजीता कोली

गोलीबारी की इस घटना के बाद से सांसद और उनके परिजन दहशत में हैं। रंजीता कोली की तबीयत लगातार बिगड़ रही है। बताया जा रहा है कि हमले के वक्त सांसद के घर पर उनके दोनों गनमैन मौजूद नहीं थे।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, सांसद रंजीता ने हमले को लेकर कहा कि वह कल साढ़े 9 बजे के करीब भरतपुर से आई थीं। इसके बाद खाना खाकर 11:30 बजे या 12 बजे के करीब सब सोने की तैयारी में लग गए। तभी नीचे से आवाज आई। आवाज बहुत तेज थी। ऐसा लगा किसी ने फायर किया हो। नीचे के हिस्से में उनकी जेठानी रहती हैं, वह घर पर नहीं थीं, इसलिए सांसद खुद ही नीचे देखने के लिए गईं। जैसे उन्होंने घर का गेट खोला तो सामने ही उनका पोस्टर लगा हुआ था, जिस पर गोलियाँ चिपकी हुई थीं। उसे देख सांसद की तबीयत बिगड़ गई।

वहीं इस घटना पर सीओ अजय कुमार ने बताया कि रात को सांसद रंजीता कोली के घर बाहर एक धमकी भरा लेटर और उनके पोस्टर पर कारतूस चिपका कर जाने की जानकारी उनको मिली थी। इसके बाद मौके पर पुलिस अधिकारी वहाँ गए लेकिन गोलीबारी के उन्हें कोई सबूत नहीं मिले। वहीं रंजीता के भाई दीपक कुमार का कहना है कि बतौर सांसद रंजीता कुछ जनहित के मुद्दे उठा रही है जिसके कारण कई लोगों के अवैध कारोबार बंद हो जाएँगें। संभव है कि ये काम उन्हीं लोगों में से किसी ने किया हो। मामला दर्ज हो गया है। पुलिस आरोपितों का पता लगा रही है।

इस घटना की बाबत राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, “राजस्थान की बिगड़ती कानून व्यवस्था के प्रतिदिन अनेक उदाहरण देखने को मिल रहे हैं; सांसद जैसे जनप्रतिनिधियों पर बार बार जानलेवा हमला हो रहा है; भरतपुर सांसद श्रीमती रंजीता कोली के घर पर हमला; आखिर राज्य के गृहमंत्री कब तक सोते रहेंगे; कानून व्यवस्था न सम्भले तो इस्तीफा दें।”

वहीं प्रदेश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, “भरतपुर सांसद श्रीमती रंजीता कोली से फोन पर बात कर कुशलक्षेम जानी। साथ ही, डीजीपी, प्रमुख सचिव, गृह विभाग को निर्देशित किया है कि घटना की पूरी जाँच कर सख्त कार्रवाई की जाए। घटना की जाँच के लिए जयपुर से SOG की टीम भरतपुर जाकर घटना की जाँच करेगी।”

बता दें कि भाजपा सांसद रंजीता कोली पर 27 मई 2021 को भी एक हमला किया गया था। उस समय वह धरसोनी गाँव में कम्युनिटी हेल्थ सेंटर का दौरा करने पहुँची थी। हमले के बाद की तस्वीरों में देखा गया था कि उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए थे और सीट पर ईंट-पत्थर भी थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,143FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe