Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिराजस्थान के शिक्षा मंत्री ने रॉबर्ट वाड्रा को दिया क्लीन चिट

राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने रॉबर्ट वाड्रा को दिया क्लीन चिट

भंवर सिंह भाटी उसी कोलायत से विधायक हैं जहां रॉबर्ट वाड्रा की कम्पनी ने जमीन खरीद की थी। वाड्रा पर 270 बीघा जमीन अवैध रूप से खरीदने का मामला चल रहा है।

राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने रॉबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट देते हुए कहा है कि उनके द्वारा जमीन खरीद में किसी भी तरह की अनियमितता नहीं की गई है। भाटी ने कहा कि राज्य और केंद्र में भाजपा के सरकार के रहते हुए जितने भी जांच कराए गए, उन सब में कहीं भी ऐसा साबित नहीं हुए कि जमीन खरीद में अनियमितता बरती गई है। भाटी ने रॉबर्ट वाड्रा का बचाव करते हुए उनके खिलाफ चल रहे मुकदमों को भाजपा की ओछी राजनीती और राजनितिक हथकंडा बताया।

यूपीए अध्यक्षा सोनिया गाँधी के दामाद वाड्रा का बचाव करते हुए कांग्रेस के मंत्री ने कहा;

“राज्य और केंद्र में 5 साल तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार रहने के बाद भी इस मामले में जांच होने के बावजूद अब तक सिर्फ आरोप लगा सकी है। जिससे साफ पता चलता है कि इसमें कोई भी सच्चाई सामने नहीं है, इस मामले में राजनीतिक द्वेष के कारण ये आरोप लगाए जा रहे हैं।”

ज्ञात हो कि भंवर सिंह भाटी उसी कोलायत से विधायक हैं जहां रॉबर्ट वाड्रा की कम्पनी ने जमीन खरीद की थी। ज्ञात हो कि भंवर सिंह भाटी उसी कोलायत से विधायक हैं जहां रॉबर्ट वाड्रा की कम्पनी ने जमीन खरीद की थी। भाटी ने वाड्रा पर लगे आरोपों को अनर्गल बताया और कहा कि इनका सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता से किये गए किसी भी वाडे को पूरा नहीं किया है और इसीलिए वो ऐसे आरोप लगा रही है। बता दें कि बीकानेर पहुंचे भाटी से जब वाड्रा के बारे में ये सवाल पूछा गया तब इन्होने ये बातें कही। ये मामला वाड्रा की कम्पनी को बीकानेर में 270 बीघा जमीन गलत तरीके से आवंटन करने से जुड़ा हुआ है, जिसका कांग्रेस के मंत्री ने बचाव किया है।

उधर आज ही डिफेंस डील के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली की एक अदालत में रॉबर्ट वाड्रा के करीबी मनोज अरोड़ा की गिरफ्तारी के लिए याचिका दायर की है जिस से वाड्रा की परेशानियां बढ़ सकती है। ED ने अदालत से अरोड़ा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की मांग की। अभी कुछ दिनों पहले ही वाड्रा के अन्य करीबी जगदीश शर्मा से भी ED ने पूछताछ की थी जिसमे उसने बताया था कि उसे मनोज अरोड़ा के बारे में कोई जानकारी नहीं है। ईडी के अनुसार अरोड़ा इस मामले में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति है जिस से पूछताछ के बाद कई राज से पर्दा उठ सकता है।

बता दें कि रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ कई राज्यों में जमीन खरीद में अनियमितता बरतने के केस चल रहे हैं। एक अन्य मामले उनपर हरियाणा के अमीपुर गाँव में अवैध रूप से पचास एकड़ जमीन खरीदने का मामला चल रहा है। उस समय हरियाणा में कांग्रेस की सरकार थी। इस मामले की जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है। पिछले साल अगस्त में ही वाड्रा के खिलाफ सीबीआई ने राजस्थान में जमीन आवंटन से जुड़े अठारह मामलों में केस दर्ज किया था। पिछले महीने की शुरुआत में ही ईडी ने वाड्रा को समन किया था और उन्हें जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने को भी कहा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe