Saturday, May 8, 2021
Home राजनीति ‘राजीव गाँधी के साथ जान गँवाने वाले 13 लोगों के परिजनों की तरफ से...

‘राजीव गाँधी के साथ जान गँवाने वाले 13 लोगों के परिजनों की तरफ से सोनिया गाँधी कैसे फैसला ले सकती हैं’

सोनिया गाँधी या राजीव गाँधी के परिवार के सदस्यों ने पूर्व प्रधानमंत्री के उन हत्यारों पर फैसला लिया, जिन्होंने उसी विस्फोट में अन्य 13 लोगों को भी मार डाला। उन्होंने ये फैसला लेकर दिखा दिया कि कैसे नेहरू-गाँधी परिवार के सदस्यों के लिए आम आदमी की भावनाएँ मायने नहीं रखतीं।

21 मई 1991 को जब तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक आत्मघाती बम हमले में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की हत्या कर दी गई थी, तब उनके साथ-साथ 13 अन्य लोगों की भी जान चली गई थी। और जब कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी सहित राजीव गाँधी के परिवार ने दोषियों को ‘माफ’ कर दिया और कहा कि हत्यारों को रिहा करने पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है, तो राजीव गाँधी के साथ मरने वालों के परिजन उनके इस कदम से खुश नहीं थे। राजीव गाँधी के साथ जान गँवाने वालों 13 लोगों के परिजनों की तरफ से सोनिया गाँधी या उनके बच्चे कैसे फैसला ले सकते हैं?

बता दें कि जब तमिलनाडु सरकार ने 2018 में मामले में सात आजीवन दोषियों को रिहा करने की सिफारिश की, तो परिवार के सदस्यों ने तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की और उनसे सहमति न देने का आग्रह किया। 

एस अब्बास, जिनकी माँ की मौत राजीव गाँधी के साथ विस्फोट में हुई थी, ने 2018 में द न्यूज मिनट से बात करते हुए कहा था, “हम सभी को मेरी माँ के टुकड़े खून से सने कंबल में लिपटे हुए मिले थे। राजीव गाँधी पर हमले ने मुझे और मेरे भाई-बहनों को अनाथ कर दिया। 12 अन्य परिवार भी इसके शिकार हुए। लेकिन राजनेता इस आघात को उस तरह से नहीं देखते, जिस तरह से हम देखते हैं। वे हत्यारों को अपने राजनीतिक लाभ के लिए रिहा करना चाहते हैं और हम सभी इस बात की निंदा करते हैं।”

राजीव गाँधी की हत्या के दौरान मारे गए अलग-अलग परिवारों के दर्द को आप राजनीतिक नजरिए से नहीं देख सकते। सोनिया गाँधी या राजीव गाँधी के परिवार के सदस्यों ने पूर्व प्रधानमंत्री के उन हत्यारों पर फैसला लिया, जिन्होंने उसी विस्फोट में अन्य 13 लोगों को भी मार डाला। उन्होंने ये फैसला लेकर दिखा दिया कि कैसे नेहरू-गाँधी परिवार के सदस्यों के लिए आम आदमी की भावनाएँ मायने नहीं रखतीं। उन्होंने भले ही पूर्व प्रधानमंत्री के हत्यारों को माफ कर दिया हो, लेकिन उन परिजनों का क्या, जिन्होंने इस आत्मघाती बम धमाके में अपनी जान गँवाईं? उनका क्या, जिन्हें विस्फोट में अपनों को खोने के बाद सालों तक संघर्ष करना पड़ा?

अब, सुप्रीम कोर्ट की वकील इंदिरा जयसिंह ने आग्रह किया है कि 16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली सामूहिक बलात्कार पीड़िता निर्भया की माँ को भी सोनिया गाँधी के नक्शेकदम पर चलना चाहिए और बलात्कारियों को क्षमा करना चाहिए, जिन्होंने उसकी बेटी के साथ क्रूरता से बलात्कार किया।

दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया है। अब उन्हें 1 फरवरी सुबह 6 बजे फाँसी के फंदे पर लटकाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि उन्हें पहले 22 जनवरी को फाँसी दी जानी थी, लेकिन एक दोषी ने दया याचिका दायर की थी। उसकी दया याचिका खारिज होने के बाद प्रक्रिया के तहत नया डेथ वारंट जारी करना पड़ा और फाँसी की तारीख बढ़ानी पड़ी। जिसके बाद निर्भया की माँ आशा देवी ने कहा कि किस तरह से राजनेताओं के लिए उनकी बेटी के साथ हुआ बलात्कार एक राजनीतिक हथकंडा बन गया है। जिसके बाद जयसिंह ने मौके का फायदा उठाते हुए उन्हें नैतिकता का पाठ पढ़ाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा की रिपोर्ट दो: कलकत्ता हाई कोर्ट ने ममता सरकार को दिया सिर्फ 2 दिन का समय

कलकत्ता हाई कोर्ट में दायर की गई याचिका में बंगाल में हो रही हिंसा पर राज्य पुलिस पर भी सवाल उठे। पुलिस ने परिस्थिति सामान्य करने और...

CM बनते ही केजरीवाल ने जिसे ‘दिल्ली का निर्माता’ कहा, उस नवनीत कालरा के यहाँ ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर का गोरखधंधा

नवनीत कालरा चीन से ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर का 20-25 हजार रुपए में आयात करके उन्हें दिल्ली में 70000 में बेचकर भारी मुनाफा कमा रहा था।

WhatsApp अब नहीं करेगा अकाउंट डिलीट: 15 मई तक जबरन शर्तों को स्वीकार करने वाली समय सीमा समाप्त

व्हाट्सएप ने 15 मई तक अपनी विवादास्पद सीक्रेट पॉलिसी के अपडेट को यूजर द्वारा एक्सेप्ट करने की समय सीमा को समाप्त कर दिया है। इसके साथ ही...

‘बहुत ओछी हरकत कर दी’: आंध्र वाले जगन सहित कई CM-मंत्री हेमंत सोरेन पर बिफरे, PM मोदी को लेकर किया था ट्वीट

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन चौतरफा घिर गए हैं। कई राज्यों के मुख्यमंत्री ने उन्हें ओछी राजनीति से बचने की नसीहत दी है।

एक ही पेड़ से लटके मिले बीजेपी के 2 वर्कर, NCW की मुखिया से ममता सरकार ने बंगाल दौरा रद्द करने को कहा

बीजेपी ने बंगाल में अपने दो और कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप टीएमसी के गुंडों पर लगाया है। उनके शव एक ही पेड़ से लटके मिले।

‘ईद’ की शॉपिंग में उड़ रही कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियाँ, हैदराबाद के चारमीनार के पास बिन मास्क दिखी लोगों की जबर्दस्त भीड़, देखें Video

हैदराबाद के चार मीनार के आसपास ईद-उल-फितर की शॉपिंग के लिए जुट रही भारी भीड़ नहीं कर रही हैं कोविड नियमों का पालन

प्रचलित ख़बरें

‘मेरी बहू क्रिकेटर इरफान पठान के साथ चालू है’ – चचेरी बहन के साथ नाजायज संबंध पर बुजुर्ग दंपत्ति का Video वायरल

बुजुर्ग ने पूर्व क्रिकेटर पर आरोप लगाते हुए कहा, “इरफान पठान बड़े अधिकारियों से दबाव डलवाता है। हम सुसाइड करना चाहते हैं।”

बंगाल में अब BJP के किसान नेता की हत्या, मुस्लिम नेता को घर में घुस पीटा: मिथुन चक्रवर्ती के खिलाफ पुलिस से शिकायत

दिलीप घोष ने बताया है कि 26 साल के किशोर मंडी की TMC गुंडों ने हत्या कर दी। वे बिनपुर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा किसान मोर्चा के मंडल सचिव थे।

एक ही पेड़ से लटके मिले बीजेपी के 2 वर्कर, NCW की मुखिया से ममता सरकार ने बंगाल दौरा रद्द करने को कहा

बीजेपी ने बंगाल में अपने दो और कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप टीएमसी के गुंडों पर लगाया है। उनके शव एक ही पेड़ से लटके मिले।

बंगाल हिंसा वाली रिपोर्ट राज्यपाल तक नहीं पहुँचे: CM ममता बनर्जी का ऑफिसरों को आदेश, गवर्नर का आरोप

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी पर यह आरोप लगाया है कि उन्होंने चुनाव परिणाम के बाद हिंसा पर रिपोर्ट देने से...

2013 में कहा- corona आ रहा, 2016 के बाद कोई ट्वीट नहीं: सोशल मीडिया में तलाश!

एक शख्स का ट्वीट वायरल हो रहा है जिसने दिसंबर 2013 में ही भविष्यवाणी कर दी कि कोरोना वायरस आ रहा है, ट्वीट वायरल

‘बेहतर होता काम की बात करते’: झारखंड में कोरोना का हाल जानने PM मोदी ने किया कॉल, CM हेमंत सोरेन ने की राजनीति

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी प्रधानमंत्री के साथ बैठक का गुपचुप लाइव कर इसी तरह की ओछी राजनीति कर चुके हैं।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,369FansLike
90,309FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe